खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (147) : आयोजक उडनतश्तरी

बहनों और भाईयों, मैं उडनतश्तरी इस फ़र्रुखाबादी खेल में आप सबका हार्दिक स्वागत करता हूं.

जैसा कि आप मुझसे भी ज्यादा अच्छी तरह से जानते हैं कि मैं क्यों ५ सप्ताह तक इस खेल का आयोजक रहूंगा. इस खेल के सारे नियम कायदे सब कुछ पहले की तरह ही रहेंगे. सिर्फ़ मैं आपके साथ प्रतिभागी की बजाय आयोजक के रुप मे रहुंगा. डाक्टर झटका भी पुर्ववत मेरे साथ ही रहेंगे.

आशा करता हूं कि आपका इस खेल को संचालित करने मे मुझे पुर्ण सहयोग मिलता रहेगा क्योंकि अबकी बार आयोजकी एक दिन की नही बल्कि ५ सप्ताह की है. और इस खेल मे हम रोचकता बनाये रखें और आनंद लेते रहें. यही इसका उद्देष्य है. तो अब आज का सवाल :-

नीचे का चित्र देखिये और बताईये ये कौन हैं??




तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल दिया जायेगा, मैं और डाक्टर झटका खेल दौरान आपके साथ रहेंगे.


"बकरा बनाओ और बकरा मेकर बनो"


.टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.


Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

23 comments:

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

18 December 2009 at 18:17

यो बेदी आन्टी दिखे है...अरे वही जिसका बडा अच्छा सा नाम है !
याद नहीं आ रहा........हाँ मन्दिरा !!

  Rekhaa Prahalad

18 December 2009 at 18:28

Namaskar, ha ye mandira bedi hi hai.

  अल्पना वर्मा

18 December 2009 at 18:29

Mandira Bedi
[Set max ke set par]

aaj pahla jawab hi sahi aa gaya Shayd...isliye itna snaannata hai!

  Gagan Sharma, Kuchh Alag sa

18 December 2009 at 18:30

Urmila Matondkar

  पी.सी.गोदियाल

18 December 2009 at 18:34

कोई औरत लग रही है मुझे तो !

  पी.सी.गोदियाल

18 December 2009 at 18:37

अब नाम चाहे जो भी जो लेकिन इतना पका है कि कोई लेडी है!

  पी.सी.गोदियाल

18 December 2009 at 18:40

ताउजी राम-राम !

  पी.सी.गोदियाल

18 December 2009 at 18:40

डोक्टर झटका राम-राम !

  पी.सी.गोदियाल

18 December 2009 at 18:41

वत्स साहब राम-राम !

  पी.सी.गोदियाल

18 December 2009 at 18:41

मकरंद जी राम राम !

  पी.सी.गोदियाल

18 December 2009 at 18:41

पारिख जी राम-राम !

  पी.सी.गोदियाल

18 December 2009 at 18:41

बाबा लोगो राम -राम

  पी.सी.गोदियाल

18 December 2009 at 18:41

भूले बिश्रे को राम -राम

  पी.सी.गोदियाल

18 December 2009 at 18:41

चलता हूँ राम-राम !

  makrand

18 December 2009 at 18:44

सभी उपस्थित आंटीयों और अंकलों को नमस्ते

  makrand

18 December 2009 at 18:44

आज इतना सन्नाटा क्यू है भाई?

  makrand

18 December 2009 at 18:45

कहीं गब्बर तो नही आगया गांव में? कोई जवाब क्युं नही देता?

  makrand

18 December 2009 at 18:46

चलता हूं जी, ट्युशन से वापसी मे आता हूं.

  ललित शर्मा

18 December 2009 at 18:48

SHRI DEVI HAI. GODIYAL JI KAHAN CHAL DIYE, HAMARE AATE HI

  ललित शर्मा

18 December 2009 at 18:49

KESE HO BETA MAKARAND, KAHAN GAYE SAB?

  श्री श्री १००८ बाबा समीरानन्द जी

18 December 2009 at 19:24

जय हो.




भक्तों को बाबा का बहुत आशीष.

बाबा के आश्रम पधार कर आशीर्वाद ले लो...

नोट:

. पहेली में भी जीतने के लिए आश्रम में हवन करवाया जाता है.

. हमारी कोई ब्रान्च नहीं है.

. नकलचियों से सावधान.

. ब्लॉगजगत के एकमात्र सर्टीफाईड एवं रिक्गनाईज्ड बाबा.

-सबका कल्याण हो!!


सूचना:

-बाबा प्रॉडक्टस के लिए आश्रम पधारें-

कुंभ की विशेष छूट

बेहद सस्ते दामों पर

महा सेल-महा सेल-महा सेल

नोट:

ऐसा मौका फिर १२ साल बाद आयेगा.

  Udan Tashtari

18 December 2009 at 19:27

डॉ झटका को भेजूं क्या मदद चाहिये हो तो??

  रंजन

18 December 2009 at 23:51

जे तो एक महिला है... पक्का

Followers