खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (125) : रामप्यारी

हाय….आंटीज..अंकल्स एंड दीदी लोग..या..दिस इज मी..रामप्यारी.. आज के इस खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी मे रामप्यारी और डाक्टर झटका आपका हार्दिक स्वागत करते है. और अब शुरु करते हैं आज का “खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी” आज का सवाल उडनतश्तरी की पसंद का है.


आज के "खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी" का चित्र नीचे बिल्कुल ध्यान से देखिये और बताईये ये कौन है?




हिंट का चित्र : ७:१५ पर जोडा गया




यहां माडरेशन नही है....यह आपका खेल आप ही खेल रहे हैं... अत: ऐसा कोई काम मत करिये जिससे खेल की रोचकता समाप्त हो ... सारे जवाब सबके सामने ही हैं...नकल करना हो करिये..नो प्राबलम टू रामप्यारी....बट यू नो?..टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.

परेशानी हो...डाक्टर झटका आपकी सेवा मे मौजूद हैं.. २१ सालों के तजुर्बेकार हैं डाक्टर झटका. पर आप अपनी रिस्क पर ही उनसे मदद मांगे. क्योंकि वो सही या गलत कुछ भी राय दे सकते हैं. रिस्क इज यूवर्स..रामप्यारी की कोई जिम्मेदारी नही है.

तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल शाम को 4:00 बजे दिया जायेगा, तब तक रामप्यारी की तरफ़ से रामराम और डाक्टर झटका खेल दौरान आपके साथ रहेंगे.


"बकरा बनाओ और बकरा मेकर बनो"




Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

165 comments:

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

26 November 2009 at 18:00

jaaduuuuuu

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 18:01

कटरीना कैफ

  Rekhaa Prahalad

26 November 2009 at 18:03

raveena tondon

  ललित शर्मा

26 November 2009 at 18:05

रवीना टंडन, पर फ़ायनल नही है।

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 18:08

माननीय पंडित वत्स जी को सादर प्रणाम.

बाकी सभी को नमस्कार.

संगीता जी आज फिर लेट.

  ललित शर्मा

26 November 2009 at 18:12

सभी को राम-राम

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 18:13

किसी को लिंक मिला हो तो बताओ भई..खेल आगे बढ़े!!

  Gagan Sharma, Kuchh Alag sa

26 November 2009 at 18:18

"कोई मिल गया" का एलियन, 'जादू'।

  ललित शर्मा

26 November 2009 at 18:22

रवीना टंडन,फ़ायनल है।

  संजय तिवारी ’संजू’

26 November 2009 at 18:26

उर्मिला मान्टोडकर

  ललित शर्मा

26 November 2009 at 18:26

भाई इतना सन्नाटा क्युं है? कहां गये सब लोग? ये जादु नही है, इसलिए डरना मना है।

  M VERMA

26 November 2009 at 18:26

raveen tandan एकदम फाईनल

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 18:26

कोई क्लू तो दो भई!!

  सर्किट

26 November 2009 at 18:33

मेरे कू तो ये हेमा मालिनी उल्टी लटकेली दिख रयेली है बाप.

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 18:39

कुछ ज्यादा ही कठिन हो गई पहेली....

  सर्किट

26 November 2009 at 18:45

समझ मे नईं आरयेला है..हिंट कबी तक दिया जायेगा डाँ. खटका जी?

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:50

सब दोस्तों और दुश्मनो( आज २६/११ है इसलिए कह रहा हूँ ) को राम राम !

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:50

महफूज भाई को राम-राम और बाकी को 'या अली'

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:51

काश ! मैं भी बम पाता खली

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:51

एक एक को यूँ पटका होता

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:51

इलाज के लिए उपस्थित डा० झटका होता

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:51

मार खाने वाला रोता

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:52

और बगल से हंसता मेरे जैसा कोई खोता

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:52

फिर कोई पैग बना के लाता

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:52

बायीं गोड़, चुस्कियां लेते हुए खूब मजा आता

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:53

समीर जी को जय हिंद !

  राजेश स्वार्थी

26 November 2009 at 18:53

नीतू सिंग

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 18:54

डॉ झटका...चले आओ!!

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:55

ये ताऊ जी भी मुझे कभी कभी संके हुए से लगते है , अब बतावो आखें तो लगभग एक सी होती है कैसे पता लगाओगे कि यह कौन है !

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:56

सनके लिख रहा था संके हो गया, ये typewriter भी न

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 18:57

वो अपना मुरारी बाबू आंख देख कर ही सब पहचानता है मगर आज मकरंद के साथ कहीं जलूस में निकल गये दिखते हैं...

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:58

समीर जी ये डाक्टर झटका इतनी जल्दी नहीं आने वाले, बड़े ही सुस्त किस के इंसान है, बकरे की गर्दन से चिपके होंगे कही !

  soorma

26 November 2009 at 18:58

हिंट दिया जाये कि ये चमगादडी है कि इंसान..मेरे कू कुछ गडबड लग रयेली है.

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 18:59

अब ये सोर्मा जी की क्वेरी का भी समाधान किया जाये !

  डाँ. झटका..

26 November 2009 at 19:01

जल्दी ही हिंट की एक और फ़ोटो लगाई जारही है. जरा धैर्य धारण किया जाये. और पंडीतजी से वसूली करने के लिये कमेटी अपने विचार प्रस्तुत करे.

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 19:01

ललित जी और पंडित जी आज हो गई न टांय-टांय फीस, !

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 19:02

पंडित जी आप बोल दीजिये कि इसके लिए हवन करना पडेगा जिसके लिए करीं १०० टिप्पणियों की आहुति दी जायेगी अत मैं अपने खाते से दाल कर हवन कर दूंगा ! :)

  डाँ. झटका..

26 November 2009 at 19:04

देवेंद्र
आप या आपका प्रतिनिधी ८:०५ बजे तक लोक करवा सकते हैं.

धन्यवाद

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 19:05

सूचना

पंडित जी द्वारा क्षमादान की अपील करके माफीनामा जमा कराने के बाद कमेटी अपने विचार रखेगी. :)

-सूचना समाप्त!!

  पी.सी.गोदियाल

26 November 2009 at 19:06

Doctor sahaab who is devendra ?

  डाँ. झटका..

26 November 2009 at 19:07

एक जरुरी हिंट : आज जिसका चित्र पहेली मे पूछा गया है वो पहले भी इस पहेली में शरीक किया जा चुका है.

  डाँ. झटका..

26 November 2009 at 19:09

पी.सी.गोदियालजी

देवेंद्र कल के विजेता हैं. यह हक विजेता को दिया जाता है.

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 19:14

इतनी सारी हिरोईनों के बारे में पहले पूछा जा चुका है...कहाँ तक खोजें...रामप्यारी -क्लू में लिंक दे दे!! :)

  ललित शर्मा

26 November 2009 at 19:16

गोदियाल जी हमने फ़ायनल जवाब दे दिया है ,इस लिए लिंक नही दे रहे हैं कि हम दंड देने की स्थिति मे नही है , जरा तबियत नासाज है और समीर भाई बकरा बनाने के चक्कर मे लगे हैं,

  डाँ. झटका..

26 November 2009 at 19:18

जरुरी सूचना

हिंट का चित्र ७:१५ पर जोड दिया गया है. कृपया लाभ उटाईये.

धन्यवाद

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 19:18

ललित भाई...डरना मत...दंड हो भी जाये तो अपील की जा सकती है माफीनामे के साथ. पंडित जी भी उसी फिराक में हैं. :)

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 19:24

कोई नई फोटू चेंपती तो काम बनता..जे तो वो ही वाली सीधी कर दी रे रामपयारी...

  समयचक्र

26 November 2009 at 19:24

यूं की शिल्पा शेट्टी लग रही है .....

  ललित शर्मा

26 November 2009 at 19:28

डा.सटका ये हिंट किसी काम का नही है, हम तो पहले से ही उल्टाए बैठे हैं, काहे उल्लु बनाया जा रहा है, उपर या नीचे का हिस्सा जोड़े तो बात बने।

  Rekhaa Prahalad

26 November 2009 at 19:30

@Dr.J. kya filmstars ki kami hai jo dusari baar bhi ise paheli me pucha gaya hai?

  डाँ. झटका..

26 November 2009 at 19:31

आजकल तबियत बडी नासाज चल रही है.

  डाँ. झटका..

26 November 2009 at 19:34

@ रेखा प्रहलाद

आपके सुझाव का धन्यवाद. रामप्यारी मैम आपको आमंत्रित करती हैं कि फ़िल्म से संबंधित पहेलीयां आप बनाये.

अगर मंजूर हो तो बोलिये. और ध्यान रहे कि आप उस रोज की पहेली मे भाग नही ले पायेंगी.

आप चाहे तो रामप्यारी मैम को rampyari@taau.in पर संपर्क कर सकती हैं.

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

26 November 2009 at 19:53

लाला समीर लाल जी....हम माफी माँगने वालों में से नहीं हैं....अजी जब हमारा कोई कसूर ही नहीं तो माफी काहे माँगें....हमें तो गरीब ब्राह्मण जानकर फँसाया जा रहा है....हम इसके खिलाफ ऊपर तक जाऊँगा....अब तो हम कुछ करके ही रहेंगें.....:)

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 19:55

उपर का लिंक तो दे ही दिया...वहीं जाकर पढ़ते हैं पंडित जी ..हा हा!!

  Devendra

26 November 2009 at 20:40

सबको नमस्कार
आज मार्केट में फंस गया था
आने में देर हुई
लेकिन लगता है आप सभी रामप्यारी के चक्रव्यूह में फंसे हुए हैं
हा हा हा ये भी खूब रही

  Devendra

26 November 2009 at 20:44

अरे इन्हें तो मैं जानता-पहचानता हूँ
अभी इनका नाम बताता हूँ

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 20:51

कल का टॉपिक तो बता दो देवेन्द्र भाई...

  Devendra

26 November 2009 at 20:56

कल का टॉपिक मैं अभी भी बता सकता हूँ
तब तो कल का टॉपिक रहेगा--
खेल

  Devendra

26 November 2009 at 20:58

लेकिन यह खेल रामप्यारी को ही खेलाना पड़ेगा
मेरे पास एकदम फुर्सत नहीं है
मेरे सामने वाले घर में शादी है जी

  Devendra

26 November 2009 at 21:02

अरे
इस फोटू का नाम छोड़ सब याद आ रहा है

  Devendra

26 November 2009 at 21:03

अरे कोई है कि नहीं
सब चले गए लगता है
किसको नाम बताऊँ
जब कोई सुनने वाला ही नहीं है

  डाँ. झटका..

26 November 2009 at 21:05

@ देवेन्द्र

कल का विषय खेल लोक किया जाता है.

  Jyoti Sharma

26 November 2009 at 21:12

इसका नाम खुला खेल फरुखाबादी नहीं बल्कि "निठ्ठलों की चौपाल" रखना चाहिए

  Devendra

26 November 2009 at 21:14

हाँ.... नाम याद आया
इसका नाम है--
नीतू सिंह

  Devendra

26 November 2009 at 21:16

विषय बता दिया
नाम बता दिया
निठल्ले भी हो गए
अब सबको राम-राम
शुभरात्री

  राजेश स्वार्थी

26 November 2009 at 21:18

@ ज्योति जी

रामप्यारी जी एक अकेले आपके कारण नाम कैसे बदलें? आपके और भी साथ के निट्ठले होंगे, उनको बहुमत में लेते आईये, नाम बदल दिया जायेगा.

  रंजन

26 November 2009 at 22:51

निट्ठलों कि चौपाल में एक और.. :)

वैसे ये हिरोइन शिल्पा शेट्टॊ लग रही है.. वैसे श्रीदेबी भी हो सकती है.. या कोई और भी.. ये भी हो सकता है कि ये एक नहीं दो हो.. और ये दो न होकर एक भी हो सकती है.. अगर सही से पहचान ले तो खतरा ये कि कल रामप्यारी नाक किसी और का फिट कर हमें गलत सिद्ध कर दे.. लेकिन कुछ भी हो ये है हिरोईन...

राम राम

  Udan Tashtari

26 November 2009 at 23:26

रंजन तो ज्ञान के सागर निकले!!

  श्री श्री बाबा शठाधीश जी महाराज

26 November 2009 at 23:42

"अलख निरंजन" सभी समस्याओं का होगा हल
अब आ गये है बाबा "अलख निरंजन"

  श्री श्री बाबा शठाधीश जी महाराज

26 November 2009 at 23:46

अलख निरंजन है कोई बच्चा हाजिर?

  Murari Pareek

27 November 2009 at 11:02

sahid kapoor!!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:25

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:25

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:25

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:25

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:26

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:26

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:26

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:26

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:26

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:26

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:26

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:27

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:27

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:27

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:27

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:27

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:29

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:30

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:30

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:30

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:31

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:31

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:31

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:31

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:31

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:31

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:32

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:32

रामप्यारी पंचों का कहना मानकर अभी तो हम मय ब्याज टिप्पणी दंड का भुगतान किए दे रहे हैं..लेकिन कहे देते हैं कि ये हमारे साथ अन्याय किया जा रहा है...हम इसके खिलाफ ऊपर की अदालत में अपील दायर कर रहे हैं...इस षडयन्त्र में डा. झटका और समीर लाल जी सहित जितने भी भागीदार हैं...उन सब को दंडित किए जाने तक हमारा ये अभियान रूकने वाला नहीं :)

  Dr. Mahesh Sinha

27 November 2009 at 13:34

neetu singh

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:35

डा. झटका और बाबा समीरानन्द जी...

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:35

दंडित हों.....

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:35

घोर अन्याय

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:36

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:36

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:36

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:36

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:36

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:36

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:36

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:36

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:37

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:37

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:37

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:37

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:37

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:37

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:37

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:38

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:38

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:38

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:38

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:38

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:38

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:38

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:38

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:39

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:39

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:39

घोर अन्याय..

  Dr. Mahesh Sinha

27 November 2009 at 13:39

पंडित जी आपके कंप्यूटर में virus आ गया क्या ?

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:39

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:39

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:39

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:40

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:40

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:40

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:40

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:40

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:40

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:40

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:41

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:41

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:41

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:42

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:42

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:42

घोर अन्याय..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 November 2009 at 13:54

रामप्यारी हमने पंचों की राय मानकर आवश्यकता से भी अधिक टिप्पणियों का भुगतान तो जरूर कर दिया है...लेकिन हम ये भी मानते हैं कि हमारे साथ धोखा हुआ है...जिसमें समीर लाल जी की भी मिलीभगत दिखाई देती है :)
इसलिए हमें हमें हमारी सभी टिप्पणियाँ मय ब्याज तथा हर्जे खर्चे सहित वापिस की जाएँ :)

Followers