"खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी" (101) : रामप्यारी

हाय….आंटीज..अंकल्स एंड दीदी लोग..या..दिस इज मी..रामप्यारी.. आज से रामप्यारी शुरु कर रही है "खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी" यानि नो माडरेशन..नथिंग...सबके सामने रहेंगे सारे जवाब..नकल करना हो करिये..नो प्राबलम टू रामप्यारी....

परेशानी हो...डाक्टर झटका आपकी सेवा मे मौजूद हैं.. २१ सालों के तजुर्बेकार हैं डाक्टर झटका. पर आप अपनी रिस्क पर ही उनसे मदद मांगे. क्योंकि वो सही या गलत कुछ भी राय दे सकते हैं. रिस्क इज यूवर्स..रामप्यारी की कोई जिम्मेदारी नही है.

तो आज के इस खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (101) मे रामप्यारी आपका हार्दिक स्वागत करती है. और अब शुरु करते हैं आज का “खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी” मे आज का सवाल.


सवाल है : बताईये, ये क्या कर रहे हैं और कौन हैं?




तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल शाम को 4:00 बजे दिया जायेगा, तब तक रामप्यारी की रामराम.


Promoted By : ताऊ और भतीजा

72 comments:

  Murari Pareek

2 November 2009 at 18:00

SOCKET ME PLUG

  Murari Pareek

2 November 2009 at 18:01

SOCKET ME KOI PLUG DAAL RAHA HAI HA..HAA. ELECTRICIAN HOGA

  Udan Tashtari

2 November 2009 at 18:01

pप्लग खींच कर बाहर निकाल रहे हैं..आदित्य ही होंगे.

  Murari Pareek

2 November 2009 at 18:03

ye ek bandar hai jo plug khinch raha hai

  Udan Tashtari

2 November 2009 at 18:06

चिंपाजी प्लग खींच रहा है.

  Udan Tashtari

2 November 2009 at 18:07

चिम्पाजी का नाम MAIKA

  Udan Tashtari

2 November 2009 at 18:07

MAIKA चिम्पाजी प्लग खीच रहा है.

  Udan Tashtari

2 November 2009 at 18:08

:) मुरारी जी को नमस्ते.

  Udan Tashtari

2 November 2009 at 18:09

SANTA-MAIKA's friend चिम्पाजी प्लग खीच रहा है.

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

2 November 2009 at 18:09

इनकी हस्तरेखा बता रही है कि ये अरविन्द मिश्रा जी हैं ओर प्लग को साकेट में डाल रहे हैं या फिर खींच कर निकाल रहे हैं ।

  Udan Tashtari

2 November 2009 at 18:10

Santa wanted to switch off the inhalator by pulling out the plug.

  डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक

2 November 2009 at 18:10

ताऊ!
ये तो मन्नै ताई लाग री सै।

  Murari Pareek

2 November 2009 at 18:16

chimpaji bhi bandar hi howe!!

  Murari Pareek

2 November 2009 at 18:16

sameer ji ram ram kya khabar tabar!!

  Murari Pareek

2 November 2009 at 18:18

bhaiyon hath ko gaur se dekhiye

  Murari Pareek

2 November 2009 at 18:19

aur bahno bhi!!!!

  M VERMA

2 November 2009 at 18:34

प्लग खींच कर निकाला जा रहा है या लगाया जा रहा है स्पष्ट किया जाये

  POTPOURRI

2 November 2009 at 18:37

चिम्पांजी का बच्चा छोटा चिम्पू है बहुत शरारती है म् हाथ में इसने एक पीले-नीले रंग का गिफ्ट भी पकडा रखा है. चिम्पुजी खेल-कहले में plug खीचते है और लगा कर किलकारी मारते हुए तालिया भी बजाते है:)

  Murari Pareek

2 November 2009 at 18:38

vermaaji hath ki taraf gaur farmaaye hath ko dhyaan se dekhiye kiska hai!!!

  POTPOURRI

2 November 2009 at 18:40

chimpuji khel-khel mein na jaane aur kya tod-phod karte hai.

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

2 November 2009 at 18:43

हमारा पहले वाला जवाब कैन्सिल किया जाए....हमें लगा था कि हमने यह तस्वीर शायद मिश्रा जी की किसी पोस्ट में लगी देखी है...इसलिए उनका नाम लिख दिया.......
अगला जवाब सोच कर देते हैं :)

  POTPOURRI

2 November 2009 at 18:45

abhi-abhi maine aur jaankari prapt ki in chimpu ke baare mein, ye Elia naam ke young female chimpanzee hai jinko pinjade se chudaya gaya hai.

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 18:49

Aadarniya ........ Sameerji .......ke saath.....

Yeh MAIKA Chimpanzee hi hai........ jo plug kheench raha hai........ ya plug raha raha hai......

isko lock kar diya jaye........ is baar bhi dead sure hoon.......

  POTPOURRI

2 November 2009 at 18:52

thodi gadbadi ho gai is chimpi ka naam santa hi hai jaisa ke Sameer bhaiji ne bataya. Elia to is ki chacheri bahen hai.

  Udan Tashtari

2 November 2009 at 18:52

यूँ तो आदमी भी बन्दर ही होवे.

मुरारी जी घणी राम राम. :)

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 18:54

This comment has been removed by a blog administrator.
  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:00

This comment has been removed by a blog administrator.
  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:01

Ab jo bhi hai hai to Chimpanzee hi na........ ab yahan lock....... kar diya jaye answer........

  Udan Tashtari

2 November 2009 at 19:02

यार महफूज भाई

कुछ तो पाली बनाओ...कभी यहाँ..कभी वहाँ..

राजनित में हाथ आजमाओ..बड़े ही सफल रहोगे. :) हा हा!!

  Udan Tashtari

2 November 2009 at 19:04

POTPOURRI तो खुद ही हमारे साथ हैं...अब!!

आप नाहक डोल गये. हा हा!!

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:08

jeee.... hehehehehe....wahi to.......

ab paali nahin badloonga.....


heheehehehe

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

2 November 2009 at 19:18

@ महफूज़ अली साहब

इस खेल में लिंक देने की मनाही है. आपने खेल के रूल तोडे हैं तो बिग बोस की तर्ज पर रामप्यारी मैम ने आप पर २१ टिप्पणीयों का दंड लगाया है और आपकी दोनों लिंक वाली टिप्पणियां हटाये जाने का आदेश हुआ है. और उसकी तामिली की जा रही है.

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:38

Arey........

main maafi chahata hoon......... rule to dekhe hi nahi they.....

kabhi

ab dand to dand hai bhugatna to hai hi.....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:39

to main aa raha hoon dand bhogne.... un un un un un un un un

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:40

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:40

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:40

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:40

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:40

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:40

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:41

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:41

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:41

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:41

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:41

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:41

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:41

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:41

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:41

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:41

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:42

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो .....

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:42

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... बच्चे को माफ़ कर दो

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:42

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... बच्चे को माफ़ कर दो

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:42

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... बच्चे को माफ़ कर दो

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:42

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... बच्चे को माफ़ कर दो

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:42

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... बच्चे को माफ़ कर दो

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:42

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... बच्चे को माफ़ कर दो

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:42

रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... रामप्यारी मैम, माफ़ कर दो ..... बच्चे को माफ़ कर दो

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:44

अब दोबारा ऐसी गलती नहीं होगी.....

  POTPOURRI

2 November 2009 at 19:46

aaj sangita ji nahi aayi? unse aaj ke match ke baare mein puchana tha.

  डा.. झटका...21 सालों के तजुर्बेकार

2 November 2009 at 19:47

@ महफ़ूज अली साहब

रामप्यारी मैम ने फ़ैसला सुना दिया है. आपका दंड पूरा हुआ. अब आप खेल शुरु कर सकते हैं. डाक्टर झटका आपका पुन: स्वागत करता है.

  अजय कुमार झा

2 November 2009 at 19:48

बिल्लन लग ली बीमारी तन्ने भी खुल्लम खुल्ला की..जब से बिग बोस में सब खुल्लम खुल्ला चल रिया है..तभी से सारे बिगड लिये...ताऊ का तो कोई कंट्रोल न रहा इस बिल्लन पे...चल रैण दे..एब खेल तो शुरू ही कर दिया तैने..यो तो भैया इक बिलागर है...पोस्ट पर टीप न आ रही हैं..चैक कर रिया है ..इसमें प्लग का कोई फ़ाल्ट तो न है...यो एक कलाई है ..निरे मर्द की..जो प्लग के साथ लगे वायर पे जोर आजमाईश कर रया है...यो क्योशचन जो पूछ लिया होता न अमित जी ने कौन बनेगा करोड पति में..पहला प्रश्न ही...भगवान कसम ..किसी को एक पैसा नहीं देन पडता...देती तो तू भी न है...
बिल्लनिया..कल मेरे कान दिखा दियो पहेली में ....बिल्लन कहीं की..
महफ़ूज़ भाई को ठीक फ़ंसाया हा हा हा...

  POTPOURRI

2 November 2009 at 19:49

@ sameerji kal aapne aate hi galat jawab de ker kayiyoko mislead kiya aur baad mein jawab badal diya:)

  महफूज़ अली

2 November 2009 at 19:51

बहुत बहुत धन्यवाद आपका........... तो मेरा जवाब को लाक कर दिया
जाये .... यह चिम्पांजी है ...इसका नाम संता है.... जो एलिया का दोस्त है....


ह्म्म्फ़ ....ह्म्म्फ़...ह्म्म्म्फ़ .....ह्म्म्म्म्म्फ़

  Murari Pareek

2 November 2009 at 19:52

chhodo kal ki baatein kal ki baat puraani aaj bhi galat tippani de kar badal di aur badlate jaa rahen hain sameeranand maharaaj !!!

  'अदा'

2 November 2009 at 19:59

का ताऊ जी आपहूँ ...का करते हैं...?
चिम्पांजी का फोटो का देखाए लोग चिम्पांजीये बन गए ...हाँ नई तो....!!
देखिये तो महफूज़ जी....महा कान्फुजी हो गए...
ऐसा मत किया कीजिये न...!!

  Udan Tashtari

2 November 2009 at 20:11

कभी कभी ज्ञानशटर देर से खुलता है न पॉटपूरी जी...इसीलिए...जबाब बदलने और कन्फ्यूज करने की माफी में २१ बार कमेंट करुँ क्या महफूज भाई की तरह.

आज तो नहीं बदलेंगे अब!! :)

गुरुप्रकाश पर्व की हार्दिक शुभकामना

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

2 November 2009 at 21:43

रामप्यारी आजकल बहुत आसान से सवाल पूछने लगी है ।
वैसे हमारे लिए तो ये भी मुश्किल ही हैं :)

  Mishra Pankaj

2 November 2009 at 22:27

Any one person help me and tell me answer plz :)))))

  Mishra Pankaj

2 November 2009 at 22:28

Hello All And Dr.jhatakaa
How Are You?

  रंजन

3 November 2009 at 07:09

वाह ताऊ.. अजुबा है... पता है कौन प्लग खिंच रहा है.. समीर भाई ये आदि नहीं है इत्ता तो पक्का..

  'अदा'

3 November 2009 at 10:44

इइ हमरे पूर्वज जी कि तस्वीर है....
अरी ओ रामपियारी छमिया !!
बन्दे के हाथ तो देख......बहुत खुरदरे है.....
हा हा हा

Followers