आज की विजेता अल्पना वर्मा

रामप्यारी के सवाल न.35 के सही जवाब का चित्र यह रहा !




और इस सवाल की विजेता हैं अल्पना वर्मा ....बधाई!
आश्चर्य जनक रुप से बहुत सही और सटीक जवाब आया. एक बार फ़िर से बधाई!!!


Blogger अल्पना वर्मा said...

Squirrel

28 August 2009 18:08

इसके अलावा सिर्फ़ एक सही जवाब आया समीर अंकल का.

और इस बेचारी छोटी सी गिलहरी को शेर चीता और पता नही क्या क्या बता दिया गया. हा..हा...हा....
रामप्यारी का अगला सवाल आज शाम को ठीक ६ बजे.

तब तक रामप्यारी की तरफ़ से नमस्ते.


Promoted By : ताऊ और भतीजा

7 comments:

  Udan Tashtari

29 August 2009 at 16:24

बधाई!

  प्रकाश गोविन्द

29 August 2009 at 17:44

This comment has been removed by the author.
  mahashakti

29 August 2009 at 17:51

बधाई अल्‍पना जी

ये तो पहले आओ पहले पाओं प्रतियोगिता है। कुछ ब्‍लागर तो 24 घन्‍टे में 24 बार आनलाईन वाले होते है, जैसे आई पहेली वैसे आया उत्‍तर। हम लोग तो 24 घन्‍टे में 2-4 बार आनलाईन होने वाले है। पोस्‍ट प्रकाशित होने के 15 घंटे बाद हम देखते है, और सही उत्‍तर देते है जबकि कुछ ब्‍लागर तो आँख गड़ाये ही बैठे रहते है और पोस्‍ट होने के 5 मिनट के अन्‍दर उत्‍तर आ जाता है।

पर हम मूरख लोग, सोचते है कि अभी सही उत्‍तर नही आया और टिप्‍पणी करते है, किन्‍तु उत्‍तर तो पहले पॉच मिनट में ही आ जाता है। पर क्‍या करें विजेता होने की चाह हमें नही रोक पाती और पहेली के भावी विजेता होने का अभिमान पाले सही उत्‍तर टीप देते है किन्‍तु परिणाम देखने पर पता चलता है कि पोस्‍ट होते ही सही उत्‍तर आ गया और हम 15 घंटे बाद हम उत्‍तर दे कर अपने आईक्‍यू का दम्‍भ भर रहे होते है।

हमें मूर्ख बनाना छोड़े जब एक ही विजेता बनाना होता है तो सही उत्‍तर के बाद रिजर्ल्‍ट घोषित कर दें। बहुत बार चाह कर भी ''ताऊ समूह '' के किसी भी ब्‍लाग पर टिप्‍पणी करने का मन नही करता है।

  अल्पना वर्मा

29 August 2009 at 17:56

This comment has been removed by the author.
  Udan Tashtari

29 August 2009 at 19:55

@ प्रमेन्द्र:

कल से घड़ी मे ६ बजे शाम का अलार्म लगा लेना, उतने ही बजे आती है रोज पहेली. २४ घंटे बार बार देखने की क्या जरुरत. बस, ६ बजे देखो और जबाब दो.

कोई और टाइम सूट करता हो तो ताऊ से बात की जाये? :)


@ प्रकाश भाई:

तुक्का तो न कहें भाई. हमने भी sqirrel ही बताया था. :)

अल्पना जी ने तो अब और सारी जानकारी दे दी है. अब तो आशस्वत हो गये होगे.

  अविनाश वाचस्पति

30 August 2009 at 12:01

@ महाशक्ति
इतनी बड़ी महाशक्ति
और जीतने से भक्ति
अब तो वैराग्‍य ठान लो
टिप्‍पणी देते जाओ
चाहे पहचानो या
मान लो।

  Anil Pusadkar

30 August 2009 at 13:40

बहुत बहुत बधाई।

Followers