खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (106) : रामप्यारी

हाय….आंटीज..अंकल्स एंड दीदी लोग..या..दिस इज मी..रामप्यारी.. आज से रामप्यारी शुरु कर रही है "खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी" यानि नो माडरेशन..नथिंग...सबके सामने रहेंगे सारे जवाब..नकल करना हो करिये..नो प्राबलम टू रामप्यारी....बट यू नो?..टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का कम से कम दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.

परेशानी हो...डाक्टर झटका आपकी सेवा मे मौजूद हैं.. २१ सालों के तजुर्बेकार हैं डाक्टर झटका. पर आप अपनी रिस्क पर ही उनसे मदद मांगे. क्योंकि वो सही या गलत कुछ भी राय दे सकते हैं. रिस्क इज यूवर्स..रामप्यारी की कोई जिम्मेदारी नही है.

तो आज के इस खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी मे रामप्यारी और डाक्टर झटका आपका हार्दिक स्वागत करते है. और अब शुरु करते हैं आज का “खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी” मे आज का सवाल.


सवाल है : पहचानिये कौन हैं?




तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल शाम को 4:00 बजे दिया जायेगा, तब तक रामप्यारी और डाक्टर झटका की तरफ़ से रामराम.


Promoted By : ताऊ और भतीजा

85 comments:

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 18:00

चित्रांगदा सिंह

  ललित शर्मा

7 November 2009 at 18:05

संगीता बिजलानी

  ललित शर्मा

7 November 2009 at 18:06

अभी जवाब बदलने की सम्भावना है।

  ललित शर्मा

7 November 2009 at 18:07

@संगीता जी पैरी पैणा, होर बंदे कित्थे तुर गे?

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 18:08

ललित शर्मा जी .. हिन्‍दी में कहिए .. क्‍या कह रहे हैं ??

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

7 November 2009 at 18:08

रामप्यारी हम तो सिर्फ गधे,घोडे पहचान सकते हैं....ये लुगाईयाँ पहचाननी अपने बस की बात कोणी ।
इन्हे तो ऊपर वाला नी पहचान पाया...हमारी तो क्या औकात :)

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 18:08

कुछ समझ में नहीं आया !!

  makrand

7 November 2009 at 18:09

रविना टंडन

  makrand

7 November 2009 at 18:10

पक्के से रविना टंडन है।

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 18:10

चित्रांगदा सिंह .. लॉक किया जाए मेरा जबाब !!

  ललित शर्मा

7 November 2009 at 18:10

चित्रांगदा सिंग-फ़ायनल

  makrand

7 November 2009 at 18:10

मीर अंकल आज कहां हो? अभी तक दिखे नही? दस मिनट होगये?

  makrand

7 November 2009 at 18:11

भूल सुधार :

मीर अंकल = समीर अंकल

  makrand

7 November 2009 at 18:11

आज तो मेरे जीतने के चांस बन गये

  ललित शर्मा

7 November 2009 at 18:12

@ संगीता जी मै बोला, पैर छुकर प्रणाम और बाकी लोग नही दिखे। कहां गये?

  makrand

7 November 2009 at 18:12

@ चित्रांगदा नाम की कोई हिरोईन ही नही है. जीत गया भई जीत गया.

  ललित शर्मा

7 November 2009 at 18:14

@ संगीता जी आज तो आपने शुरु होने से पहले ही कहानी खतम कर दी अब सबको नमस्कार करके जाना ही पड़ेगा
और पंडित वत्स जी गोड़ लागी,

  सुनीता शानू

7 November 2009 at 18:16

अरे यह तो सो प्रतिशत चित्रांगदा सिंह की फ़ोटो ही है
संगीता जी आप बिलकुल छः बजे पहेली शेयर मार्केट खुलते ही जवाब टपका देती हैं..:( अरे भई कुछ देर सबको आ जाने दिया कीजिये...सभी सोच समझ कर मिल बाँट कर जवाब दिया करेंगे न जल्दी क्या है ...बोलो भई सब मिल कर अनशन करते हैं।

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

7 November 2009 at 18:16

भाई ललित जी जुग जुग जियो.... दूधो नहाओ..अर पूतो फलो !!

  महफूज़ अली

7 November 2009 at 18:17

Lalit ji..............ram...........ram.............

  महफूज़ अली

7 November 2009 at 18:19

Yeh Chitrangada Singh hi hai........... isko lockiya diya jaye......... ekdum ded syor...........

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 18:20

This comment has been removed by the author.
  ललित शर्मा

7 November 2009 at 18:20

@ राम-राम महफ़ुज भाई-सब नीक बा
आज कैसे सब लेट हो गये, समीर भाई-और मुरारी लाल-सब नदारत हैं लगता है मैच फ़िक्स हो गया।

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 18:21

@ सुनीता शानू जी , आज समीर जी नहीं थे .. नहीं तो मुझसे पहले ही वे जबाब दे दिए होते !!

  महफूज़ अली

7 November 2009 at 18:23

@LALIT ji........

jee............aaj sab gayab hain....... abhi murari ji ko fone laga ke poochta hoon....... hum bhi daily late ho hi jaate hain....

  श्यामल सुमन

7 November 2009 at 18:24

चित्रांगदा

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 18:25

अब ब्‍लागवाणी में आयी ये पहेली .. तबतक खेल खत्‍म !!

  ललित शर्मा

7 November 2009 at 18:27

@ संगीता जी-आपको बधाई,

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 18:30

एक जरुरी अनाऊंसमैंट के लिये तैयार रहिये.

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 18:30

Sangeeta ji.......... ko bahut bahut badhai........

  Devendra

7 November 2009 at 18:33

संगीता पुरी को बधाई।

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 18:35

कल के विजेता उडनतश्तरी को पहेली १०७ का विषय चुनने का अधिकार दिया गया है.

अगर वो आज ७:३० बजे तक विषय नही बताते तो यह अधिकार स्वत: ही मुरारी पारीक को दिया जाता है.

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 18:36

उडनतश्तरी जी आए नहीं अभी तक .. साढे सात बजे तक देखा जाए !!

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 18:38

अगर मुरारी पारीक ७:४५ तज नही आते हैं तो यह अधिकार स्वत: ही पहेली १०६ के तीसरे विजेता महफ़ूज अली को मिलता है. आप ८:०० बजे तक जवाब दे कर विषय का चुनाव कर सकते हैं.

इसके बाद कल का विषय रामप्यारी मैम की मर्जी पर रहेगा.

धन्यवाद...आप अपना खेल जारी रख सकते हैं. शुभकामनाएं.

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 18:40

@Dr.Jhatka.........

Dr. Sahab bahut bimaar chal raha hoon....... aakhiri ichcha hai ki...... yeh adhikaar mujhe de dia jaye.......

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 18:40

Arey wah! bahut bahut dhanyawaad..........

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 18:41

महफूज जी , डाक्‍टर के सामने इतना बीमार पडेंगे .. तो आखिरी इच्‍छा पूरी होने की बजाए इंजेक्‍शन पड जाएगी !!

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 18:45

hahahahahahahaha

  सुनीता शानू

7 November 2009 at 18:46

रामप्यारी मेरे बड़े भाई आये नही हैं मै उनकी मुहबोली छोटी बहन हूँ कल की पहेली चुनने का मुझे मौका दिया जा सकता है। क्योंकि भाईसाहब अभी व्यस्त हैं कल आयेंगे..:)
और संगीता जी अभी समीर भाई होते न तो आंदोलन जरूर होता...:(

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 18:50

@ सुनिता शानू

आपके बडे भाई साहब बताकर गये हैं कि वो कल तक के लिये मांट्रियल गये हैं. पर यह अधिकार आपको नही दे कर गये हैं. अगर हमें बता कर जाते तो हम अवश्य यह काम आपको सौंप देते.

-धन्यवाद.

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 18:51

एक औए जरुरी सूचना, जिस पर ध्यान दिया जाना जरुरी है, थोडी ही देर में

  सुनीता शानू

7 November 2009 at 18:53

क्या डॉक्टर झटका आप भी जरा सी बात नही मान सकते। चलिये रहने दीजिये अगली बार भाई जी से पॉवर ऑफ़ अटोर्नी बनवा कर रखेंगे...:(

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 18:54

अगर कोई प्रतिभागी अपना विषय चुनने का अधिकार किसी को ट्रांसफ़र करना चाहता है तो वो टिप्पणि मे किसी को भी नामजद कर सकता है.

और ध्यान दिया जाये कि जो आज का विजेता है वो कल का विषय चुनने की पात्रता रखता है.

सूचना समाप्त हुई.

  महफूज़ अली

7 November 2009 at 19:15

@ Dr.Jhatka.........

Dr. Sahab......... agar aadarniya Sameerji... aur Murariji....nahi aate hain..... 7.45 tak........... to main apna adhikaar........ Behen Sunita Shanu........ ko deta hoon.....

Main bhi unka chota bhai hoon......

  'अदा'

7 November 2009 at 19:19

Sangeeta Puri ji ko aaj ham maan gaye hain...
SALAAM...... Sangeeta ji
ye chitrangada singh hi hai...

  महफूज़ अली

7 November 2009 at 19:24

@ Sunita Shanu....di.....

Di....... aap 8 baje tak vishay zaroor de dijiyega........

  Mishra Pankaj

7 November 2009 at 19:24

क्या भाई लोग कुछ पता चला ? क्या है ?

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 19:41

@ महफ़ूज अली

आपका विषय चुनने का अधिकार ७:४५ से शुरु होकर ८:०० बजे तक का है.

आपसे निवेदन है कि आप या आपकी नामिनेटेड प्रतिनिधी सुनीता शानु, इस समयावधि में विषय चुनाव अवश्य करलें.

अन्यथा ८:०० बजे के बाद यह अधिकार रामप्यारी मैम के पास चला जायेगा.

सूचना समाप्त हुई.

धन्यवाद.

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 19:43

nahi ......main 8.05 par apna vishay post kar doonga

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 19:47

महफूज जी .. लगता है सुनीता शानू जी ने आपका कमेंट नहीं पढा अबतक !!

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 19:48

@ महफ़ूज अली

आज पहली बार है इसलिये ५ मिनट का ग्रेस दिया जाता है. अगर अगली बार ऐसा हुआ तो पेनल्टी लगेगी. ध्यान रखा जाये.

धन्यवाद

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 19:48

डा झटका .. महफूज भाई को 8:5 तक का समय दिया जाए .. वे 8 बजे तक सुनीता जी का इंतजार कर रहे हैं!!

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 19:49

jee......lagta hai nahi padha ab tak........

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 19:49

jee......Dr. Jhatka........

  सुनीता शानू

7 November 2009 at 19:57

अरे रूकिये रूकिये मैने तो देखा ही नही था।

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 20:00

Thanx! di.............aap aaye to..........main aap hi ka intezaar kar raha tha...........

  सुनीता शानू

7 November 2009 at 20:01

विषय किसे कहाँ कैसे देना है भई कुछ तो कहिये...

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 20:02

Vishay aap yahin tippani ke roop mein de saktin hain di...... chahe films ke upar, chahe pashu ke upar.... ya phir koi art.....

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 20:02

Dr.Jhatka ko address kar ke kijiye......

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 20:04

कल के विषय निम्न हैं.

१.पशु

२. पक्षी

३. फ़िल्मी

४. अन्य

आप इनमे से कोई एक अपनी पसंद का चुन सकती हैं. और आपके सहयोगियों से राय मशविरा भी कर सक्ती है हुर्रु उप तिमे इस

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 20:04

जल्दी किजिये

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 20:05

सुनीता शानू जी .. फिल्‍मों से ही लें !!

  सुनीता शानू

7 November 2009 at 20:05

डॉक्टर झटका मेरा विषय डेली यूज होने वाली किसी खाद्य सामग्री से है...

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 20:06

@ सुनीता शानु

आपका विषय कल के सवाल १०७ के लिये लाक कर दिया गया है.

सवाल लाक करवाने के लिये रामप्यारी मैम आपको बधाई देती है.

धन्यवाद

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 20:06

Arey! di.........pashu se lijiye......

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 20:06

OK! chaliye ab to lock ho gaya.........

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 20:07

धन्‍यवाद सुनीता जी .. विषय हम महिलाओं का चुना है !!

  सुनीता शानू

7 November 2009 at 20:07

शुक्रिया महफ़ूज भाई, डॉक्टर झटका आपको भी शुक्रिया। अब आगे क्या करना होगा बताईये।

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 20:08

@ सुनीता शानु

आपने बहुत रिस्क ली, सिर्फ़ १५ सैकिंड पहले आपने जवाब लाक करवाया है. आपकी किस्मत काफ़ी तेज निकली. बधाई.

धन्यवाद

  POTPOURRI

7 November 2009 at 20:08

kiron kher:(

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 20:09

अब कल 05:59 शाम को रामप्‍यारी के सवाल पर आ जाइएगा .. यही करना है आपको !!

  सुनीता शानू

7 November 2009 at 20:09

अरे किस्मत तो भाई लोगो से चली है वरना...मै तो कम्प्यूटर बंद करके काम में लग गई थी...:)

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

7 November 2009 at 20:10

कल का विषय तय हो चुका है. अब आप अपना खेल जारी रख सकते हैं.

शुभकामनाएं.

  Mahfooz Ali

7 November 2009 at 20:10

Di..........अब कल 05:59 शाम को रामप्‍यारी के सवाल पर आ जाइएगा .. यही करना है आपको !!

  सुनीता शानू

7 November 2009 at 20:12

ठीक है संगीता जी. मगर रामप्यारी जी को कैसे पता चलेगा मैने किस चीज़ के बारे में सोचा है। वो कोई सरल सा सवाल न कर लें...:( और आप तपाक से जवाब दे देंगी...:(

  Dipak 'Mashal'

7 November 2009 at 20:13

Chitrangada Singh('Hazaaron Khwahishen aisi' fame)

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 20:15

सुनीता जी
मैं तीन महीनों से देख रही हूं .. 5 मिनट के अंदर जब खोलती ही हूं .. तबतक पंद्रह कमेंट हो चुके होते हैं .. आज पहली बार पकड पायी मैं .. और आज आपको गुर भी सीखा दिया .. फिर भी मेरे ही विरूद्ध आप अनशन पर बैठ रही है .. तो मैं क्‍या करूं ??

  सुनीता शानू

7 November 2009 at 20:18

हहहह अरे अरे आप बुरा मत मानियेगा। क्या करें पहेली का जवाब आ चुका न आपसे थोडी मस्ती कर रहे हैं बस..:)

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 20:21

इसमें बुरा मानने की क्‍या बात .. समझ रही हूं आपकी बात को मैं अच्‍छी तरह !!

  सुनीता शानू

7 November 2009 at 20:25

अच्छा भई अब सभी को अलविदा, शुभरात्री...कल मिलेंगे आप सभी कल की पहेली में जीतने का सपना अवश्य देखें...गुड लक
विशेष कर मेरे छोटे भाई महफ़ूज अली को ढेर सारी शुभकामनाऎ...

  संगीता पुरी

7 November 2009 at 20:27

शुभ रात्रि .. सबों को शुभकामनाएं !!

  POTPOURRI

7 November 2009 at 20:39

jyada der dekhne se चित्रांगदा सिंग lagti hai.

  सैयद | Syed

7 November 2009 at 22:11

एकता कपूर

  अजय कुमार झा

8 November 2009 at 11:43

बिल्लन ,ये पक्का चित्रांगदा सिंह ही हैं ....अरे इसलिये नहीं कि मैं पहचानता हूं ...भई जब संगीता जी ने सिकंदर खेर जैसे सुपर स्टार को एक बार में ही पहचान लिया था ..तो फ़िर तो ये तो उनसे भी बडी सुपर स्टार हैं ...मैंने तो सुना है कि भारत की तरफ़ से इन्हें ही पहला औस्कर मिला था ...करीब करीब बीस फ़िल्म फ़ेयर ...और तकरीबन पचास फ़िल्मी अवार्ड भी जीते हैं ...वो कौन सी पिक्चर थी यार .....नाम नहीं याद आ रहा बस ....मगर एक पिक्चर तो की थी इन्होंने .....कौन सी ...कौन सी ...उंउंउंउंउं...उफ़्फ़ कित्ता सोचना पडता है बिल्लन ....?जो भी थी चित्रांगदा ही है

  Murari Pareek

8 November 2009 at 12:19

कृपया शनिवार रविवार मुझे माफ़ करदेवें आना संभव होता है तो मैं हाजिर हो जाउंगा वरना शनिवार रविवार बीजी रहता हूँ!!! दाग्धर साब रामप्यारी से दो दिन की छुटी मजूर करवा दें!!!

Followers