रामप्यारी का सवाल - 91

हाय….आंटीज..अंकल्स एंड दीदी लोग..या..दिस इज मी..रामप्यारी.. आज शाम के नये सवाल मे आपका स्वागत है. तो आईये अब शुरु करते हैं आज का “कुछ भी-कही से भी” मे आज का सवाल.

सवाल है : यह क्या है? पहचानिये?




तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. तब तक रामप्यारी की रामराम.


Promoted By : ताऊ और भतीजा

63 comments:

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:00

lomadi

  Murari Pareek

23 October 2009 at 18:00

BAAJRE KA SITAA

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:00

कुत्ता

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:01

chonch hai kisi ki

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:02

poonch hai

  सुनीता शानू

23 October 2009 at 18:04

आज फ़िर पूँछ?

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:05

pair hai kisi ka ...........

  Murari Pareek

23 October 2009 at 18:06

JAWAAR KA SITTA

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:07

khozte rahiye ......

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:07

abhi sahi jawab nahi aaya hai ...........

Disclaimer tha ye

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:14

हिरण!! :)

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:18

मैं आज भी अडिग हूँ अपने जबाब पर..

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:19

मुरारी भाई

ये BAAJRE KA SITAA क्या होता है?? :)

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:19

पेड़ का तना या और कुछ ..........

पर है पेड़ का ही हिस्सा

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:20

वो फिल्म वाली पहेली ही सरल रहती थी..उसे वापस लाया जाये वरना आंदोलन की राह ली जायेगी.

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:21

पैर लग रहा है किसी जानवर का

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:22

वैसे शायद हाथी की पूंछ भी तो छोटी सी होती है???

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:22

कुत्ते की पूँछ...

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:24

अल्पना जी, संगीता जी और प्रेमलता जी कहाँ गईं?????????

  makrand

23 October 2009 at 18:25

कुत्ते की पूंछ नही हो सकती. क्योंकि कुत्ते की पूंछ स्ट्रेट नही होती. मुडी हुई होती है.

  makrand

23 October 2009 at 18:26

सियार की पूंछ हो सकती है क्या ऐसी? कोई तो जवाब दिजिये...कहां गये सबके सब? शुभम जी..मुरारी जी....

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:27

confusion hai .........

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:27

मकरंद, क्या नहीं हो सकता में तो १०० ठो आईटम गिनवा दूँ...आप तो यह बताओ कि क्या है?? हा हा!!

  makrand

23 October 2009 at 18:27

समीर जी..आपने सियार की पूंछ देखी है क्या?

  Murari Pareek

23 October 2009 at 18:28

BHAI HAMNE TO JAWAAB DE DIYAA KI YE JAWAAR KI FASAL KA SITTA HAI

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:28

मुझे तो अभी भी पेड़ का ही हिस्सा लग रहा है

  makrand

23 October 2009 at 18:28

मैं जरा गूगल देख कर आता हूं..

  Murari Pareek

23 October 2009 at 18:28

SAMEER JI HA..HA..

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:28

पहेली १४ का क्या हुआ जबाब??

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:29

JAWAAR KI FASAL KA SITTA ?????

ye kya hota hai bhai .....

  Murari Pareek

23 October 2009 at 18:29

14 PAHELI KONSI THI SAMEER JI

  Murari Pareek

23 October 2009 at 18:30

HA..HAA.. SITTA NAHI SAMJHE JAISE MAKAI KA HOTA HAI !!!

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:31

मुरारी भाई के पास भी इसका जबाब नहीं है, शुभम जी BAAJRE KA SITAA लिख कर निकल गये... :)

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:32

पहेली १४ में घोड़ों की संख्या को लेकर कन्फ्यूजन था... :)

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:32

par ye sitta kya bala hai bhai ??

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:32

बाकी के योद्धा कहाँ गये...ऐसे तो आ चुकी क्रांति!!

  Murari Pareek

23 October 2009 at 18:33

SAB LAJAWAAB HO GAYE !!

  माधव

23 October 2009 at 18:34

पुछ है किसी जानवर की

  मिस. रामप्यारी

23 October 2009 at 18:35

समीर अंकल...पहेली १४ पर जांच आयोग बैठाया हुआ है. जब रिपोर्ट आजायेगी तब फ़ैसला होगा और यूं भी कानून के अधीन मामलों मे इससे ज्यादा नही बोल सकते. वर्ना यह अवमानना कहलाती है.

  Murari Pareek

23 October 2009 at 18:36

ha..ha.. rampyaari har harqt par najar rakhe hai sawdhaan!!!

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:37

अभी एक किताब में पढ़ा..सब लोग पढ़ लो, काम आयेगा:

“A loser doesn't know what he'll do if he loses, but talks about what he'll do if he wins, and a winner doesn't talk about what he'll do if he wins, but knows what he'll do if he loses.”

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:38

ठीक है रामप्यारी मैडम..अब कोर्ट में ही बात होगी. :) टोपी लगा कर आना यही वाली.

  Murari Pareek

23 October 2009 at 18:41

:chillpill:

  मिस. रामप्यारी

23 October 2009 at 18:41

शुभम आर्य भैया

जैसे मक्के का भुट्टा होता है वैसे ही बाजरे के भुट्टे को भुट्टा ना कह कर राजस्थान हरयाणा मे सिट्टा कहते हैं. बाजरे का सिट्टा...ज्वार का सिट्टा..बत नाट मक्के का सिटटा...यू नो?...

सिट्टा = भुट्टा

  Murari Pareek

23 October 2009 at 18:42

sitta sun ke sitti pitti gum ho gai shubham bhaiyaa???

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 18:43

रामप्यारी सब जानती है..अब जल्दी जबाब दो..जानवर भाग न जाये.

  शुभम आर्य

23 October 2009 at 18:44

hmmmmmmmm

thanks Rampyari ....

  मिस. रामप्यारी

23 October 2009 at 18:45

@ माधव अंकल

अगर आपको लगता है कि ये पूंछ है किसी जानवर की तो उस जानवर का नाम बताकर पूरा जवाब दिजिये कि रामप्यारी ये फ़ला कुत्ते बिल्ली, घोडे गधे की पूंछ हैं.

  पी.सी.गोदियाल

23 October 2009 at 18:45

लोगो के जबाब देख तो लगता है कि बस पहेली का इन्तजार कर रहे थे सब के सब !

सुतर्मुर्ग की पूँछ है !

  संगीता पुरी

23 October 2009 at 18:52

पहेलियों को हल करने के लिए पूंछो के बारे में सचित्र जानकारी देनेवाली एक पुस्‍तक खरीदने बाजार जा रही हूं !!

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 19:06

जय हो!! ५१ वीं हमारी..इनाम लाओ.

  M VERMA

23 October 2009 at 19:32

इन्सान का पूँछ नही है -- पक्का

  पवन *चंदन*

23 October 2009 at 19:48

रामप्‍यारी
हमें लगता है कि ये सीही की गर्दन है जो पत्‍तों और खरपतवार में चीटियां ढूंढ रही है।

  प्रेमलता पांडे

23 October 2009 at 19:55

कुत्ते की पूंछ

  डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक

23 October 2009 at 20:58

बिल्ली कहना तो अपमान होगा!
यह तो रामप्यारी की पूँछ है!

  Udan Tashtari

23 October 2009 at 21:33

संगीता जी बाजार गईं तो वहीं रह गईं क्या? किताब मिली?

  अविनाश वाचस्पति

23 October 2009 at 22:53

भेड़ की पूंछ

  संगीता पुरी

23 October 2009 at 23:00

समीर लाल जी ,
जो पिक्‍चर इंटरनेट में नहीं मिल रही .. वह भला पुस्‍तक में मिलेगी .. वैसे पांडा की पूंछ इस तरह की दिख रही है !!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

23 October 2009 at 23:20

अब की पहेली के विजेता तो पक्के से समीरलाल जी ही हैं......
ये जरूर कुत्ते की पूँछ है....वैसे शायद कुतिया की भी हो सकती है ।

  Devendra

23 October 2009 at 23:33

एक पंख

  Murari Pareek

24 October 2009 at 06:51

mera jawab to bajraa ka bhtta ya sitaa hi hai ji

  Mishra Pankaj

24 October 2009 at 10:29

kutte kee puchh!!

  Nirmla Kapila

24 October 2009 at 16:59

राम प्यारी की पूछ हा हा हा

Followers