रामप्यारी का सवाल - 2

rampyari-tdc हाय….आंटीज..अंकल्स एंड दीदी लोग..या..दिस इज मी..रामप्यारी.. शाम को 6:00  बजे के  नये सवाल मे आपका स्वागत है.

तो आईये अब शुरु करते हैं आज का “कुछ भी-कही से भी”  मे आज का सवाल. 

 

आज का सवाल –

एक तालाब में  ४७ कछुये  और ६१ मछलियां  थी.  अचानक  एक रोज उस तालाब में किसी ने जहरीला दाना डाल दिया और उसकी वजह से उनमे से चार की मौत होगई और २५ बीमार होगये. अब बताईये तालाब में  कितने कछुये और कितनी मछलियां बची?

है ना आसान सा सवाल? तो बस अब फ़टाफ़ट से भी फ़टाफ़ट जवाब दे दिजिये.  जब तक मैं थोडा घूम फ़िरकर आती हूं.

Promoted By : ताऊ और भतीजा

21 comments:

  रंजन

27 July 2009 at 18:42

43 कछुये जिंदा उनमें से २५ बिमार.. और मछलियां तो ६१ है ही..

  Pt.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 July 2009 at 18:50

47 कछुए और 59 मछलियां बची होगीं......अब जो 25 बीमार हैं--वो भी अभी तो जिन्दा ही हैं। जो 4 मर चुके हैं वो भी मछलियाँ ही थी।

  Pt.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 July 2009 at 18:51

उन पच्चीस बीमारों को किसी अच्छे से डाक्टर को दिखा लेना:)

  mehek

27 July 2009 at 18:56

dono milake 103 bache)

  महेन्द्र मिश्र

27 July 2009 at 20:13

४ कछुए मर गए ४३ कछुए बचे और उनमे से २५ बीमार हो गए . मछलियाँ ६१ ही बची

  PREETI BARTHWAL

27 July 2009 at 20:36

तालाब में ४७ कछुए और ६१ मछलियां ही होंगी क्योंकि जहर वाला दाना खाने के बाद उन्हें तालाब से निकाला तो किसी ने भी नहीं....चाहे मरे हो या बिमार हैं तो तालाब में ही। हा..हा..हा..

  PREETI BARTHWAL

27 July 2009 at 20:36

तालाब में ४७ कछुए और ६१ मछलियां ही होंगी क्योंकि जहर वाला दाना खाने के बाद उन्हें तालाब से निकाला तो किसी ने भी नहीं....चाहे मरे हो या बिमार हैं तो तालाब में ही। हा..हा..हा..

  anil yadav

27 July 2009 at 20:49

अरे 47 कछुए और 61 मछलियां ही बचीं आखिर बीमार होने और मरने के बाद भी वो उसी तालाब में ही लाश और मरीज बन के तैर रही होंगी.....

  Udan Tashtari

27 July 2009 at 21:00

कछुऐ दाना नहीं खाते तो सारे बच गये ४७ और जो ४ मरी, वो मछलियाँ. अतः ५७ मछलियाँ बचीं.

टोटल= १०४

  Udan Tashtari

27 July 2009 at 21:02

मित्र ’वत्स’ जी कौन हिसाब से ६१ मछली में से ४ के मरने के बाद ५९ पहुँचे आधी आधी मरी हैं चारों मछलियाँ ...:)

  makrand

27 July 2009 at 21:14

रामप्यारीजी रामराम. अब सीधा सा सवाक है चार मर गये तो आधे कछुये मरे होंगे? आधी मछलियां मरी होंगी? तो ४५ कछुये और ५९ मछलियां ही बची होंगी.

  भानाराम जाट

27 July 2009 at 21:17

वाह यहां भी रामप्यारी जी? बहुत बढिया...अब सवाल है कि चार तो मर ही गये..२५ बीमार हैं तो उनमें से भी कुछ तो मरे ही होंगे? ै?पता करना पडेगा कि बीमार की क्या हालत ह

  madhu

27 July 2009 at 21:18

दो दो दोनो कम हो गये.

  madhu

27 July 2009 at 21:19

यानि कुल १०४ कछुये और मछलीयां बची हैं.

  संगीता पुरी

27 July 2009 at 21:39

कछुए ४७ मछलियाँ ५७ बचीं.

  PREETI BARTHWAL

27 July 2009 at 23:41

मैं जवाब पहले दे चुकी हूं फिर भी छापा नहीं गया । तालाब में ४७ कछुये और ६१ ही मछलियां रह गई हैं क्योंकि मरी हों या फिर बीमार हों कोई भी बाहर नहीं निकाली गई हैं। है ना सही जवाब...तो दो मेरा इनाम।

  बवाल

28 July 2009 at 00:00

सीधी सी बात है ताऊ,
४७ कछुए और ६१ मछलियाँ।

  seema gupta

28 July 2009 at 08:56

जहरीला दाना खाने के बाद कोई भी बचा होगा क्या??????? रामप्यारी हमे तो समझ नहीं आया...
bye

  Pankaj Mishra

28 July 2009 at 12:38

47 कछुए और 57 मछलियां बची

  Pt.डी.के.शर्मा"वत्स"

28 July 2009 at 13:57

त्रुटि सुधार:-
हमारी पहली वाली टिप्पणी में 57 मछलियाँ पढी जाएं। लिखते हुए जरा सा हाथ फिसल गया था:)

  संजय तिवारी ’संजू’

28 July 2009 at 15:49

४७+६१= १०८ पॄरे है बेटा रामप्यारी ।

Followers