खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (137) : आयोजक उडनतश्तरी

बहनों और भाईयों, मैं उडनतश्तरी इस फ़र्रुखाबादी खेल में आप सबका हार्दिक स्वागत करता हूं.

जैसा कि आप मुझसे भी ज्यादा अच्छी तरह से जानते हैं कि मैं क्यों ५ सप्ताह तक इस खेल का आयोजक रहूंगा. इस खेल के सारे नियम कायदे सब कुछ पहले की तरह ही रहेंगे. सिर्फ़ मैं आपके साथ प्रतिभागी की बजाय आयोजक के रुप मे रहुंगा. डाक्टर झटका भी पुर्ववत मेरे साथ ही रहेंगे.

आशा करता हूं कि आपका इस खेल को संचालित करने मे मुझे पुर्ण सहयोग मिलता रहेगा क्योंकि अबकी बार आयोजकी एक दिन की नही बल्कि ५ सप्ताह की है. और इस खेल मे हम रोचकता बनाये रखें और आनंद लेते रहें. यही इसका उद्देष्य है. तो अब आज का सवाल :-

नीचे का चित्र देखिये और बताईये कि यह कौन सा जानवर है जो इन चिडियों को मार मार कर गिरा है?





तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल शाम को 4:00 बजे दिया जायेगा, मैं और डाक्टर झटका खेल के दौरान आपके साथ रहेंगे.


"बकरा बनाओ और बकरा मेकर बनो"


.टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.


Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

58 comments:

  Devendra

8 December 2009 at 18:03

lion tailed macaque [ monkey ]

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

8 December 2009 at 18:04

mujhe to yo taau dikhe hai :)

  makrand

8 December 2009 at 18:12

पंच लोग कहां गये? रामराम सबको.

  makrand

8 December 2009 at 18:13

पंडितजी नमस्कार.

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 18:29

सबको राम-राम

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 18:29

बबून

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 18:29

लंगूर

  Devendra

8 December 2009 at 18:32

fox

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 18:41

पटास जाति का बन्दर है

  रंजन

8 December 2009 at 18:43

लोमड़ दिखे से..

  रंजन

8 December 2009 at 18:43

४३ मिनिट... १० comments.. बहुत नाइंसाफी है... समीर भाई को वापस बुलाओ!!!!

  Murari Pareek

8 December 2009 at 18:48

gurrilla

  Murari Pareek

8 December 2009 at 18:50

coyote

  makrand

8 December 2009 at 19:01

मुरारी अंकल नमस्ते.

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:03

मुरारी भाई राम-राम , आज नहीं चलने वाली आपकी !

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:04

क्योंकि मैंने दिन में ही आपका भांडा फोड़ दिया था :)

  makrand

8 December 2009 at 19:04

गोदियाल अंकल नमस्ते

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:04

तितर-वितर जिसको कहते है :)

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:05

नमस्ते बेटा मकरंद ! अज ये बाबा लोग कहा गए ?

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:06

मुरारी भाई आप दिल पर बिलकुल मत लेना, इस इंसान की जुबान यूँ ही लडखडाती रहती है, बिन पिए :)

  makrand

8 December 2009 at 19:07

अंकल, बाबा लोगों ने आश्रम खोल लिया वहां भजन कीर्तन कर रहे होंगे?

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:09

सरकारी जमीन कब्जाई इन बाबाबो ने, या फिर किसी के खाली प्लाट में बैठ गए टेंट गाड कर ?

  makrand

8 December 2009 at 19:10

फ़ोकट कब्जा ही दिख रहा है अंकल.

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:11

सुप्रीम कोर्ट के सख्त आदेश है कि ऐसे बाबाओ को बेदखल किया जा सकता है !

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:12

हां किसी विदेश वाले की जमीन कब्जाए बैठे है तो फिर रहने दीजिये !:)

  makrand

8 December 2009 at 19:13

अंकल आप कहो तो अपन भी कहीं कब्जिया ले क्या?

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:13

किसी एन आर आई की जमीन पर किया गया कब्जा भी गैरकानूनी नहीं मानेगे हम
:)

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:14

दो चार साथ में समीर अंकल जैसे लोग भी चाहिये होंगे बेटा इस कम के लिए :)

  बाबा निठ्ठल्लानंद जी

8 December 2009 at 19:16

कहां गये सब बच्चा लोग?

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:18

अरे बाबा, खुद देर से आये और उलटा सवाल दाग रहे हो ?

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:18

Kya jamaanaa aagayaa sach mein

  अल्पना वर्मा

8 December 2009 at 19:18

Namste ,good evening,Pranaam--yah

Mangoose hai..:)
final jawab hai...

Good night--shubh ratri....

  बाबा निठ्ठल्लानंद जी

8 December 2009 at 19:19

बच्चा , हम सीधे अमेरिका से भागे चले आरहे आपसे मिलने. तो इतनी देर तो हो ही जाती है.

  makrand

8 December 2009 at 19:20

अल्प्ना जी नमस्ते!

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:20

क्यों ओबामा को पता चल गया कि गैर कानूनी ढंग से ठहरे हुए थे वहाँ पर ?

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:21

क्या बाबा आपको इतना भी पता नहीं कि वहां पर जल्दी ग्रीन कार्ड प्राप्त करना है तो कोई कोंत्रेट मेरेज कर लेनी चाहिए ?

  बाबा निठ्ठल्लानंद जी

8 December 2009 at 19:21

अरे नही बच्चा ,,,ओबामा तो हमको अफ़गान पाक समस्या पर सलाह लेने बुलाते हैं.

  अल्पना वर्मा

8 December 2009 at 19:22

इसे हिन्दी में नेवला कहते हैं....

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:23

अफगान-पाक समस्या खडी तो उसने खुद ही कर रखी है

  बाबा निठ्ठल्लानंद जी

8 December 2009 at 19:23

बच्चा कैसी सलाह देते हो? हम तो निघंट ब्रहमचारी हैं. शुभ शुभ बोलो बच्चा...

  makrand

8 December 2009 at 19:24

इत्ता बडा नेवला कैसे हो सकता है? आपके पास लिंक है क्या? दिजिये ना जरा.

  पी.सी.गोदियाल

8 December 2009 at 19:24

मैंने मुह दाब लिया है बाबा, क्योंकि मुझे निकलना है घर में छोटी-छोटी बीबियों और बच्चो का सवाल भी है !

  बाबा निठ्ठल्लानंद जी

8 December 2009 at 19:27

बच्चा ये क्या बोल रहे हो? छोटी छोटी बिबीयां? कितनी हैं? ये गैरकानूनी है बच्चा.

  श्री श्री १००८ बाबा समीरानन्द जी

8 December 2009 at 19:42

भक्तों को बाबा का बहुत आशीष.

बाबा के आश्रम पधार कर आशीर्वाद ले लो...

नोट:

. पहेली में भी जीतने के लिए आश्रम में हवन करवाया जाता है.

. हमारी कोई ब्रान्च नहीं है.

. नकलचियों से सावधान.

. ब्लॉगजगत के एकमात्र सर्टीफाईड एवं रिक्गनाईज्ड बाबा.

-सबका कल्याण हो!!

सूचना:




-बाबा प्रॉडक्टस के लिए आश्रम पधारें-


कुंभ की विशेष छूट


बेहद सस्ते दामों पर


महा सेल-महा सेल-महा सेल

नोट: ऐसा मौका फिर १२ साल बाद आयेगा.

  Udan Tashtari

8 December 2009 at 19:46

सभी को नमस्कार.


बाबा निट्ठ्ल्ला नन्द अमरीका वाले को हैलो!!

  Udan Tashtari

8 December 2009 at 19:47

मकरंद की तो ऐसी आदत पड़ गई है कि कहीं परीक्षा में टीचर से लिंक न मांगने लग जाये. :)

  makrand

8 December 2009 at 19:50

समीर अंकल नमस्ते...कहां चले गये थे. यहां के सारे भक्त लगता है आश्र्म मे चले गये.

  Hiral

8 December 2009 at 19:51

is it fox?

  Murari Pareek

8 December 2009 at 19:56

chidimaar praani hai bachon!!!

  Udan Tashtari

8 December 2009 at 20:02

जय हो...५० वीं.

  Udan Tashtari

8 December 2009 at 20:03

मैं तो यहीं बैठा तुम्हारी शैतानी देख रहा था.


हीरल जी को भी नमस्कार...स्वागत है.

  Udan Tashtari

8 December 2009 at 20:04

आज बाबा शठाधीष नहीं दिख रहे?? मुरारी बाबू, कुछ पता ठिकाना??

  Murari Pareek

8 December 2009 at 20:06

मेरे ब्लॉग पे भी एक प्राणी कृपया बताएं वो कोनसा जीव है !!!

  Murari Pareek

8 December 2009 at 20:07

pataa nahi sameerji sab kahaan kahaan chale gaye aaj lalit ji bhi najar nahi aa rahe!!

  Murari Pareek

8 December 2009 at 20:07

महाराज श्ठेस्वर !!!! दर्शन दो प्रभु कहाँ हो??

  Murari Pareek

8 December 2009 at 20:08

आज स्वामी समीरानन्दजी क्या सेल लगा राखी है???

  काजल कुमार Kajal Kumar

8 December 2009 at 21:53

भाई लोगो मुझे तो पता नहीं

  अल्पना वर्मा

8 December 2009 at 22:03

@Makrand link dena allowed nahin hai...apni sazaa bhool gaye???

--Sangeeta ji aur Rekha ji ko dekhne aayi thi...aaj dikhaayee nahin din--

Shubh ratri.

Followers