खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (143) : आयोजक उडनतश्तरी

बहनों और भाईयों, मैं उडनतश्तरी इस फ़र्रुखाबादी खेल में आप सबका हार्दिक स्वागत करता हूं.

जैसा कि आप मुझसे भी ज्यादा अच्छी तरह से जानते हैं कि मैं क्यों ५ सप्ताह तक इस खेल का आयोजक रहूंगा. इस खेल के सारे नियम कायदे सब कुछ पहले की तरह ही रहेंगे. सिर्फ़ मैं आपके साथ प्रतिभागी की बजाय आयोजक के रुप मे रहुंगा. डाक्टर झटका भी पुर्ववत मेरे साथ ही रहेंगे.

आशा करता हूं कि आपका इस खेल को संचालित करने मे मुझे पुर्ण सहयोग मिलता रहेगा क्योंकि अबकी बार आयोजकी एक दिन की नही बल्कि ५ सप्ताह की है. और इस खेल मे हम रोचकता बनाये रखें और आनंद लेते रहें. यही इसका उद्देष्य है. तो अब आज का सवाल :-

नीचे का चित्र देखिये और बताईये कि इसमे कौन कौन से और कितने प्राणी हैं?





तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल शाम को 4:00 बजे दिया जायेगा, मैं और डाक्टर झटका खेल दौरान आपके साथ रहेंगे.


"बकरा बनाओ और बकरा मेकर बनो"


.टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.


Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

165 comments:

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 18:08

आज की पहेली में तो मुरारी लाल जरूर भाग लेंगें :)

  जी.के. अवधिया

14 December 2009 at 18:09

बिल्ली, कुत्ता, शेर और गधा

  Rekhaa Prahalad

14 December 2009 at 18:09

Namaskar, 4 jantu dikh rahe hai?
billi
bakari
kutta
gadha

  makrand

14 December 2009 at 18:10

पंडितजी नमस्कार.

  makrand

14 December 2009 at 18:11

अवधिया अंकल, जी और रेखा आंटी जी को बालक का प्रणाम.

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 18:13

आयुष्मान भव: मकरन्द बच्चा.....यूँ ही बकरे बनाते रहो :)

  Rekhaa Prahalad

14 December 2009 at 18:13

billi, bandar, sher, gadha aur shayad kutta + bakari:)

  makrand

14 December 2009 at 18:14

और पंडित जी आज तो मेरे को जितवा दिजिये..कोई लिंक मिले तो मुझे बताईये.

  makrand

14 December 2009 at 18:14

रेखा आंटीजी मुझे लिंक दिजिये, मैं चेक करके बताता हूं कि सही है कि नही?

  Rekhaa Prahalad

14 December 2009 at 18:15

Hi Makar!! kaise ho beta? HW kar liya ya mummy ko de aaye karne:)

  makrand

14 December 2009 at 18:15

आज बाबा समीरानंद जी नही आये अभी तक?

  makrand

14 December 2009 at 18:16

नही आंटी, माम्मी को तो ट्युशन जाने का बोल कर घर से निकला हूं, अभी यहां पहेली २ खेलूंगा फ़िर वापस घर. मम्मी को यही मालूम है कि अमिं ट्युशन पढने गया हूं.

  Rekhaa Prahalad

14 December 2009 at 18:17

Makar bete ye link/wink ke baare me mujh se behatar अंकल log bata sakte hai unhi se pucho/

  makrand

14 December 2009 at 18:18

अवधिया अंकल जी, पंडित अंकल जी...लिंक दिजिये ना..आज मुझे जीतना है.

  makrand

14 December 2009 at 18:19

मुरारी अंकल, महफ़ूज अंकल...कहां हैं? जल्दी चले आईये.

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:21

पंडितजी जी का शुक्रिया !! यहाँ तीन गधे और एक बिल्ली है !!!

  makrand

14 December 2009 at 18:22

अरे मुरारी अंकल नमस्ते

  पी.सी.गोदियाल

14 December 2009 at 18:23

तीन गधे एक बिल्ली और सबको राम-राम !

  makrand

14 December 2009 at 18:23

आप आगये ..बस मजा आगया..अंकल आज तो आप लिंक दे कर मुझे जितवा दिजिये.

  makrand

14 December 2009 at 18:23

मुरारी अंकल समोसे लाऊं क्या? पुदीना वाले?

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:24

उपस्थित सज्जनों को सलाम आनेवालों को प्रणाम

  makrand

14 December 2009 at 18:24

गोदियाल अंकल नमस्ते. कैसे हैं आप?

  पी.सी.गोदियाल

14 December 2009 at 18:24

मुरारी भाई को जीतने की बधाई!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 18:24

मुरारी लाल जी का गधा प्रेम इन्हे खीँच लाया :)

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:24

makrand ye kyaa link ki jid hai !!! link pandit ji ke paas hai

  पी.सी.गोदियाल

14 December 2009 at 18:25

नमस्ते मकरंद जी, मैं तो एकदम चंगा हूँ आप कैसे है ?

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:25

गधेद प्रेम???? हा..हा.. पंडितजी मुझे तो आपका प्रेम खिंच लाया था !!!

  makrand

14 December 2009 at 18:26

आज मुझे जेब खर्च के ३०० रुपये मिले हैं..जो भी मुझे लिंक देके जितवायेगा उसे गर्मागर्म समोसे और जलेबी खिलाऊंगा.

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:26

गोदियाल जी मैंने तो तुक्का मरा है !~!!

  पी.सी.गोदियाल

14 December 2009 at 18:26

हा-हा-हा, यार मुरारी भाई आप जोक अच्छे मार लेते हो !

  makrand

14 December 2009 at 18:28

ठीक है आप लोग मुझे नही जितवा रहे हैं मासूम बालक को? अब मैं चला गर्मागर्म जलेबी और समोसे खाने. अब बुलावोगे तब भी नही आऊंगा.

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:32

आदरणीय समीरजी, नमस्कार,
ललित जी राम राम
गोदियाल जी राम राम
संगीता जी नमस्कार
पंडित जी नमस्कार
गगन जी नमस्कार
रेखा जी नमस्कार
सुनीता दी नमस्कार
श्री श्री बाबा शठाधीश जी महाराज जी राम राम
मुरारी जी जय हिंद....
मकरंद को प्यार...

रामप्यारी I Love you......

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:33

हम आ गया हूँ....

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:34

पंडित जी..... मुरारी जी ...कल से जुलाब कि गोली खा के तालाब के किनारे बईठे हुए हैं अभिन तक..... उकडूं हो के.... हमरा लोटा भी नहीं लौटाए हैं.....

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:34

mahfuj bhaai salaam!!! khushamdeed!!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 18:34

मियाँ मुरारी जी..हम तो यहाँ रोज ही होते हैं..बाकी रोज आपका प्रेम कहाँ चला जाता है...ये प्रेम उसी रोज कयूँ झलकता है जिस दिन पहेली मे गधे के बारे में पूछा जाता है :)

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:35

आज बाबा समीरानंद जी नही आये अभी तक?

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:35

यार शनिवार रविवार को पब्लिक को पकाना होता ह ई इसलिए नहीं आ पाता !!

  Gagan Sharma, Kuchh Alag sa

14 December 2009 at 18:36

गधा, गाय, बिल्ली, शेर और खरगोश या एमू

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:36

मुररीजी .पंडित जी कि बात का जवाब दीजिये........

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:36

महफूज भाई जो पहले लोटा होता है उसे कैसे लौटाएं !!!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:37

mahfuj bhaai upar jawaab de diya||

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:37

पंडित जी...... मुरारी जी से कहिये कि हमरा लोटा लौटा दें....

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:37

हां! हम देख लिया हूँ.....

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:38

अब रुकिए ...तनिक हम फोटुवा देख के जवाब दे दें....

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:39

अरे! मुरारी जी..... इस फोटू में तो हम दोनों भी हैं.........

  दीपक "तिवारी साहब"

14 December 2009 at 18:40

सभी पंच लोगों को रामराम. मकरंद बच्चा को आशीर्वाद.

  अजय कुमार झा

14 December 2009 at 18:40

एक बागड बिल्ला, एक गधी, एक बकरा, एक शेरनी, एक कुतिया, भेड, चूहा ,घोडा ,जेब्रा, कंगारू, चिंपांजी, एक ठो सांप, एक हाथी , एक ऊंट, (देखिए मेल फ़ीमेल कुछ भी हो सकते हैं ..जो ठीक हो वही हमारा उत्तर माना जाए )और कौनो बच गया का .....

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:40

इसमें दुई ठो गधा है.... एक ठो बिल्ली अऊर एक गो कुत्ता.....

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:40

shikaayat karni hogi mahfuj bhaai !!! hamaari fotu binaa ijajat kaise lagaai!!!

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:41

अजय जी.......... आप पूँछ उठा के बहुत देखते हैं.......

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:41

मैं तो कहता हूँ कैश कर देते हैं !!! बिना पूछे फोटू लगाने का कोनसा केश बनता है ज़रा देख कर बताइये!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 18:41

महफूज जी, ये आपका लोटा आगे किराये पर दे चुके हैं :)

  दीपक "तिवारी साहब"

14 December 2009 at 18:42

सज्जनों हमको इस चित्र मे एक गधा , दूसरी गधी तीसरा उल्लू और एक भेड परिलक्षित हो रही है? आपका क्या खयाल है? ये जवाब लोक करवाया जाये?

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:42

ऊहे तो मुरारी जी..... आज हम दूनो का फोटू है..... सिकायत करनी परेगी....

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:43

किसको दिए हैं किराए पर?

  दीपक "तिवारी साहब"

14 December 2009 at 18:43

मुरारी भाई, आप फ़ोटो लगाने की रामप्यारी से रायल्टी मांग लिजिये.:)

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:44

अब इ देखिये दीपक जी को..... इस पहेली में इतना क्लिष्ट हिंदी बोले हैं....परिलिक्षित..... अब तो शब्कोष भी लेके बैठना पड़ेगा....

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:45

अरे! हमरा लोटा लौटा दो....

  श्री श्री १००८ बाबा समीरानन्द जी

14 December 2009 at 18:46

जय हो.




भक्तों को बाबा का बहुत आशीष.

बाबा के आश्रम पधार कर आशीर्वाद ले लो...

नोट:

. पहेली में भी जीतने के लिए आश्रम में हवन करवाया जाता है.

. हमारी कोई ब्रान्च नहीं है.

. नकलचियों से सावधान.

. ब्लॉगजगत के एकमात्र सर्टीफाईड एवं रिक्गनाईज्ड बाबा.

-सबका कल्याण हो!!


सूचना:

-बाबा प्रॉडक्टस के लिए आश्रम पधारें-

कुंभ की विशेष छूट

बेहद सस्ते दामों पर

महा सेल-महा सेल-महा सेल

नोट:

ऐसा मौका फिर १२ साल बाद आयेगा.

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:47

लो! फेर सब गायब हो गए.......... अरे! खेलो न.........

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:47

श्री श्री १००८ बाबा समीरानन्द जी राम राम...

  जी.के. अवधिया

14 December 2009 at 18:47

हम तो सिर्फ एक बार झाँक लेते हैं यहाँ पर। एक बार भोग चुके हैं दुबारा नहीं भोगना चाहते।

सबको राम राम!

  दीपक "तिवारी साहब"

14 December 2009 at 18:48

बाबा समीरानंद जी साष्टांग दंडवत प्रणाम. आपका आगमन बहुत विलंब से हुआ है बाबाश्री? आज कहीं चुनावी सभा स्थल पर उत्पात मे फ़ंस गये थे क्या?

  श्री श्री १००८ बाबा समीरानन्द जी

14 December 2009 at 18:48

सबका कल्याण हो!!




सूचना

* आश्रम में महिलाओं के लिए अलग से प्रभाग खुल गया है एवं प्रवचन में भी अलग से बैठने की व्यवस्था है.

* कृप्या आश्रम पधार कर Followers बटन पर घंटी बजा बाबा समीरानन्द के भक्त बन कर पुण्य कमायें एवं बाबाश्री का आशीर्वाद पायें.

-आश्रम मेनेजमेन्ट

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:50

सब भाग गए..........

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:50

बाबाजी दंडवत प्रणाम आपके प्रवचन कल मेरे ब्लॉग पे लगाया जाएगा आज प्रोडक्शन खाली नहीं था अत: नहीं लगा पाया !!!

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:52

मुरारी जी........ कहाँ चले जाते हैं आप भी? इहाँ तक बदबू (कई लोगों के लिए महक ) आता है.........

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:54

main film bhi dekh rahaa hun bhai sath me !!!

  संगीता पुरी

14 December 2009 at 18:54

दो गधे , एक कुत्‍ता और उल्‍लू !!

  श्री श्री १००८ बाबा समीरानन्द जी

14 December 2009 at 18:55

नहीं शिष्य तिवारी साहब,


विभिन्न प्रभागों की नियुक्तियाँ चल रही हैं आश्रम में. आज ही महिला प्रभाग की घोषणा की गई है.


भोजन भंडारण विभाग भी चालू होना है आज कल.

उसी सब में व्यस्त हैं.

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:55

हाँ ! सोचने वाली जगह पे फिल्म भी देखि जा सकती है......

  संगीता पुरी

14 December 2009 at 18:55

अपने आश्रम में यज्ञा हवन करवाने के लिए ही तो बाबा समीरानंद जी महाराज इतने भारी प्रश्‍न पूछते हैं आजकल !!

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:56

मुरारी जी..... पर हमरा लोटा लौटा दीजिये.....

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:57

महफूज भाई पंडित प्यासा क्यों? गधा उदासा क्यों??

  Murari Pareek

14 December 2009 at 18:58

महफूज भाई पंडित प्यासा क्यों? गधा उदासा क्यों??
उतर दीजिये!!! दोनों का एक ही उतर है!!!

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:58

अब इ हम सोच के आता हूँ? हमें भी लग गई है.....

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 18:59

इ दोनों उदास इसलिए क्यूंकि लोटा ललित जी ले गए हैं........

  संगीता पुरी

14 December 2009 at 19:00

मेरा जबाब बदला जाए .. दो गधे , एक कुत्‍ता और एक बिल्‍ली .. फायनल !!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:01

पंडित प्यासा क्यों? गधा उदासा क्यों?? उतर मैं बताता हूँ महफूज भाई क्यूंकि की लौटा ना था! पंडितजी के पास कुआ था पर लोटा नहीं था !! इसलिए प्यासा था और गधा राख में लोटा न था इसलिए उदासा था !!!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:02

संगीताजी कुता कहाँ हैं मुझे दिखाई नहीं दिया !!!

  संगीता पुरी

14 December 2009 at 19:02

वाह मुरारी पारीक जी !!

  संगीता पुरी

14 December 2009 at 19:03

पूंछ किसकी है मुरारी जी !!

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 19:03

वाह! बहुत सही जवाब.......

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 19:04

वाह! मुरारी जी....... संगीता जी ने मुझे देख लिया........ और आप देख ही नहीं पाए........ कईसे दोस्त हैं ?

  दीपक "तिवारी साहब"

14 December 2009 at 19:05

जरा संगीता जी लिंक दिजिये. देखे कि कुता है या नही?

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 19:06

मुरारी जी....आप सोचते बहुत हैं न......... थोडा खाने के बाद टहल लिया करिए.....

  संगीता पुरी

14 December 2009 at 19:07

लिंक ही तो ढूंढ रही हूं दीपक जी .. पर जब से आयोजक उडनतश्‍तरी जी बने हैं .. लिंक ही नहीं मिलती .. आज जबाब आने के बाद भी गूगल में dog training ढूंढा .. फिर भी न)हीं मिली !!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:10

तब तीन गधे एक कुता और एक बिल्ली

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 19:11

यह तीसरा कौन है.........?

  सुनीता शानू

14 December 2009 at 19:17

बिल्ली,गधा, भैंस,शेर,कुत्ता है..

  Udan Tashtari

14 December 2009 at 19:22

सभी विद्वजनों को मेरा प्रणाम और मुरारी बाबू को भी. :).

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:31

mahfuj bhaai teesraa gadhaa pith fere khadaa hai !! sameerji ko pranaam!!!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:33

koi hint???

  डाँ. झटका..

14 December 2009 at 19:35

सूचना

हमारा हिंट स्पेशल कहता है कि इसमे टोटल ४ प्राणी हैं..शुरु हो जाईये!!

कोई और सेवा हो तो आवाज लगाईयेगा.

  Udan Tashtari

14 December 2009 at 19:36

बड़ी मुश्किल पहेली है जी!!

  दीपक "तिवारी साहब"

14 December 2009 at 19:37

फ़िर तो एक गधा, एक बकरी, एक बिल्ली और एक भेड है. लाक किया जाये.

  Udan Tashtari

14 December 2009 at 19:38

मुरारी बाबू की सॉलिड सेटिंग है डॉ झटका से. हिंट मांगा और दो मिनट में मिल भी गया.

  दीपक "तिवारी साहब"

14 December 2009 at 19:38

डाक्टर झटका हाय हाय..

  दीपक "तिवारी साहब"

14 December 2009 at 19:39

और डाक्टर झटका ये लो पूरी १०० वीं टिप्पणी.आज तो लिंक दे ही दो डाक्टर खुद ही आप पर कौन जुर्माना करेगा?

  Udan Tashtari

14 December 2009 at 19:42

१०१ वीं

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 19:44

१. गधा...
२. बिल्ली...
३. खच्चर....
४. पामेरियन कुत्ता...

  संगीता पुरी

14 December 2009 at 19:44

तीन गधे और एक बिल्‍ली है !!

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 19:44

१०३ वीं

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 19:45

१०५ वीं

  संगीता पुरी

14 December 2009 at 19:45

महफूज भाई .. गिनती भूल गए हैं क्‍या ??

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 19:47

अरे! जैसे ही पोस्ट किये ...वैसे ही आप आ गयीं.... ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ ऊँ ....

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:50

teen gadhey aur ek billi

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:50

kutaa nahi hai !!!

  दीपक "तिवारी साहब"

14 December 2009 at 19:50

अरे महफ़ूज भाई जीत गये...महफ़ूज भाई जिंदाबाद. अब तो मिटःआई खिलवाओ महफ़ूज भाई.

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:52

डाक्टर झटका मेरे ख़ास डाक्टर हैं मेरा इलाज इन्ही के पास चल रहा है !! समीरजी ये बड़े अच्छे डाक्टर हैं!!!

  Rekhaa Prahalad

14 December 2009 at 19:53

mere pahela jawab hi sahi lagata hai.
billi
bakari
kutta
gadha

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:54

रेखाजी डाक्टर साहब ने बताया की प्राणी चार है तो तीन गधे तो स्पष्ट दिख रहे हैं!!! फिरर आपके एनी प्राणी कहा आयेंगे!!!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:56

ये ललित भाई और श्ठेश्वर्जी और निथ्ल्लानान्दजी कहा गायब हो गए !!!

  Rekhaa Prahalad

14 December 2009 at 19:56

muhge to ek gadhe ke kaan hi najar aa rahe hai murari babu.

  Rekhaa Prahalad

14 December 2009 at 19:57

mera matalab mujhe sirf ek gadha hi najar aa raha hai:)

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:57

मैं aataa हूँ तो koi मिलता क्यूँ नहीं ???

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:58

रेखाजी उसे बड़ा करके देखिये!!!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 19:59

समीरजी कहाँ चले गए !!!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:00

डाक्टर साहब आपकी हिंट में तो कोई गड़बड़ नहीं है न!!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 20:02

दो गधे एक कुता और एक बिल्ली...100 % सही जवाब..
जै राम जी की

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 20:04

मुरारी जी .......आप बार बार चले जाते हैं......... कायम चूरन खाइए.....

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 20:04

दीपक जी......... धन्यवाद........ धन्यवाद.........

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:07

कुत्ता नजर नहीं आया मुझे अभी तक!!! महफूज भाई कायम चूर्ण भी कायम नहीं रहता क्या करें !!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:08

पंडित जी तीन गढ़े स्पष्ट दिखाई दे रहे हैं और बिल्ली भी तो कुता आने से पांच हो ग्फाये डाक्टर साहब की हिंट गलत नहीं हो सक्क्ति

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:09

पंडित जी एक बार और सोचालय........ मेरा मतलब सोच लीजिये !!!

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 20:10

अ मेसेज फ्रॉम डॉ. झटका एंड उड़न तश्तरी जी:---



आप सबको यह सहर्ष सूचित किया जाता है कि कल के विजेता श्री श्री १००८ बाबा समीरानन्द जी और मां अदा चैतन्य कीर्ति महाराज साहिबा जी के चेले श्री. महफूज़ अली हैं..... इनको आश्रम का सफाई कर्मी नियुक्त किया है........

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 20:11

सोचने की जरूरत ही नहीं रही...हमारे पास लिंक है लेकिन देंगें नहीं ।

जै राम जी की...

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:12

अच्छा ये !!! सुचना डुप्लीकेट है !!! फर्जीवाड़ा फैला रहे हैं!!! बाबा जी का ऐसा फरमान कोई कैसा हो सकता है !!!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:12

लिंक मेल कर दीजिये पंडितजी janimurari@yahoo.co.in par

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 20:13

पूछ लीजिये..... दोनों से....

पूरी सच्चाई है.........

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:14

galat jawaab pandit ji !!!

  अजय कुमार झा

14 December 2009 at 20:15

महफ़ूज जी बधाई हो ,
तो बताईये पहेली में पूछे गए कुल जानवरों ने कल कुल कित्ती छी छी करी ..वजन ठीक ठीक बताया जाए ...गैस बनाने के काम आ सकता है

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:16

अजय जी लेखा जोखा विभाग से पधारे है!! हा..हा..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 20:16

डा. झटका हाजिर हों....यहाँ मुरारी लाल एक इमेल पता लिख रहे हैं जो कि पहेली से किसी भी तरह से संबंधित नहीं है...इन पर पब्लिक को गुमराह करने की एवज मे दण्ड लगाया जाए ....

  डाँ. झटका..

14 December 2009 at 20:17

सूचना

  डाँ. झटका..

14 December 2009 at 20:17

जरुरी सूचना : देवियों और सज्जनों

बहुत ही काम का और सटीक हिंट हमे मिला है. कृपया तैयार होकर सुने

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 20:18

ही ही ही

  डाँ. झटका..

14 December 2009 at 20:21

हिंट : इस चित्र मे आठ आंखें, तीन पूंछे और १४ टांगे हैं. अपने विवेक से उत्तर दिजियेगा. जिसका सबसे सटीक उत्तर होगा वही विजेता माना जाने के चांस हैं. हमारी बात पर आप विश्वास आपकी रिस्क पर कर सकते हैं. रामप्यारी पहेली कमेटी इसके लिये कोई उत्तरदायित्व नही लेगी

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:22

ajeeb docter ki ajeeb hint hai ha..ha..

  महफूज़ अली

14 December 2009 at 20:23

डॉ. झटका बकरा हलाल करने वाले हैं....... इस सूचना से ऐसा ही लगता है..............

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:23

अपना तो वही जवाब है तीन गधे और एक बिल्ली

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 20:24

दो गधे एक आदमी एक बिल्ली......

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:24

अपना जवाब नहीं बदलेगा महफूज भाई!!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 20:24

आदरणीय डा. झटका जी, यहाँ मुरारी लाल एक इमेल पता लिख रहे हैं जो कि पहेली से किसी भी तरह से संबंधित नहीं है...इन पर पब्लिक को गुमराह करने की एवज मे दण्ड लगाया जाए ....

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:26

पंडित जी ये कानून नहीं मन जाएगा कहीं भी नहीं लिखा की इ मेल ई दी देना मना है !!! खिसियानी बिल्ली खम्बा नोचे वाली कहावत चरितार्थ मत कीजिये हा..हा..

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:27

चमेली का तेल भेजूं क्या !!!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:29

खिसक ले भैया निकल भैया संभल ले भैया रे........... main chalaa

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 20:30

प्रण करते हैं कि आज अगर डा. झटका ने अन्याय का साथ दिया तो कल से हम पहेली में भाग नहीं लेंगें :)

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:32

लगा दीजिये दागतर साब हम किसी को दुखी नहीं करना कहते !!!

  डाँ. झटका..

14 December 2009 at 20:33

अभी तक सही जवाब नही आया है

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:33

पंडितजी मरने मारने पे उतारू हो गए !!!! हा..हा..हा.. अब तो लगा ही दीजिये पर ज़रा छोटी ही लगाएँ!!!

  'अदा'

14 December 2009 at 20:35

दो गधे एक कुता और एक बिल्ली

  अजय कुमार झा

14 December 2009 at 20:36

ये बिल्ला तो जरूर ही रामप्यारी का कोई फ़ैमिली फ़्रैंड होगा ..बांकी सब हमारे फ़ैमिली फ़्रैंड......

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 20:36

दो गधे एक बिल्ली अर एक लुगाई.....

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:37

दरअसल इस फोटू के साथ छेड़ चाद की गयी है !!! कहीं की फोटू कही लगाईं गई है अत: लिंक नहीं मिल रहा !!!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:38

पंडितजी लुगाई कहाँ से आ गयी मिनख ही बोल देते !!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

14 December 2009 at 20:41

मियाँ मुरारी लाल जी...लुगाई देखने के लिए दिव्यदृ्ष्टि चाहिए होती है :)

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:43

दिव्य दृष्टि !! ओह तब तो मुझे कहीं लुगाई दिखाई ही नहीं देगी पंडितजी!!!

  Murari Pareek

14 December 2009 at 20:47

पंडित जी शुभ रात्रि !!! आराम से सोइए टेंशन मत लीजये !!! कल पता चल ही जाएगा की कौन कौन प्राणी हैं !!!और तो कोई है नहीं यहाँ !! दाग्धर साब जय रामजी की शुभ रात्रि और सभी को शुभ रात्रि यदि कोई है तो!!! अगर सुबह कोई अत है है गुड मोर्निंग!!!

  Rekhaa Prahalad

14 December 2009 at 21:09

billi
gadha
bakara/bakari
panchi (dwipaad)

  श्री श्री १००८ बाबा समीरानन्द जी

14 December 2009 at 21:25

सूचना

आश्रम की घोषणाएँ सिर्फ आश्रम फलक से की जाती हैं. अखबार या अन्य माध्यमों से की गई घोषणाएँ आश्रम की अधिकृत घोषणाएँ नहीं हैं.

कृप्या अफवाहों से सावधान!!!

हमारी कोई ब्रान्च नहीं है.

-आश्रम मेनेजमेन्ट

  Udan Tashtari

14 December 2009 at 21:30

आठ आंखें, तीन पूंछे और १४ टांगे हैं.

-फोटो ने देखें तो कोई दानवी प्राणी लगे...मायावी डायनोसॉर!!!

  महेन्द्र मिश्र

14 December 2009 at 21:38

एक गधा और एक गधेडी और एक बिल्ली

  प्रवीण शाह

14 December 2009 at 23:37

.
.
.
दो गधे, एक बिल्ली और एक HUMAN जिसके कंधों या सर पर बिल्ली बैठी है।

Followers