रामप्यारी का सवाल - 95

हाय….आंटीज..अंकल्स एंड दीदी लोग..या..दिस इज मी..रामप्यारी.. आज शाम के नये सवाल मे आपका स्वागत है. तो आईये अब शुरु करते हैं आज का “कुछ भी-कही से भी” मे आज का सवाल.


सवाल है : इन महाशय को पहचानिये?




तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. तब तक रामप्यारी की रामराम.


Promoted By : ताऊ और भतीजा

115 comments:

  Udan Tashtari

27 October 2009 at 18:00

याक है

  Murari Pareek

27 October 2009 at 18:00

HIRAN

  Murari Pareek

27 October 2009 at 18:01

BARAHA SINGAA HIRAN JISKO SAMBAR KAHTE HAIN

  देवेन्द्र पाण्डेय

27 October 2009 at 18:03

This comment has been removed by the author.
  Unknown

27 October 2009 at 18:03

bakri

  Unknown

27 October 2009 at 18:04

This comment has been removed by the author.
  देवेन्द्र पाण्डेय

27 October 2009 at 18:09

नील गाय है

  डाँ. झटका..

27 October 2009 at 18:11

डाक्टर झटका आपका स्वागत करता है. मेरे लायक कोई सेवा हो या किसी मर्ज की दवा चाहिये तो बताईयेगा. मेरे पास २१ सालों का तजुर्बा है.

  डाँ. झटका..

27 October 2009 at 18:13

हाय शुभम, यह भैंसा हो सकता है क्या? क्या राय है आपकी?

  Alpana Verma

27 October 2009 at 18:15

Horse


@Dr.Jhtka..{Rampyari ke haath lagi hai Animals pictures ki kitaab....please us se le kar us kitaab ko kahin chhupa do...:D]

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 18:19

झोटा सै
मै उत्तर बद्लुन्गा माहौल देख के आज जीतणा सै
समीर भाइ राम राम

  Alpana Verma

27 October 2009 at 18:19

black donkey

  डाँ. झटका..

27 October 2009 at 18:19

@ अल्पना जी

रामप्यारी से धोखा करना मेरे लिये बडा नुक्सान दायक होगा. यानि मेरा अस्पताल खुलने के पहले ही बंद हो जायेगा.

क्योंकि कैट स्केन करने का काम तो रामप्यारी ही करेगी ना? तो रामप्यारी से पंगा? ना बाबा ना.

  डाँ. झटका..

27 October 2009 at 18:19

@ अल्पना जी

रामप्यारी से धोखा करना मेरे लिये बडा नुक्सान दायक होगा. यानि मेरा अस्पताल खुलने के पहले ही बंद हो जायेगा.

क्योंकि कैट स्केन करने का काम तो रामप्यारी ही करेगी ना? तो रामप्यारी से पंगा? ना बाबा ना.

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 18:24

भाई काल तो जुट के चक्कर मे जुत गये
आज के मामला सै- ये पशु देशी है कि विदेशी,कोई बतायेगा इनाम साझा कर लेन्गे।

  संजीव गौतम

27 October 2009 at 18:25

सही उत्तर अब तक आ चुका है घोडा प्रथम याक द्वितीय गधा तीसरे न0 पर है.

  डाँ. झटका..

27 October 2009 at 18:27

@ ललित शर्मा जी

आपको जो भी समस्या हो डाक्तर झटका से पूछिये. हर मर्ज की दवा है अपने पास.

यह अगर पशु है तो देश विदेश दोनों मे ही पाया जा सकता है? कैसी रही ये दवाई? जरुर बताईयेगा.

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 18:27

ये एलियन है-दुसरे ग्रह का प्राणी, डाकदर झट्का ही बतावेगा, डाकदर साब एक बात पुछुं बुरा ना मानोगे तो-आप माणसों के डाक्टर सो के डन्गरां के पहले सपस्ट करो।

  डाँ. झटका..

27 October 2009 at 18:29

@ ललित शर्मा जी

अजी हम तो ऐसे डाक्टर सैं कि मिनख बेमार पडज्या त उसका इलाज कर्दें..अर ज ढोर डांगर बेमार पडज्या त उसका भि काम निपटा देवें..यानि हम तो ताऊ मेडिकल युनिवर्सिटी के पास आऊट आल राऊंडर डाक्टर सैं भाई.

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 18:29

समीर भाई आज फ़ेर रांग नम्बर डायल कर दिया,
हा-हा-हा

  Pt. D.K. Sharma "Vatsa"

27 October 2009 at 18:32

Chamois.....

  Udan Tashtari

27 October 2009 at 18:33

शनि का साढ़े साती लग गया है दिख्खे है ललीत भाई....संगीता जी बचाओ!!

  Udan Tashtari

27 October 2009 at 18:34

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" -आप ही मदद कर दो!! :)

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 18:36

वाह डाकदर साब,एक ही कालेज से डबल डिग्री,
आल राउन्डर,वाह भाई वाह यो काम हरियाणे मे ही हो सकै सै ओर कितै भी कोनी- उत के माणसां पे तो आदमी वाळी दुवाई काम ही नही करती-आपने दुर की सोची, जिसे मरीज उसे डाकडर, आपने
पांव धोक बंचना जी

  डाँ. झटका..

27 October 2009 at 18:37

@ ललित शर्मा जी

जीता रह भाई जीता रह.

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 18:40

पंडत जी महाराज आप चिटिंग करण लाग रहे सो,
काल भी इंगरेजी बोल के जीत ग्ये, आज भी इंगरेजी,हिन्दी मे सपस्ट करो, इंगरेजी म्हा्री समझ मे कोनी आती।

  दिगंबर नासवा

27 October 2009 at 18:44

भैंस का पिछवाडा सै ...........

  पंकज बेंगाणी

27 October 2009 at 18:47

भारत - पाक सीमा पर दोस्ती का हाथ बढाते जरदारी साहब का फ्रंड पोज लेना चाहिए था रामप्यारीजी!

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 18:48

पिछ्वाड़े तै ही तो मामला गड़-बड़ हो रह्या सै, नही तो भैंस के मामले में अपणी सपेसलिटी सै, यो पुंछ ही गड़-बड़ कर रही सै-
इब डाकदर साब अपणा फ़ाइनल रिजल्ट
"काला हिरण" सल्लु वाळा- पत्थर की लकीर

  Murari Pareek

27 October 2009 at 18:51

समझग्या दाग्धर साब !! इब ज़रा कुछ हिंट बता दयो कोई सही उतर आयो की नहीं !!

  डाँ. झटका..

27 October 2009 at 18:51

@ ललित शर्मा जी

देखले भाई मैं तो न्युए कह सकूं सूं कि और बीचार करल्यो...आगे थारी मर्जी...

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

27 October 2009 at 18:52

yeh YAK hai.......

ya HIRAN hai....

ya 12SINGHA hai.......

ya BLACK HORSE hai......

ya CHAMOIS hai......

ya NEEL GAI hai....

ya BLACK DONKEY hai....

ab koi to inmein se sahi hoga hi........

  डाँ. झटका..

27 October 2009 at 18:53

@ मुरारी पारीक...

आपको हिंट चाहिये? तो भाई मैं इसका जवाब तो बता दूं पर............................................

अरे रे..रामप्यारी कुछ बःई इस मामले मे बोलने के लिये मना कर रही है.

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

27 October 2009 at 18:54

Agar koi bhi sahi ho jaye......... to vijeta mujhe hi ghoshit kariyega........

  Alpana Verma

27 October 2009 at 18:55

घोडा

  Murari Pareek

27 October 2009 at 18:55

हा.. हां दाग्धर झटका को उणियारो कठेई देखेडो सो कैया लाग रयो है !!!

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 18:56

फ़ेर तो विचार करणा पड़ेगा, पण सै तो हिरण की ही जाति-परजाति, क्युं के मामला पुंछ पै ही आयके अट्क ग्या,

  Murari Pareek

27 October 2009 at 18:56

MAHFUJ MIYAAN SAB UTTRA DE KAR MAHFUJ HO GAYE!!

  Murari Pareek

27 October 2009 at 18:58

समर जी आन्दोलन पे कायम रहिये !! छोडियेगा नहीं !!

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

27 October 2009 at 18:58

@ alapanaji.........

haan yeh mujhe bhi poonchh kata ghoda hi lag raha hai....... mere answer mein se ek isey bhi maan liya jaaye....

  Alpana Verma

27 October 2009 at 18:58

pony

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 18:58

अरे भाई मुरारी जी यो उणियारो थे जयपुर का sms मे देख्यो होयलो, याद करो थे,

  Murari Pareek

27 October 2009 at 18:58

SAMAR HO GAYAA PAR WO SAMEERJI HAI !!

  Alpana Verma

27 October 2009 at 18:59

chunki is ki height kam lag rahi hai---compare karen saath ki taaron wali baad se--

isliye PONY hoga..

  Murari Pareek

27 October 2009 at 19:01

जयपुर का SMS हम्म या ही बात ललित जी काल पिछान कोणी सक्या आज बेरा पाटग्या कोई पहुन्चेदी चीज स यो दाग्धर !!!

  डाँ. झटका..

27 October 2009 at 19:02

अब मैं ये क्यों बताऊंगा कि ये घोडा, पोनी या गधा नही है....अरे रे ये मैं क्या बोल गया? प्लिज रामप्यारी मैम को शिकायत मत करना..वो अभी एक मरीज का कैट स्केन करने गई है.

  Murari Pareek

27 October 2009 at 19:03

हो सकता है अल्पना जी आप राईट हों पर हम पीछे क्यों हटें हमने तो साम्भर बताया है ! तीर नहीं तो तुक्का ही सही !!

  Murari Pareek

27 October 2009 at 19:04

HA..HA.. JHATKAA DE DIYAA DAAGDHAR NE!!

  Alpana Verma

27 October 2009 at 19:04

Koi baat nahin...aaj ka din sahi nahin hai.anyways..thanks Dr.Jhtka.

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

27 October 2009 at 19:05

@Alpanaji........


nahi yeh pony nahi hai...... yeh BISON hai......

  Murari Pareek

27 October 2009 at 19:05

पोनी कोनी!!!

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

27 October 2009 at 19:06

Please ab koi yeh na pooche ki yeh BISON kya hota hai........ isko hindi mein kya bolte hain ....yeh mujhe nahi pata...... yeh jangli bhainsa prajaati ka hota hai.......

  Murari Pareek

27 October 2009 at 19:07

OK NAHI POOCHHENGE MAHFUJ MIYAAN PAR HUM GOOGLE ME DEKHENGE JARUR GOOGLE UNCLE........

  Murari Pareek

27 October 2009 at 19:08

VAJAA FARMAYAA AAPKAA JAWAAB DURUST HO SAKTAA HAI PAR APAN NAHI BADLENGE!!

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

27 October 2009 at 19:09

abhi abhi search kiya hai...... yeh REINDEER hai..... pakka........ dead sure.......

ab bas karta hoon, himmat jawab de gayi....... hf hf hf hf hf (haanf raha hoon)

  Anonymous

27 October 2009 at 19:10

junglee bakari.

  Murari Pareek

27 October 2009 at 19:10

ये रामप्यारी को फोटो ग्राफी सिखानी होगी फोटो हमेसा आगे से लिया करो रामुडी !!

  Abhishek Ojha

27 October 2009 at 19:11

YAK

  Murari Pareek

27 October 2009 at 19:13

कतने लोगन को जो है सो है कनफुजिया दिया है !! जानवर का पिछवाडा देखा के !!

  Anonymous

27 October 2009 at 19:13

neel gai?

  Murari Pareek

27 October 2009 at 19:14

AAJ E SHUBHAM BHAIYAA AUR SAMEERJI KAHAAN NIKAL LIYE!!

  Anonymous

27 October 2009 at 19:14

Hiran ki koi prajati?

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 19:21

जय हो बाबा घोळड़ नाथ की,
ना यो घोड़ा सै
ना यो घोड़ी सै
ना यो गधा सै
ना यो गधी सै
यो तो दोनो के बीच का सै
"खच्चर" क्युं डाकदर साब ठीक रही ना "मध्यम मार्ग" बुद्धि शरणम गच्छामि

  Murari Pareek

27 October 2009 at 19:23

BAAR DAAGDHAR SAAB NAI BATAWENGE!!

  kishore ghildiyal

27 October 2009 at 19:28

hiran sai tau

  Murari Pareek

27 October 2009 at 19:31

ये चिडियाघर का दृश्य है और वहाँ पर चरते हुए शाम्बर को देख कर रामप्यारी को चेहरा दिखाई नहीं दिया इसलिए पीछे जाकर फोटू ले ली !!

  MAHAVEER B SEMLANI

27 October 2009 at 19:33

बारहासिंग जैसा कुछ तो लगता

  MAHAVEER B SEMLANI

27 October 2009 at 19:36

अरे डा.साहब क्लू दे दो..........

  mehek

27 October 2009 at 19:51

ghoda hai rampyari ye.

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 20:02

समीर भाई आप कहां चले गये? अब आपके विजयी होने का टैम आ गया है। कहीं लिंक तो नही ढुंढ रहे हो।

  संगीता पुरी

27 October 2009 at 20:06

कोई चौपाया जानवर लगता है !!

  संगीता पुरी

27 October 2009 at 20:08

@ललित शर्मा जी,
आपको इतना भी नहीं मालूम .. समीर जी जबतक लिंक ढूंढ नहीं लेंगे .. एक भी पोस्‍ट पर उनकी टिप्‍पणी दिखाई नहीं देगी .. अब सामने लाते ही होंगे !!

  Jandunia

27 October 2009 at 20:22

रामप्यारी का सवाल कठिन है....

  दिनेशराय द्विवेदी

27 October 2009 at 20:28

घोड़ा ही है जी!

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 20:40

@दिनेश जी घोड़ा सै तो फ़ेर कट्योड़ी पुंछ का चंपु सै,
यो खच्चर सै घोड़े का पेट लटक्योड़ा कोनी होवे,
राम-राम

  Udan Tashtari

27 October 2009 at 20:50

कितने मेहनती ब्लॉगर हैं सारे. :) देखकर मन बाग बाग हो गया.

  Udan Tashtari

27 October 2009 at 20:50

देश को ऐसे कर्मठ योद्धाओ की जरुरत है.

  ब्लॉ.ललित शर्मा

27 October 2009 at 21:03

@समीर भैया,आज अविनाश जी नही आये हैं

  Udan Tashtari

27 October 2009 at 21:16

हम तो खुद उनको ढूंढ रहे हैं..कहीं ब्लॉगर मीट में न चले गये हों किसी. :)

  Unknown

27 October 2009 at 21:29

hmmmmmmmm

Kambhakt net ko abhi kharab hona tha ......

abhi theek hua hai ji

ans note kiya jaaye

" Aries "

  विवेक रस्तोगी

27 October 2009 at 21:33

बकरी

  Udan Tashtari

27 October 2009 at 21:38

शुभम

Aries बताये हो तो आज का भविष्य और बता जाओ!!

  स्वप्न मञ्जूषा

27 October 2009 at 22:08

are i REINDEER hai...chritmas waala...santa clause ji jispar sawaar rahte hain ...

  P.N. Subramanian

27 October 2009 at 22:11

भैंस

  Mishra Pankaj

27 October 2009 at 22:16

सभी भाइयो को नमस्कार बहनों को भी

  Mishra Pankaj

27 October 2009 at 22:20

अरे कोई तो मेरे नमस्कार का जवाब दो भाई :)

  डाँ. झटका..

27 October 2009 at 22:22

@ पंकज मिश्रा जी

कहिये क्या बात है? आज नाईट ड्युटी मे मैं हाजिर हूं. कोई भी जरुरत हो डाक्टर झटका को याद करने का. क्या?

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 01:05

डागटर साहब क्या चीज में २१ सालो का अनुभव है ? पहेलियों को बू झ ने का कोई इंजेक्शन वगैहरा निकाला के नहीं ?

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 01:11

@Udan Tashtari said...

शनि का साढ़े साती लग गया है दिख्खे है ललीत भाई....संगीता जी बचाओ!!


महाताउजी! आपकी साढ़े साती में तो शनी भगवान प्रसन्न है तभी तो पहेलियों के बादशाह बने है.


हे! प्रभु यह तेरापन्थ
मुम्बई-टाईगर

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 01:17

Murariji Pareek ko
27 October 2009 18:०१ को शुक्र में शुक्र की दशा चल रही थी,समीर भाई! किन्तु 27 October 2009 18:५८ को शुक्र में शनि आ बैठा

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 01:25

@अल्पना वर्मा said...
@Dr.Jhtka..{Rampyari ke haath lagi hai Animals pictures ki kitaab....please us se le kar us kitaab ko kahin chhupa do...:D]


अल्पनाजी ! यह रामप्यारी भी ताऊ के नक्शे कदम पर चल पडी है डागटर झटका साहब ने थोडी भी सात पाच की तो रामप्यारी,
डागटर साहब को जोर का झटका धीरे से लगा देगी..... हां.....हां ........हां.......

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 01:29

@ललित शर्मा said...
भाई काल तो जुट के चक्कर मे जुत गये आज के मामला सै- ये पशु देशी है कि विदेशी,कोई बतायेगा इनाम साझा कर लेन्गे।



ललिताभाई ! मणे तो यो आगे थी विदेशी लागे है पीछे थी देशी ........... हां.....हां ........हां..........

  MUMBAI TIGER मुम्बई टाईगर

28 October 2009 at 01:56

रामप्यारी !मै मुंबई का शेर यानी टाइगर बोल रिया हू , जब से तुमने(पहेली -९०) मेरी पूछ का फोटू छापा है तब से तू मेरे जंगल के प्राणियों की पूछ ही दिखा रही है.... जंगल का राजा होने के नाते ये मेरे लिए चिंता का विषय है। तुम्हे यह मेरा आदेश है की आज से मेरे जंगल का कोई भी प्राणी का पिछवाडे की बजाय अग्र भाग दिखाईगी...... यह जंगल का राजा का हुक्म है...... हा तू चाहे तो पहेलियों मे मनुष्यों का कोई भी एंगल मे फोटू छाप सकती है......
हां......हां.........हां.....

  MUMBAI TIGER मुम्बई टाईगर

28 October 2009 at 02:07

डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार......................... मै मुंबई का शेर यानी टाइगर बोल रिया हू
आप कहते हो -@"डाक्टर झटका आपका स्वागत करता है। मेरे लायक कोई सेवा हो या किसी मर्ज की दवा चाहिये तो बताईयेगा. मेरे पास २१ सालों का तजुर्बा है."


आप अपने आपको ताऊ से ज्यादा स्याणा समझते हो ? तो बताओ तुम्ह मनुष्यों की आखो को चश्चमा लगता है मेरे जंगल के जानवरों को क्यो नही ?

THE KING OF JANGEL

  स्वप्न मञ्जूषा

28 October 2009 at 03:05

ITNE LOGAN KA BEECH MEIN KA PATA HAMRA JAWAAB GUM NA HO JAAYE.....


White Tail Deer

  Murari Pareek

28 October 2009 at 08:44

का बातिया रही मंजुसा जी आप की तो अदा ही निराली है आप का जवाब गुम नहीं नु होगा !!

  Murari Pareek

28 October 2009 at 08:45

hum soch rahe hain 101 ek par pahuncha dewen!!

  Murari Pareek

28 October 2009 at 08:46

महाबीर भाईजी शनि बैठ्यो ही है या चलो गयो !!

  Murari Pareek

28 October 2009 at 08:47

सब रात में देर स्यु आते है और तब तक हम चले जाते है|

  Murari Pareek

28 October 2009 at 08:47

ye 100 wi tippi

  Murari Pareek

28 October 2009 at 08:47

jai raamji ki

  संगीता पुरी

28 October 2009 at 09:51

101 टिप्‍पणियां हो गयी और जबाब अभी तक साफ नहीं हुआ .. आज कहीं यमराज का भैंसा तो नहीं .. भागो सब !!

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 11:09

मुरारी बापू जी

शनी तो उतर गयो पर आपसे गलती करा गयो ........... अब आप को डाक्टर झटका की जरूरत है ....

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 11:16

Murari Pareek said...

सब रात में देर स्यु आते है और तब तक हम चले जाते है|


हम रात को देर से इस लिए आए की शायद पहेली में पूछा गया जानवर थक कर सीद्धाहो जाए और उसका मुह देखने की रस्म हम पूरी कर ले...... भाई इस बार एवार्ड तो समीर भाई को लेने नहीं दुगा.....

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 11:23

@ 'अदा' said...ITNE LOGAN KA BEECH MEIN KA PATA HAMRA JAWAAB GUM NA HO JAAYE.....

अदाजी आप टेशनवा नही ले रामप्यारी की नजर बडी ही पारखी है.......
आपके लिए शुभ लाभ का चोघडीया . काल चल रहा है आप तो बस टिपियाते रहे बाकी हम देख लेगे............

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 11:28

डाक्टर झटका साहब! मदद करो... और अपनी दूरदर्शी दूरबीन लगाकर बताओ की समीर जी कहा गुम हो गए है ?

  डाँ. झटका..

28 October 2009 at 11:35

@ महावीर बी. सेमलानी

अभी मैं आपरेशन थियेटर मे एक जरुरी सर्जरी करने मे व्यस्त हूं..रामप्यारी कैट स्केन कर रही है..अस्पताल मे भीड बहुत ज्यादा है. समीरलाल जी अभी हम अपना दिव्य दृष्टि टेलिस्कोप से देख रहा हूं कि वो शयन कर रहे हैं.

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 11:36

लगता है डाक्टर साहब ने अभी तक अपनी डिस्पेंसरी खोली नहीं है ?

  डाँ. झटका..

28 October 2009 at 11:41

महावीर जी आऊटडोर शाम को ४ बजे चालू होता है, अभी तो आपरेशन करने पडते हैं...सो थोडी व्यस्तता है. शाम को मिलते हैं ४ बजे आऊटडोर में....

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 11:44

रामप्यारी!!!!! मैंने जो कह दिया सो कह दिया बार बार उत्तर बदलनाठीक नही है...........,कल उत्तर में कह दिया सो उसी पर कायम रहुगा ...

हार नहीं मानुगा... लार नहीं छोडूगा..... अटल जी की कविता की लाइने है.....

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 11:50

रामप्यारी! लगे हाथो डाक्टर साहब का भी कैट स्केन कर दियो .....ताकि डाक्टर साहब को .... झटके कम लगे

  ब्लॉ.ललित शर्मा

28 October 2009 at 11:54

@डा.झटका जी,
मन्ने तो लागे सै यो फ़ोटु बणाई हुयी सै
आगे तो खच्चर,पीछे पुंछ भेड़ की लगाई हुई सै,
ओल्ले भाई!मन्ने तो जवाब भी दे दिया
दोनो मान ल्यो-जो भी निकल जाये, अपणा दावा पक्का समझो-

  MAHAVEER B SEMLANI

28 October 2009 at 11:56

रामप्यारी ! एक बात कहनी है तुमसे यार ! तुम्हारे इस टेम्प्लेटेवा में टिप्पणिया मिक्स हो जाती है पढ़ने में देखने में थोडा सा कन्फ़ुज्न हो जाता है तो क्यों नही कुछ नया करा जाए ...... इसमें टीप्पु चच्चा के बच्वा रोहितवा की मदद ली जा सकती है..

रात को मिलेगे

  Murari Pareek

28 October 2009 at 13:05

ha..haa. mahabirji shani to utar gayo galti karaa gayoo bahut hansi aai bhai sachi me!!!

  M VERMA

28 October 2009 at 15:50

कोई जानवर है

Followers