खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (122) : रामप्यारी

हाय….आंटीज..अंकल्स एंड दीदी लोग..या..दिस इज मी..रामप्यारी.. आज के इस खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी मे रामप्यारी और डाक्टर झटका आपका हार्दिक स्वागत करते है. और अब शुरु करते हैं आज का “खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी”


आज के "खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी" का चित्र नीचे देखिये और बताईये ये आदमी क्या कर रियेला है?




यहां माडरेशन नही है....यह आपका खेल आप ही खेल रहे हैं... अत: ऐसा कोई काम मत करिये जिससे खेल की रोचकता समाप्त हो ... सारे जवाब सबके सामने ही हैं...नकल करना हो करिये..नो प्राबलम टू रामप्यारी....बट यू नो?..टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.

परेशानी हो...डाक्टर झटका आपकी सेवा मे मौजूद हैं.. २१ सालों के तजुर्बेकार हैं डाक्टर झटका. पर आप अपनी रिस्क पर ही उनसे मदद मांगे. क्योंकि वो सही या गलत कुछ भी राय दे सकते हैं. रिस्क इज यूवर्स..रामप्यारी की कोई जिम्मेदारी नही है.

तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल शाम को 4:00 बजे दिया जायेगा, तब तक रामप्यारी की तरफ़ से रामराम और डाक्टर झटका खेल दौरान आपके साथ रहेंगे.


"बकरा बनाओ और बकरा मेकर बनो"




Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

67 comments:

  Udan Tashtari

23 November 2009 at 18:01

नाव चला रहा है

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:01

naariyal tod rahaa hai

  Udan Tashtari

23 November 2009 at 18:01

नाव को बांस से ठेल रहा है. :)

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:02

sameerji raam raam

  Rekhaa Prahalad

23 November 2009 at 18:03

This comment has been removed by the author.
  Devendra

23 November 2009 at 18:03

machhali pakad raha hai

  Rekhaa Prahalad

23 November 2009 at 18:03

Namaskar, Machali pakad raha hai,.

  makrand

23 November 2009 at 18:05

ये कुछ गडबड कर रियेला है जी, नान यहां कहां से आगई?

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:06

rekhji ped se machhli???

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:06

naaroyal hi tod rahaa hai lambaa bamboo le rakha ahi!!!

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:07

khajur tod raha hai!!!!

  Rekhaa Prahalad

23 November 2009 at 18:08

nav par sawar nariyal tod raha hai:)

  makrand

23 November 2009 at 18:08

ये मछली ही पकड रहा है.

  सर्किट

23 November 2009 at 18:10

सर्किट भाई आगयेले हैं और सबको नमस्कार कर रयेले हैं.

  Rekhaa Prahalad

23 November 2009 at 18:10

nav par sawar lakdi se nav khe bhi raha hai aur usi lakdi se ab naryial bhi to raha hai.

  डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक

23 November 2009 at 18:11

यह तो बैरियर लगा कर
गाड़ियों को चेकिंग के लिए रोकता है।

खटीमा में हमारे घर के पास में ही एक ऐसा ही
जंगलायत का बैरियर लगा है।

  सर्किट

23 November 2009 at 18:11

ये आदमी खजूर या नारियल तोड रयेला है.

  Devendra

23 November 2009 at 18:11

हाँ-ताऊ की बगिया में पेंड़ से मछली पकड़ी जाती है मुरारी जी

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:13

This comment has been removed by the author.
  संगीता पुरी

23 November 2009 at 18:14

सबका जबाब सही है .. बांस के ऊपर एक हंसिया है .. जिससे नारियल टूटती जाती है .. बांस के नीचे एक नेट है जिसमें मछली फंसती जाती है .. और उसी बांस से आदमी नाव भी चला रहा है .. हो गए न तीनों काम एक साथ .. अब रामप्‍यारी किसे सही मानेगी .. वह रामप्‍यारी पर निर्भर है !!

  Rekhaa Prahalad

23 November 2009 at 18:15

mera jawab hai: admi nav par swar lakdi se nariyal tod raha hai aur usi lakdi ko patwar ki tarah use bhi kar raha hai nav chalane ke liye:-)

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:16

rekhaji bichaare aadmi se itne kaam kyun krwaa rahi hain!!!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

23 November 2009 at 18:17

नाव चला रहा है ओर साथ में एक गीत भी गा रहा है...ओ माँझी रे...

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:18

sorry !!!!!shashtriji likhaa tha key board kuchh akshar khaa gaya!!!

  Udan Tashtari

23 November 2009 at 18:20

मेरा क्म्प्यूटर खराब है. सबको राम राम...आप सबकी बधाई अभी थोड़ी देर में आकर ले लेता हूँ.

मुरारी बाबू की शुभकामनाओं में दम है.


जय हिन्द!!

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:20

main khajur tod rahaa hai lock karwaa chukaa hun!!!

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:21

sachhi me???? sameeerji??

  संगीता पुरी

23 November 2009 at 18:22

इतना विश्‍वास है अपने जबाब पर समीर जी को तो आप सभी बधाई क्‍यूं नहीं देते उन्‍हें !!

  पी.सी.गोदियाल

23 November 2009 at 18:23

सबको राम-राम, महफूज भाई को भी अग्रिम राम-राम, क्योंकि वे देर से आते है राम-राम करने और मैं कोई उत्तर नहीं दे पाता !

  पी.सी.गोदियाल

23 November 2009 at 18:23

टोल-टैक्स बैरियर पर खडा दिख रहा है !

  सुनीता शानू

23 November 2009 at 18:24

सबको राम-राम अरे उस आदमी को करने दीजिये न जो कर रहा है। बेचारा कुछ तो कर ही रहा होगा। और सुनाईये सब लोग कैसे हैं? क्या हाल चाल है। छः बजते ही ताऊ की चौपाल लग जाती है। अब लस्सी पिओगे या चाय?

मुझे लगता है वो सड़क पर गिरा हुआ सफ़ेदे का पेड़ हटाने में मदद कर रहा है बस...:)

  Rekhaa Prahalad

23 November 2009 at 18:24

@murariji, ye sab kam karte hue bich-bich me apne sathiyo se batiya bhi raha hai.

  संगीता पुरी

23 November 2009 at 18:25

अरे सुनीता जी , रामप्‍यारी के चक्‍कर में जो न प्‍उ जाए .. फोटो ले लेती है और पूरा एक्‍सरे करवा देती है उसका !!

  पी.सी.गोदियाल

23 November 2009 at 18:25

एकदम चंगे सुनीता जी, आपको भी राम-राम !

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:25

sunitaa ji jab tak chaay banati hai tab tak lassi le aaiye!!!

  Ratan Singh Shekhawat

23 November 2009 at 18:26

नाव को बांस से ठेल रहा है. :)

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:26

godiyaal ji jai shree raam!!!

  पी.सी.गोदियाल

23 November 2009 at 18:28

आपको भी जय श्री राम पारिख जी !

  सुनीता शानू

23 November 2009 at 18:30

चाय हाजिर है सब पी लो वरना गरम हो जायेगी...

पहला कमैंट बदला जाये आदमी लम्बे झाड़ू वाले डण्डे से कूड़ा हटा रहा है...:)

  पी.सी.गोदियाल

23 November 2009 at 18:31

चूँकि सड़क का नजारा भी एक तरफ है जहां ट्राफिक खडा है तो दो ही कारण हो सकते है एक तो, टैक्स वसूली दूसरा सड़क पर गिरी किसी चीज को हटाने की कोशिश !

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:31

@sunitaa ji naa to chaay aai na hi lassi<

  पी.सी.गोदियाल

23 November 2009 at 18:31

Thank you sunita ji :)

  Murari Pareek

23 November 2009 at 18:32

oh chaai aa gai!! thanx chini bara bar daali hai aapko kaise pataa chalaa main chini do chamch letaa hun!!

  पी.सी.गोदियाल

23 November 2009 at 18:35

पारिख जी शायद आपकी सेहत देखकर :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

23 November 2009 at 18:36

इस नाव वाले की पीठ के पीछे नाव में एक एलिजाबेथ नाम की अंग्रेज कन्या भी बैठी हुई है..जिसकी टी शर्ट पे i love newyork लिखा हुआ है :)

  सुनीता शानू

23 November 2009 at 18:36

भाई मुरारी चीणी सैंतीस रूपया किलो होगी है तो थे इब गुड़ हाळी चा पियो...किसी बणी है बताओ?

  Nirmla Kapila

23 November 2009 at 18:37

राम प्यारी ये तुम्हें डंडे से मारने आया है भागो

  संजय बेंगाणी

23 November 2009 at 18:43

मुझे तो नाव चलाता जान पड़ रहा है

  Devendra

23 November 2009 at 18:46

sabko namaskar shadi ka mausam hai...vyavhar bhi nibhana hai...

  Udan Tashtari

23 November 2009 at 18:51

50 vi tippani

  सुनीता शानू

23 November 2009 at 18:57

राम-राम समीर भाई...

  Purnima

23 November 2009 at 19:14

मुझे लगता है
यह आदमी
बांस से
ट्रक वाले को
मारने जा रहा है 1000 % sure

  Udan Tashtari

23 November 2009 at 19:24

राम राम जी...कैसे हैं!!!

  Udan Tashtari

23 November 2009 at 19:24

कल के लिए क्या रखना है आईटम?

  तोसे लागे नैना

23 November 2009 at 19:28

कटे हुए पेड़ हटा रहा है।

  डाँ. झटका..

23 November 2009 at 19:39

@ उडनतश्तरी

आप कल का विषय ८:०५ मिनट तक लोक करवा सकते हैं.

  Udan Tashtari

23 November 2009 at 19:39

किसी को लिंक मिला क्या? जरा देना तो...

  Udan Tashtari

23 November 2009 at 19:41

फिल्म

  डाँ. झटका..

23 November 2009 at 19:43

@ उडनतश्तरी आपकी पसंद से कल का विषय फ़िल्मों से लोक किया गया है.

  Purnima

23 November 2009 at 19:47

कभी सीधा-सीधा सवाल भी आप लोग पूछा करें,

  रंजन

23 November 2009 at 19:47

ये तो रस्सी पर चल रहा है.. नट है..:)

  अजय कुमार झा

23 November 2009 at 19:53

सब ठो पहेलाडियों को अपना भी राम राम जी

ई जो भी आदमी है ..ई असली में ई देख रहा है कि यदि उपर से कूद जाएं तो कौन ट्रक के ऊपर पहुंच जाएगा ...
बिल्लन यो तो बंदा थारी तरह का ही खुराफ़ाती लागे है भाई .....
तैने तो पहेलेडिक्ट कर दिया सबकू...जैसे एडिक्ट होता है न वैसे ही ..हम भी एक टीप का कोटा तो पकिया कर दिये हैं ..

  महफूज़ अली

23 November 2009 at 21:25

Aadarniya sameer ji.... namaskar..

lalit ji...ram...ram...

sangeeta ji namaskar
Rekha ji namaskar
sunita di namaskar
murari ji namaskar
Godiyal ji..Ram....Ram...
Shastri ji Ram ram...
Pandit ji.... namaskar..

Devendra ji namskar..

  महफूज़ अली

23 November 2009 at 21:25

Rampyari .......

I love U......

  महफूज़ अली

23 November 2009 at 21:26

Yeh नाव चला रहा है...

  महफूज़ अली

23 November 2009 at 21:27

Taau...

Jai Ram ji ki....

mera email id hai

mailtomahfooz@gmail.com..

m waiting...

  Udan Tashtari

24 November 2009 at 07:26

कोई मुझे बधाई क्यूँ नहीं दे रहा है भई???? :(

Followers