फ़र्रुखाबादी विजेता (109) : उडनतश्तरी

"खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी" (109) के सही जवाब का चित्र यह रहा !



और फ़र्रुखाबादी विजेता हैं उडनतश्तरी बधाई!


Udan Tashtari said...
हिंट ने काम बना दिया.

लिंक देने का बहुत मन कर रहा है लेकिन २५ टिप्पणियाँ...बाप रे!!


ये एक चिड़िया मगर के बच्चे को चोंच में दाबे है. :)

10 November 2009 20:51


इसके अलावा प.डी.के. शर्मा वत्स ने भी सही जवाब दिया, आप सबको बहुत बधाई और शुभकामनाएं. आज की मजेदार बात यह रही की डाँ. झटका ने तीन बार मगर..मगर..मगर..अपने वाक्यों मे कहा ..पर अफ़्सोस किसी ने ध्यान नही दिया. पहेली की यही विशेषता होती है कि आपको हिंट को समझने की कोशीश करनी चाहिये.

आज शाम की पहेली प्रस्तुत करेंगी हमारी सम्माननिय अतिथि सु. सुनिता शानु. तो इंतजार किजिये शाम ६ बजे का.

अगला फ़र्रुखाबादी सवाल आज शाम को ठीक ६ बजे. तब तक रामप्यारी की तरफ़ से नमस्ते.



Powered By..
stc2

24 comments:

  HEY PRABHU YEH TERA PATH

11 November 2009 at 16:06

samirji ko बधाई!

  HEY PRABHU YEH TERA PATH

11 November 2009 at 16:09

प.डी.के. शर्मा वत्स ने भी सही जवाब दिया बधाई... इसलिए बधाई !
और गलत जवाब वालो को भी बधाई के शाथ
शुभकामना आगे पहेली मे सफ़ल बने.

  ललित शर्मा

11 November 2009 at 16:10

समीर जी बधाई हो? ले्किन आज मजा आयेगा,
सवाल बाहर से है। उसका लिंक नही मिलेगा- हा हा हा मिलते हैं 6 बजे।

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

11 November 2009 at 16:11

समीर लाल जी को बधाई......
वैसे हमने तो इनसे पहले ही "मगरमच्छ का बच्चा" कहा था...
लगता है कि भ्रष्टाचार यहाँ भी अपने पाँव पसार चुका है.. देखते हैं कोई फोकटिया वकील मिले तो इस निर्णय के खिलाफ अपनी अपील दखिल कराएँ :)

  HEY PRABHU YEH TERA PATH

11 November 2009 at 16:14

एक सुचना : पहेली जितने का अवसर :
एक सप्ताह तक समीरजी पहेलियो का उपवास रखने वाले है अत: वो एक सप्ताह किसी भी पहेली का सही जवाब नही देगे मतलब वो जीत नही पायेगे.. तो समझो अपनी तो निकल पडी है भिडू ! हा...हा...हा....

  डाँ. झटका..

11 November 2009 at 16:26

@ पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

आपने छिपकली या मगरमच्छ जैसा कहा था औरुसके बाद आपने जवाब बदल कर सलामनाडर लिखा..जिस पर ज्ञानप्रकाश फ़ेंकने की अपीळ आपसे समीर जी ने की थी. जिस पर ज्ञानप्रकाश आपने अभी तक नही फ़ेंकी. कृपया उस पर अभी भी ज्ञानप्रकाश फ़ेंकिये कि ये सलामनाडर किसे कहते हैं.

आपको नही जिताने का कारण आपको शायद प्रयाप्त लग रहा होगा?

-धन्यवाद

  संगीता पुरी

11 November 2009 at 16:41

समीर जी को बधाई .. पर कल आपलोगों को हिंट कब मिला .. मुझे तो कोई हिंट विंट नहीं दिखा .. चश्‍में का पावर बदलवाना होगा क्‍या !!

  Murari Pareek

11 November 2009 at 16:42

badhaai ho ji sameer ji pure chidimaar !! ha..ha..ha...

  संगीता पुरी

11 November 2009 at 16:42

और HEY PRABHU YEH TERA PATH का कहना सही है क्‍या .. समीर भाई अब पहेली में भाग नहीं लेंगे ??

  Murari Pareek

11 November 2009 at 16:43

bhai jhatkaa ne kahaa to tha magar magar magar par is agar magar ka chakkar samajh me nahi aayaa!!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

11 November 2009 at 16:58

पहली बात तो ये कि हमने मगरमच्छ नहीं बल्कि मगरमच्छ का बच्चा कहा था.....ओर दूसरी बात ये कि हमने कोई जवाब नहीं बदला..."सलामनाडर" तो हमरे यहाँ राम-राम,नमस्कार,प्रणाम के जैसे संबोधन के तौर पर प्रयोग किया जाता हैं :)

  Murari Pareek

11 November 2009 at 17:04

पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
चिडिया ने मुँह में एक Salamander को पकड रखा है जिसे कि उदरस्थ करने से पूर्व वो अभी अन्नपूर्णा मंत्र का जाप कर रही है !

10 November 2009 19:42
pandit ji kaa comment ye thaa baad mein

  Murari Pareek

11 November 2009 at 17:05

Salamander gigit hota hai panditji

  Murari Pareek

11 November 2009 at 17:06

girgit !!!

  makrand

11 November 2009 at 17:14

@ प.डी.के.शर्मा "वत्स"

आज डाकटर को आपको पेनाल्टी लगायेगा ही लगायेगा.:) मुरारी भाई डाक्टर झटका को खबर करवाईये.:)

  Murari Pareek

11 November 2009 at 17:16

ha..ha..pandit ji shani ka dhaiyaa chal raha aap par!!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

11 November 2009 at 17:16

@मुरारी लाल जी,
हमारे यहाँ तो मगरमच्छ के बच्चे को भी Salamander कहा जाता है :)

  POTPOURRI

11 November 2009 at 17:37

समीर जी बधाई हो बधाई हो

  Murari Pareek

11 November 2009 at 17:51

sikkim me patthar ko jo kahaa jataa hai use agar rajsthaan me kahein to anarth ho jaye ha..ha..isliye spashtikaran jaruri hai,

  Murari Pareek

11 November 2009 at 17:53

sameerji ke kadam hatrick ki taraf badh rahe hain roknaa hogaa !!!! jor lagaa ke || sunita ji sapmpark sadhanaa hoga!

  Udan Tashtari

11 November 2009 at 17:54

खैर, जो जीता सो जीता..अतः बधाई ले लेते हैं. पंडित जी सह-विजेता रहे-उनको बधाई. आज और कल पर हैट्रिक टिकी है. :)

  Udan Tashtari

11 November 2009 at 17:55

अगरबत्ती जल चुकी है, पूजा चल रही है...:)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

11 November 2009 at 17:58

@मुरारी लाल जी,

अब क्या पता मगरमच्छ एक बच्चे को भी किसी जगह भिन्न वस्तु/पदार्थ/जीव के नाम से जाना जाता हो.....तो क्या अपने हरेक जवाब के साथ स्पष्टिकरण चिपकाया जाए....फिर तो किसी भी पहेली का जवाब देने के लिए अपने पास एक डिक्शनरी रखनी पडेगी :)
रामप्यारी/डा.झटका सभी प्रतिभागियों को एक एक डिक्सनरी उपलब्ध करवाई जाए :)

  AlbelaKhatri.com

11 November 2009 at 20:38

badhaai

samirlal ji !

bahut bahut badhai !

Followers