खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (115) : रामप्यारी

हिंट की तस्वीर रात्रि 9:00 बजे


यह तस्वीर हिंट के बतौर आज रात ९:०० बजे लगाई गई है!


हाय….आंटीज..अंकल्स एंड दीदी लोग..या..दिस इज मी..रामप्यारी.. इससे पहले कि हम आज का "खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी" शुरु करें, मैं आपको बतादूं कि आज का सवाल प्रस्तुत कर रहें हैं हमारे सम्माननिय अतिथि ललित शर्मा अंकल.

जैसा कि कल देवेंद्र अंकल ने वाक ओवर दिया और उसको लपकने वाले भाग्यशाली रहे ललित शर्मा अंकल. आपने आज का अथिति आयोजक बनने का गौरव प्राप्त किया. तो आईये ललित अंकल... आपकी पहेली प्रस्तुत किजिये.



भाईयों और बहनों आप…सभी को रामराम….जैसा कि आप जानते ही हैं..मैं ललित शर्मा …और मैं आपके समक्ष प्रस्तुत करने जा रहा हूं आज का खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी का ११५ वां एपिसोड.

सारे नियम कानून कायदे पहले जैसे ही हैं. सिर्फ़ एक बदलाव है कि मैं आज इस पहेली में हिस्सा नही लूंगा. क्योंकि आज मैं इस पहेली का आयोजक हूं. आपको पुर्ववत डाँ. झटका हिंट देते रहेंगे.


यह रहा खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी का ११५ वां सवाल



जैसा कि आप कि आप जानते हैं यह पहेली फ़िल्म वर्ग से है. बस इनका नाम बताना है. है ना कितनी आसान पहेली?




इस सवाल का जवाब कल शाम ४:०० बजे घोषित किया जायेगा. डाँ. झटका आपकी मदद के लिये आपके साथ ही रहेंगे. अगर जरुरत लगे तो मैं और रामप्यारी मैम भी हैं ही.

तो अब शुरु करिये इस सवाल को सुलझाना. आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं.



Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजा

180 comments:

  Varun Kumar Jaiswal

16 November 2009 at 18:00

bhagwan dada

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 18:00

मनमौजी

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 18:00

सबो को राम राम !!

  Pt. D.K. Sharma "Vatsa"

16 November 2009 at 18:01

गिरीश कर्नाड

  Murari Pareek

16 November 2009 at 18:02

SHETTY

  Varun Kumar Jaiswal

16 November 2009 at 18:02

Om Prakash,

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:03

सभी को राम राम -आज की पहेली मे स्वागत है
मेरे को सिर्फ़ साक्षी भाव से देखना बस है। ऐसा रामप्यारी मेडम का आदे्श है।

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:05

समीर भाई राम-राम

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:05

संगीता जी राम-राम

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:06

मुरारी जी राम-राम

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:06

वरुण कुमार राम राम

  Varun Kumar Jaiswal

16 November 2009 at 18:07

ललित शर्मा RAM RAM JI

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:07

"वत्स" महाराज गोड़ लागी, आज का भविष्य क्या बता रहा है? मुरारी का क्या होगा?

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 18:08

राम राम! सभी को!!

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:09

ओ हो देवेन्द्र जी दिखाई नही दिये कहीं पार्क मे तो पेड़ को ओट मे नही बैठे हैं?
देवेन्द्र जी राम-राम

  Anonymous

16 November 2009 at 18:09

sabhi ko namaskar.
rakesh roshan

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:11

नमस्कार पाट पुरी जी

  Pt. D.K. Sharma "Vatsa"

16 November 2009 at 18:12

भई ललित जी, मुरारी जी पर तो शुक्र सवार है..उनका जीतना तो नामुमकिन है ।
समीर जी जीत सकते हैं..क्योंकि उनका शनि अब उतर चुका है :)

  देवेन्द्र पाण्डेय

16 November 2009 at 18:12

naved jaffery

  Pt. D.K. Sharma "Vatsa"

16 November 2009 at 18:14

ग्रह दशा बता रही है कि इस पहेली में आज कोई "बकरा" बनने वाला है :)

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:14

ओहो आज आपका नाम बदल गया है? आपने नामकरण संस्कार के मालपुए बचा लिए, निमंत्रण होता तो हम भी पहुंचते।

  देवेन्द्र पाण्डेय

16 November 2009 at 18:16

मुररी जी शेट्टी तो हिरोइन है!

  Alpana Verma

16 November 2009 at 18:16

Kamal Hasan [Movie -Hindustani]

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:16

@ वत्स जी-शनि तो आपका ही चेला है जहां मन आए वहां चढा दो-हा हा हा

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:16

@ वत्स जी-शनि तो आपका ही चेला है जहां मन आए वहां चढा दो-हा हा हा

  Alpana Verma

16 November 2009 at 18:18

Kamal hasan

  Alpana Verma

16 November 2009 at 18:18

Sabhi ko meri bhi Namste!

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:19

@ मुरारी जी, आज 3555 टिप्पणी की सजा पड़ सकती है अगर फ़ौजी की आंट मे आये तो-हा हा हा

  Murari Pareek

16 November 2009 at 18:19

are bhaai shetty puraanaa gundaa tha!!! lalit ji !!!

  Alpana Verma

16 November 2009 at 18:19

aur shubh ratri :)..

ek hi jawab .no change.

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:19

@ अल्पना जी नमस्ते

  Murari Pareek

16 November 2009 at 18:20

sajaa aur nahi ab

  पी.सी.गोदियाल "परचेत"

16 November 2009 at 18:23

जबाब तो मुझे पता नहीं, क्योंकि सोहरत की दुनिया की कम ही जानकारी रखता हूँ इसलिए मेरी भी सबको राम-राम !

  पी.सी.गोदियाल "परचेत"

16 November 2009 at 18:25

ललित जी को भी मेरी राम राम , मुछे कमाल की छटा बिखेर रही है ताऊ आज :)

  पी.सी.गोदियाल "परचेत"

16 November 2009 at 18:25

मुझे मालूम है २१ वाला दंड भुगत रहे हो !

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:26

पी.सी.गोदियाल जी राम-राम

  Anonymous

16 November 2009 at 18:26

rakesh roshan nahi hai mere khayal se.
sachin khedekar jo filmo se jyade tv serials me kaam kar chuke hai.
to mera jawab hai sachin khedekar.
shubh ratri

  पी.सी.गोदियाल "परचेत"

16 November 2009 at 18:27

आज अपने समीर जी क्यों इतने उदास उदास है सिर्फ दो ही टिपण्णी दी अब तक ?

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:27

@ गोदि्याल जी आज तो हम आयोजक हैं सिर्फ़ साक्षी भाव से देखना है, आज आप खेलिए।

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 18:28



आदरणीय ....समीर जी....नमस्कार....
ललित जी....राम.....राम....
संगीता जी....नमस्ते...
potpourri जी ....नमसते....
अल्पनाजी .....नमस्ते...
सुनीता दी..... नमस्ते........
मुरारी जी.....जय हिंद....
डॉ. झटका.... GUD EVENING....

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 18:29



गोदियाल जी.....नमस्कार

  पी.सी.गोदियाल "परचेत"

16 November 2009 at 18:29

महफूज भाई को भी रामराम बस एक आपकी ही कमी खल रही थी !

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 18:29

पंडित जी.... नमस्कार.....

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 18:30

यह कुलभूषण खराब अंडा है.....

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:30

@ स्वागत है महफ़ुज भाई -मुरारी जी तो आज 3555 टिप्पणी के डर से फ़रार हो गये लगता है।

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 18:31

ओह! सॉरी......... माफ़ करियेगा...... यह कुलभूषण खरबंदा है...

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 18:33

मुरारी जी ....तो आज वाकई में भगे हुए हैं......

  पी.सी.गोदियाल "परचेत"

16 November 2009 at 18:35

क्या कहा, विलेन वो भी जेंट्स की फोटो चेपी है इसलिए ये लोग उदास है ?

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 18:36

गोदियाल जी.... आप सही कह रहे हैं...

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 18:37

सभी को मेरी भी राम-राम। ओह्ह मै जब आई दो ही टिप्पणी थी यहाँ अड़ौस-पड़ौस में पूछने गई की कौन हीरो की पिक्चर है...सारा मटिया-मेट कर दिया जी। भगवान दादा ही लगता है जी।

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 18:38

ललीत भाई रोज तो टेड़े होकर फोटो दिखाते थे आज ऎसे लग रहा है जैसे कोई गढ़ जीत कर आये हो।

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 18:38

Sunita di.......welcome......

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:39

@ सुनीता जी राम-राम आज तो थे घणी लेट हो गयी,

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 18:39

ऑफिस वाले जान लेकर मानेंगे आज..कित्ती बार बता दिया कि पहेली शुरु हो गई मगर फोन छोड़ ही नहीं रहे.

  देवेन्द्र पाण्डेय

16 November 2009 at 18:41

शर्मा जी नमस्कार
ये कैसी फोटो भेज दी आपने गूगल में खोज कर हार गया
आपको महारत हासिल है

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 18:41

कोई एक कप चाय पिला दो जी..सर दुख गया फोन पर....

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 18:42

हाँ भाई लगता है बाकि सब घात लगाये बैठे होते हैं की कब रामप्यारी पहेली फ़ेंके और कब अपनी झोली में लपके...:)

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:42

@ सुनीता जी-आज तो रामप्यारी बोली के यो टेढो काम कोणी चालेगो- तो के करता सीधो होणो हो पड़यो, नही तो राम प्यारी कर देती। हा हा हा

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 18:42

आज सबको चाय मेरी तरफ़ से हैं...चाय के साथ समोसा भी है...खाओ खाओ...

  पी.सी.गोदियाल "परचेत"

16 November 2009 at 18:43

@ समीर जी,
ललित जी पान खिला सकते है, चाय नहीं मिलेगी, मुनिसिपल्टी से आज पानी नहीं मिला

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 18:44

म्हारली सासू बोली की बेटा इण ब्लॉगरियां नै जम कै चा पिला...भाया मन का लाडू फ़िका भी क्यूँ...?

  Murari Pareek

16 November 2009 at 18:45

yeh shetty hi hain jinkaa naam shetty hi hai jo drem girl me villain the!!!

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 18:45

तो जी चाय हाजिर है...जैको सिर दुख उणकै लिये भी और जैण को नई दुखै बै तो जरूर पिओ...:)

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 18:46

पारीक भाई ये शेट्टी नही शेठ्ठी होगा...हहहह

  देवेन्द्र पाण्डेय

16 November 2009 at 18:46

सबको राम-राम
२घंटे बाद मिलुंगा
मेरा पहले वाला उत्तर ही सही लग रहा है

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:46

@ देवेन्द्र जी उस दिन हम बेचैन आत्मा के ऐसे ही नही गये थे? ये तश्वीर उसी ने हमे दी है -इसलिए हम आत्माओं से भी सम्पर्क रखते हैं वक्त पे काम आती हैं, हा हा हा

  Murari Pareek

16 November 2009 at 18:47

seth aur sethi ?? yaani seth se badaa??? sunitaji!!

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 18:47

महफ़ूज भाई कैसे हो? समीर भाई राम-राम संगीता जी थोक देऊँ

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 18:48

गलत बात पारीक भाई सेठ से बड़ी तो सेठाणी होवे है...

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 18:49

@ सु्नीता जी, भगवान इसी सासु सबणै दे- कहता नै सुणता नै और हुंकारु भरता नै।

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 18:51

हैल्लो एवरी वन...नमस्कार!

उडनतश्तरी आप कल का विषय लाक करवा दिजिये. या आप चाहे तो आपका प्रतिनिधी नामिनेट कर दिजिये.

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 18:52

क्‍या हुआ सुनीता जी

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 18:54

चाय बणी थी संगीता जी

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 18:54

आज सुनीता जी सबको चाय पिला रही हैं क्‍या ?

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 18:54

@सुनीता जी,

आपकी चाय तो घणी टेस्टी लगी. और समोसां का तो कहणा ही के? पर यो बेरा ना पाट्या के यो चाय थमनै बणाई की थारी सासू जी नै.

वैयां थारी सासूजी न म्हारो परणाम कह दियो.
रामराम

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 18:55

मैं तो इंतजार ही कर रही थी

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 19:00

देवेन्द्र भाई विषय देना चाहोगे क्या..कल आपका हिस्सा हम ले उ़डे थे...

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 19:01

चाय-समोस!! ह्म्म!! मजा आया! अब वो पान ले आओ ललित भाई १२० और किमाम डलवा देना जरा हा हा!!

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 19:05

@ समीर भाई आज पान की दुकान का चार्ज जी के अवधिया जी के पास है, आज मेरी छुट्टी है, आड़र दे दिया है आ ही रहा होगा और कि्सी भाई या बहन को पान खाना है तो बता दें। अभी हाजिर हो जायेगा।

  Murari Pareek

16 November 2009 at 19:06

jhatke ji sahi jawaab aayaa ki nahi!!!

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 19:08

murari bhai,
क्या लॉक करवायें कल के लिए??

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 19:11

सही जबाब तो दूसरे ही पल आ गया था-from the office of डॉ झटका

  Murari Pareek

16 November 2009 at 19:12

koi alag sochiye!!!sameerji!!

  Alpana Verma

16 November 2009 at 19:12

Sameer ji..Folk Dances of India..lock karwa den..

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 19:12

मुरारी पारीक

हमारा नाम डाँ. झटका है ना कि झटके जी. हम आज कुछ नही बता सकता. आज का सारा चार्ज ललित शर्मा के पास है. उन्हीं से पूछिये.

आज मेरा काम सिर्फ़ सिर्फ़ विषय तय करना है. बाकी सारा काम ललित शर्मा जी का है.
धन्यवाद

  Alpana Verma

16 November 2009 at 19:12

Murari ji ka bukhaar kaisa hai?

  Murari Pareek

16 November 2009 at 19:13

jhatkaa ji key board sasuri galti karti hai!!!

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 19:13

वैसे मैं क्यों बताऊंगा कि अभी तक कोई सही जवाब के आसपास भी नही पहुंचा है.

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 19:13

वैसे मैं क्यों बताऊंगा कि अभी तक कोई सही जवाब के आसपास भी नही पहुंचा है.

  Murari Pareek

16 November 2009 at 19:14

abhi thik hai sunitaji !!!

  Alpana Verma

16 November 2009 at 19:15

ye 'Lalit ji' ki hi photo hai -
-jab unhone college mein play kiya tha...:)..tab ki--

  Alpana Verma

16 November 2009 at 19:15

aap theek nahin hain Murari ji--tabhi Alpana ko sunita ji bula rahe hain--ha ha ha!

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 19:17

अल्पना जी आप लॉक करा दिजिये.

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 19:18

डॉक्टर झटका जी चाय तो म्हे ने ही बनाई है मगर चीनी सासु माँ ने मिलाई है। अब नेट पर तो झाला मार चाय ही बणाई है। जै सगळा म्हारै ऑफ़िस आओ तो पिलावा साचळी चा।

  Alpana Verma

16 November 2009 at 19:18

OK-Shukriya...'bharat ke lok nirty'
subject theek rahega..lock kar dijeeye--[on behalf of Sameer ji]

  Alpana Verma

16 November 2009 at 19:19

lekin Dr.Jhtka mujhe ayojak nahin banaNa..main evening mein online nahin aa sakti..:)

  Mahfooz Ali

16 November 2009 at 19:19

हमारे यहाँ बत्ती चली गयी थी... इसलिए बहुत कुछ मिस कर दिया.....
हम कह रहा हूँ न कि यह कुलभूषण खराब अंडा है...

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 19:20

अरे कोई है मुरारी भाई को पैरासिटामोल देदो...डॉक्टर झटका एक इंजेक्शन ही लगा दो...देखो तो बुखार हुआ जाता है...:( अल्पना को सुनीता कहने लगे हैं...

  Alpana Verma

16 November 2009 at 19:20

-folk dances of india--kal ke liye..theek rahega na??

  देवेन्द्र पाण्डेय

16 November 2009 at 19:21

डा० झटका धन्यवाद।
सही जवाब नाना पाटेकर है।

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 19:21

@ अल्पना जी-आप मे्रा ही नाम लाक करवा दो वैसे भी मैने फ़िल्म की है "एक फ़ौजी की प्रीत" हा हा हा

  Alpana Verma

16 November 2009 at 19:21

Wohi to Sunita ji..wohi to kah rahi hun--tippani bukhaar chadha hua hai--

  Mahfooz Ali

16 November 2009 at 19:22

और मुरारी जी...आपकी तबियत को का हुआ? एक ठो दवा बता रहे हैं ..... लेलिजियेगा....

एक गोली.. ब्लॉगरफ्लैम.... कि सोने के बाद और जागने से पहले खा लीजियेगा....ठीक हो जायेंगे....
--

  Alpana Verma

16 November 2009 at 19:22

sahi bilkul sahi--yah Lalit sharma ji ki photo hai..aaj ayojak bhi hain ...final jawab!

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 19:22

डाक्दर झटका की बात का वि्श्वास किया जाए तो कोई भी जवाब के पास भी नही फ़टका है, आज की पहेली मे मजा आ रहा है।

  Alpana Verma

16 November 2009 at 19:23

Murari ji gaye hain Khana baNane..:)
--kal wale kashmiri pakwaan banaa rahe hain..kitaab se dekh dekh kar..

  Mahfooz Ali

16 November 2009 at 19:23

सुनीता दी..... मैंने दवाई बता दी है...

दी.... मेरी चाय कहाँ है....? आपने बताया नहीं कि कल कि मेरी चाय कैसी थी...?

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 19:29

@ अल्पना जी मुरारी जी को बुखार आज की पहेली से ही चढा है, उनको अगर लिंक मिल जाता तो वो हम सबको ही बुखार चढा देते।

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 19:29

महफ़ूज भाई आपके लिये चाय बाय कुरियर आ रही है...देखना जरा कुरियर वाला ही न पी जाये...

  Mahfooz Ali

16 November 2009 at 19:30

di.... abhi aaya....gate ki call bell baji hai.... lagta hai courier wala aa gaya.......

  Anonymous

16 November 2009 at 19:32

अरे... ये तो 'वो' है..

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 19:34

बीरबल

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 19:36

यही बीरबल फिल्म आसपास में भी हा सन १९८१ में. :)

  Murari Pareek

16 November 2009 at 19:37

ok to mera jawaab lock kijiye sitar wadak ali akbar khan!!!!

  Murari Pareek

16 November 2009 at 19:38

sorry sarod wadak ali akbar khan

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 19:40

क्‍या हुआ भई .. हिंट नहीं आया क्‍या अबतक ?

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 19:40

डाक्टर झटका मै न कहती थी कि यहाँ हम पहेली कम एक दूसरे के हाल पूछने ज्यादा आते है...अभी तक क्या एक भी जवाब सही नही मिला?

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 19:41

वाह मुरारी जी - काळयो कुद पड्यो मेळा मे, सायकिल पिंचर कर लायो जय हो, कठे चला ग्या था थ्हे।

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 19:42

सही कहा मुरारी जी ने .. अली अकबर खान ही हैं !!

  सुनीता शानू

16 November 2009 at 19:43

अच्छा भई राम राम म्हे तो चाळां

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 19:44

वैसे मैं क्यों बताऊंगा कि अभी तक कोई सही जवाब के आसपास भी नही पहुंचा है.

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 19:48

@अल्पना जी

आपके द्वारा बताया गया विषय कल के सवाल ११६ के लिये लोक किया जाता है.

कोई कल के लिये आयोजक बनना चाहेगा?

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 19:50

ललित शर्माजी .. आपको बकरे बनाने की छूट है आज क्‍या ??

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 19:51

ललित शर्मा

सही जवाब अभी तक नहीं आया है? यह सही बात है या आप किसी को बकरा बनाने के चक्कर मे हैं?

स्थिति स्पष्ट की जाये.

आज्ञा से रामप्यारी मैम

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 19:52

@ संगीता जी आज तो मेरे को बहुत मजा आ रहा है, बकरे बने बनाए आ रहे हैं रेड़िमेड-हा हा हा

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 19:53

अभी तक किसी का सही जवा्ब नही आया है, आएगा तो बकरा अपने आप दिखाई देगा- हा हा हा

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 19:54

हम जानता हूँ......... हमरा जवाब सही है.... हम बकरा नहीं बनूँगा....

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 19:55

रामप्‍यारी ललित शर्मा जी को अधिक छूट नहीं दिया जाए .. अनुभव की कमी है उनमें .. सारा गुड गोबर कर देंगे !!

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 19:56

पहली बार वे आयोजक बने हैं .. कोई अनुभव नहीं उनको !!

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 19:57

ललित शर्मा

आपको जब भी लगे आप हिंट देकर खेल आगे बढा सकते हैं. अगर आप चाहे तो मुझे कहिये मैं हिंट दे दूंगा.

और सभी से को सूचित किया जाता है कि अभी तक सही जवाब नही आया है. अगर आपको हिंट चाहिये तो आप आयोजक महोदय को कहिये.

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 19:59

@ संगीता जी-आज रामप्यारी ने मुझे अपनी प्रतिभा दिखाने का पुरा मौका दिया है-इसलिए आज मुझे अपनी काबिलियत साबित करनी है और इनकी गुड़ बुक के लिए नम्बर भी बनाने है।

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 20:01

OK! hum answer change karta hoon.... yeh aamir khan hai.... wo abhi beech bahut baar ganja hua tha....aur yeh fotu kam megapixel ke camere se kheencha gaya tha...islie yeh fotu saaf nahi aaya hai...

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 20:01

हां! यदि आपको कोई समस्या है तो 21 साल के तजुर्वेकार डाकदर झटका से हिंट ले सकते हैं।

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 20:03

हां! यदि आपको कोई समस्या है तो 21 साल के तजुर्वेकार डाकदर झटका से हिंट ले सकते हैं।

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 20:03

मैं तो कब से हिंट की गुहार लगा रही हूं .. ऐसे व्‍यक्ति को आपने पावर दे रखी है .. पूरा फायदा उठा रहे हैं !!

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 20:03

Dr. Jhatka plz prescription ab de hi dijye...

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 20:04

अभी तक किसी का सही जवा्ब नही आया है,

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 20:12

हिंट के लिये तैयार रहें.

  ब्लॉ.ललित शर्मा

16 November 2009 at 20:12

@ डाक्दर झटका हिंट दे दिजिए।

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 20:16

ये बहुत ही प्रसिद्ध एक्टर और प्रोड्युसर रहे हैं..इसी साल इनका देहांत हुआ है. इनकी एक फ़िल्म का डायलोग तो आज तक सबकी जुबान पर है.

  Br.Lalit Sharma

16 November 2009 at 20:20

ये लो भाई आ गया इनका हिंट, अब लगाओ जो्र

  Anonymous

16 November 2009 at 20:21

feroz khan!!!!!!!!!

  Anonymous

16 November 2009 at 20:25

Dr.jhataka aap logo ko bakra to nahi bana rahe?
ye to sachin khedekar hi hai.

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 20:27

mujhe bhi lag raha hai ki main bakra ban raha hoon......

  Br.Lalit Sharma

16 November 2009 at 20:27

आप लोगों को दो-दो हिंट दिये गये हैं अब आप लोग सवाल को ध्यान से देखे और हिंट की तरफ़ ध्यान देकर सही उत्तर तक पहुंचे,

  makrand

16 November 2009 at 20:35

अरे ललित जी को क्या होगाया? इत्ती सी देर मे सरदार जी बन गये क्या? भाईयों आज लगता है ये बलि का बकरा बना कर ही छोडेगें किसी को.:)

  Br.Lalit Sharma

16 November 2009 at 20:39

@ आओ तुस्सी बी मकरंद जी मै तो तुहानु ही उडीक रह्या सी, प्रावा दी माड़ी जई हेल्प करो तुस्सी।

  मिस. रामप्यारी

16 November 2009 at 20:40

जरुरी सूचना :

इस सवाल का जवाब नही आया है. और आप जवाब बदलकर ट्राई कर सकते हैं कोई भी बकरा नही बनेगा. मैं यह विश्वास दिलाती हूं.

आप लोग फ़िरोज खान बता रहे हैं पर वो नही है. क्युंकि अगर आप हिंट को ध्यान से देखेंगे तो यह बताया गया है कि इनकी एक फ़िल्म का डायलोग सुपर डुपर हिट हुआ था..जो अक्सर आप भी खुश होने पर आज भी बोलते होंगे.

फ़िरोज खान साहब का कोई डायलोग इतना फ़ेमस नही हुआ था.

शुभकामनाएं.

  देवेन्द्र पाण्डेय

16 November 2009 at 20:40

da jhhataka ke hint ke hisab se to
Firoz khan sahi javab hai

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 20:42

amrish puri

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 20:42

mogambo khush hua...

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 20:42

par inki death isi saal nahi hui hai

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 20:43

isliye yeh galat bhi ho saktahai

  Br.Lalit Sharma

16 November 2009 at 20:43

आप लोगों को दो-दो हिंट दिये गये हैं अब आप लोग सवाल को ध्यान से देखे और हिंट की तरफ़ ध्यान देकर सही उत्तर तक पहुंचे,

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 20:48

yeh tamil film actor murali bhi ho sakte hain.... unka bhi dehnaat isi saal hua hai

  Br.Lalit Sharma

16 November 2009 at 20:50

@ महफ़ुज भाई ये प्रश्न हिंदी फ़िलमों से ही है।

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 20:55

इंतजार किजिये...इसका एक और फ़ोटो आज की पोस्ट मे लगाया जारहा है. शायद है आप पहचान पायेंगे.

  डाँ. झटका..

16 November 2009 at 21:01

हिंट की दुसरी तस्वीर लगा दी गई है!

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 21:01

yeh to sure ho gaya hai.... ki ab bakra ban raha hoon....

  Anonymous

16 November 2009 at 21:02

bakare ke saath saath ullu banaya ja raha hai!!!!!!

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 21:02

ab final answer...yeh feroz khan hai.... lockiya dijiye....

aaj ki paheli ne chai bhi nahi peene di... nashta bhi nahi kya.... ab seedha khaana khata hoon chal ke....

  डॉ. महफूज़ अली (Dr. Mahfooz Ali)

16 November 2009 at 21:03

jee...ekdum sahi kah rahin hain aap....

kal ka bakra main hi hoon....

  Anonymous

16 November 2009 at 21:03

kajol ke pappa

  Anonymous

16 November 2009 at 21:07

pata nahi bakri ya ulluan mera jawab bhi feroz khan hai????????

  Pt. D.K. Sharma "Vatsa"

16 November 2009 at 21:09

जोगिन्दर

  Br.Lalit Sharma

16 November 2009 at 21:10

@ रेखा जी दुसरे हिंट का भी चित्र लगा दिय गया है,
देख लिजिए, और मेरा गेटअप बदलना भी हिंट मे शामिल है। अब सब को जोड़ लिजिए।

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 21:11

अमरीश पुरी !!

  Anonymous

16 November 2009 at 21:12

pratiyogiyo ko bakara banane ki chut sirf sahpratiyogiyo ko hi hai sanchalak ya phir ayojak ko nahi aisa mera mat hai:)

  Br.Lalit Sharma

16 November 2009 at 21:13

अब जल्दी सही जवाब दिजिए मुझे भी पान की दुकान मे बैठना है-अवधिया जी सुबह से बैठे हैं नाराज हो जाएंगे।

  Br.Lalit Sharma

16 November 2009 at 21:17

@ रेखा जी मै किसी को बकरा नही बना रहा हुँ, रामप्यारी मैम ने आज डयुटी दे दी उसका निर्वहन कर रहा हुँ, अगर आपको लग रहा है कि बकरा बना रहा हुँ तो मै चलता हुँ-राम राम

  Anonymous

16 November 2009 at 21:27

jagdeep

  Anonymous

16 November 2009 at 21:27

This comment has been removed by a blog administrator.
  Pt. D.K. Sharma "Vatsa"

16 November 2009 at 22:03

15 जून 2009 के दिन इस कलाकार की मृ्त्यु पर समीर लाल उडानतश्तरी एक जगह श्रद्धान्जलि भी दे चुके हैं । कमाल है! फिर भी नहीं पहचान पाए :)

  संगीता पुरी

16 November 2009 at 22:22

ओह .. तो ये 'रांगा खुश' वाले जोगिन्‍दर हैं .. मैं समझी कि 'मोगेम्‍बो खुश हुआ'वाले अमरीश पुरी .. मैं भी सेंच रही थी कि ये अमरीश पुरी का चेहरा कब से ऐसा हो गया !!

  देवेन्द्र पाण्डेय

16 November 2009 at 22:58

Han ye joginder hain....
Vah maja aa gaya sharmaji ko badhayi itani der tak pereshan karane ke lilye....

  Udan Tashtari

16 November 2009 at 23:19

पंडित जी, जरा दफ्तर के काम में अटक गये...वरना जोगिन्दर की मूँछ देखकर न पहचानते भला!! :)

  mehek

17 November 2009 at 00:01

aare hum bahut late hai rampyari,magar hint ka chitra dekh ke bhi jawab nahi sujha:( ab midnight mein sochne ki shakti bhi khatam ho gayi hai.

  Murari Pareek

17 November 2009 at 09:32

ranga khush< joginder!!!

Followers