फ़र्रुखाबादी विजेता (122) : उडनतश्तरी

"खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी" (122) के सही जवाब का चित्र यह रहा !



और फ़र्रुखाबादी विजेता हैं उडनतश्तरी बधाई!


Udan Tashtari said...
नाव चला रहा है

23 November 2009 18:01


इसके अलावा आज के अन्य विजेता रहे...

२.प. डी.के. शर्मा "वत्स" अंकल,
३. रतनसिंह शेखावत अंकल
४. संजय बेंगाणी अंकल
५. महफ़ूज अली अंकल,

आप सबको बहुत बधाई और शुभकामनाएं.

अगला फ़र्रुखाबादी सवाल आज शाम को ठीक ६ बजे. और दिल थाम के देखिये की क्या आज उडनतश्तरी हेट्रिक बना पाते हैं? अग्रिम शुभकामनाएं.

तब तक रामप्यारी की तरफ़ से नमस्ते.



Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

11 comments:

  रंजन

24 November 2009 at 16:20

इत्ती सुन्दर लड़की फोटो खिचाते नहीं दिखी.. क्या समीर भाई.. नाव देख रहे हो.. कोई बार नहीं बधाई ले लो..

राम राम

  Murari Pareek

24 November 2009 at 16:26

waah sameerji ke kadam hatrick ke najdeek pahunch chuke hai badhaa!!!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

24 November 2009 at 16:30

समीर जी को बधाई ओर हैट्रिक के लिए शुभकामनाऎँ !!!

देखते हैं हैट्रिक की राह में मुरारी भाई रोडा बन पाते हैं कि नहीं :)

  संगीता पुरी

24 November 2009 at 16:38

बहुत बहुत बधाई .. आज आपकी हैट्रिक भी हो जाए .. यही शुभकामना है !!

  Mahfooz Ali

24 November 2009 at 16:46

Sameer ji ko bahut bahut badhai......

ununununununn.........

main bhi vijeta hoon.... maine bhi sahi jawaab diya tha....

  Udan Tashtari

24 November 2009 at 17:46

बहुत धन्यवाद...आज मुरारी बाबू ने शुभकामना नहीं दी...पंडित जी, लगता है रोड़ा बनने की तैयारी में हमारे मुरारी बाबू ..खाना खाकर बैठेंगे आज तो ...१५ मिनट बाद.


महफूज भाई, गरम गरम चाय और समोसा ले कर पधारो १५ मिनट में. :)

संगीता जी, आज तो हमारी हैट्रिक के लिए पूरी ताकत लगा दिजिये. कुछ बढ़िया वाली भविष्यवाणी करिये. :)

  Rekhaa Prahalad

24 November 2009 at 17:49

Sameer ji ko bahut bahut badhai!!!!!

  Murari Pareek

24 November 2009 at 17:52

aaj to mahfuj bhaai ko bhi badhaai!!! pataa nahi kabhi maukaa mile na mile !!!

  Murari Pareek

24 November 2009 at 17:52

sameerji maine aapko badhaai di hai aaj aapki hatrick pakki samjhiye!!:)

  Udan Tashtari

24 November 2009 at 17:54

मुस्कराते हुए ही कह रहे हो न मुरारी बाबू...कि एक आंख भी दबी है...हा हा!!

  Murari Pareek

24 November 2009 at 17:56

ha..ha.. nahi sameerji dono ankhen khuli hain ! magar jee tod koshis hum bhi karenege!!!

Followers