फ़र्रुखाबादी विजेता (103) : मुरारी पारीक

"खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी" (103) के सही जवाब का चित्र यह रहा !



और फ़र्रुखाबादी विजेता हैं मुरारी पारीक बधाई!


Murari Pareek said...
GADHA

04 November 2009 18:00


इसके अलावा महफ़ूज अली ने भी सही जवाब दिया और "अदा" आंटी सही जवाब देने के बावजूद आखिर मे कन्फ़्युजिया गई और गधे के बच्चे को भैंसिया का बच्चा बता कर जवाब गलत कर लिया, उनको आज के लिये अग्रिम शुभकामनाएं. आप सबको बहुत बधाई और शुभकामनाएं.

अगला फ़र्रुखाबादी सवाल आज शाम को ठीक ६ बजे.

आज मुरारी अंकल आपकी हेट्रिक का चांस है..अग्रिम शुभकामनाएं.

अब रामप्यारी की तरफ़ से नमस्ते.


Promoted By : ताऊ और भतीजा

18 comments:

  Murari Pareek

5 November 2009 at 16:13

thanks rampyaari!!!

  पी.सी.गोदियाल

5 November 2009 at 16:38

ताऊ जी, आपके निर्णय पर मुझे ऐतराज है , सही जबाब "गधा" नहीं "गधे का बच्चा था" :)

  ललित शर्मा

5 November 2009 at 16:40

जय हो मुरारी लाल - यार घणी पिछाण लगाई, हम तो बाछी-पाडी-कुत्ता तक ही रह ग्या,बधाई

  रंजन

5 November 2009 at 16:41

गलत जबाब..

ये था गधे का बच्चा...:)

  Murari Pareek

5 November 2009 at 16:48

@ पी.सी.गोदियाल GADHE KI AULAAD BHI MAINE HI DIYA HAI HA..HA..

  संगीता पुरी

5 November 2009 at 16:55

मुरारी पारीक जी को बधाई .. हैट्रिक के लिए शुभकामनाएं !!

  Udan Tashtari

5 November 2009 at 17:16

मुरारी पारीक जी को बधाई .. हैट्रिक के लिए शुभकामनाएं, सच में !! :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

5 November 2009 at 17:34

मुरारी जी का "गदर्भ ज्ञान" तो कमाल है :)

बधाई !!

  Murari Pareek

5 November 2009 at 17:45

kaafi aapne bargalayaa tha panditji!!!

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

5 November 2009 at 17:50

@ मुरारी पारीक

आज का फ़र्रुखाबादी सवाल आपको हेट्रीक विजेता बनवा सकता है. और अगर आप ऐसा करने मे कामयाब रहते हैं तो आप बनेंगे ताऊजी डाट काम के पहले "फ़र्रुखाबादी मोगंबो"

तो आपको बहुत शुभकामनाएं! अगले 11 मिनट मे फ़र्रुखाबादी सवाल १०४ प्रकाशित होने ही वाला है.

मैं आपके साथ रहूंगा, कुछ भी परेशानी हो डाकटर झटका को याद करियेगा.

पुन: शुभकामनाएं.

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

5 November 2009 at 17:51

@ मुरारी पारीक

आज का फ़र्रुखाबादी सवाल आपको हेट्रीक विजेता बनवा सकता है. और अगर आप ऐसा करने मे कामयाब रहते हैं तो आप बनेंगे ताऊजी डाट काम के पहले "फ़र्रुखाबादी मोगंबो"

तो आपको बहुत शुभकामनाएं! अगले 11 मिनट मे फ़र्रुखाबादी सवाल १०४ प्रकाशित होने ही वाला है.

मैं आपके साथ रहूंगा, कुछ भी परेशानी हो डाकटर झटका को याद करियेगा.

पुन: शुभकामनाएं.

  Murari Pareek

5 November 2009 at 17:52

ichchha to bahut hai mongembo banane ki banaa hi do aaj!!! ha..ha..

  Udan Tashtari

5 November 2009 at 17:57

हमारे समय कहाँ थे, डॉक्टर साहब...??

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

5 November 2009 at 17:58

good luck Mr. Murari. only two minutes later.......

  Udan Tashtari

5 November 2009 at 17:59

मुरारी भाई, खुद के भरोसे रहना..जब तक डॉक्टर को याद करोगे...२० लोग टीप चुके होंगे...हा हा!!

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

5 November 2009 at 17:59

मेरा जन्म अभी हुआ है.:)

  Murari Pareek

5 November 2009 at 17:59

sahi hai sameerji!! ha..ha..

  M VERMA

5 November 2009 at 18:01

Why thanks to Rampyari. Say thanks to 'Gadha'

Followers