खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (150) : आयोजक उडनतश्तरी

बहनों और भाईयों, मैं उडनतश्तरी इस फ़र्रुखाबादी खेल में आप सबका हार्दिक स्वागत करता हूं.

आज १५० वें सवाल के उपलक्ष मे सभी विजेताओं को शानदार ट्राफ़ी दी जायेगी!

जैसा कि आप मुझसे भी ज्यादा अच्छी तरह से जानते हैं कि मैं क्यों ५ सप्ताह तक इस खेल का आयोजक रहूंगा. इस खेल के सारे नियम कायदे सब कुछ पहले की तरह ही रहेंगे. सिर्फ़ मैं आपके साथ प्रतिभागी की बजाय आयोजक के रुप मे रहुंगा. डाक्टर झटका भी पुर्ववत मेरे साथ ही रहेंगे.

आशा करता हूं कि आपका इस खेल को संचालित करने मे मुझे पुर्ण सहयोग मिलता रहेगा क्योंकि अबकी बार आयोजकी एक दिन की नही बल्कि ५ सप्ताह की है. और इस खेल मे हम रोचकता बनाये रखें और आनंद लेते रहें. यही इसका उद्देष्य है. तो अब आज का सवाल :-

नीचे का चित्र देखिये और बताईये कि इस लडकी के पीछे (या आजू बाजू) के चित्र मे कौन कौन हैं?





तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल शाम को 4:00 बजे दिया जायेगा, मैं और डाक्टर झटका खेल दौरान आपके साथ रहेंगे.


"बकरा बनाओ और बकरा मेकर बनो"


.टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.


Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

67 comments:

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:01

sap aur newlaa

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 18:03

Aaz mera laptop kharab hai atah mafi ke sath roman me Namaskaar!!

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:04

namskaar !!! sameerji!!

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:06

mongoose hunting to snake !!

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:07

आज सब कहाँ गायब है!!

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:09

लगता है आज छुट्टी है वो भी सरकारी!!!

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 18:09

sab ghabra gaye ki murari ji vapas aa gaye hain.


Abhi Makrand ko saja katne aana hai kal ki

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:11

दर असल नेवला सांप को मरना चाह रहा है !! अगर जल्द रोका न गया तो मार डालेगा!!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

21 December 2009 at 18:11

बीच में गधा, बाएँ साँप और दहिने नेवला.....

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:13

मकरंद और बाबाओं की भीड़ कहीं कोई नजर नहीं आ रहा!!!समीरजी क्या सचमुच मेरे आन से दर गए सब?? हा..हा..हा..

  Rekhaa Prahalad

21 December 2009 at 18:14

sabko namaskar! बीच में गधा, बाएँ साँप और दहिने नेवला...

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:14

पंडित जी आ गए हिम्मत करके!!!

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:15

rekhaji namaskaar!!

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 18:15

pundit ji, Rekha ji...Namaskaar


Makrand kahan gaya??

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

21 December 2009 at 18:15

भई मुरारी जी, हम तो गधे का साथ देने को आए हैं :)

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:16

आजू बाजू के चित्र में पूछा गया है न की लड़की के चित्र में !!!

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:16

आखिर भाई ही भाई के काम आता है पंडित जी !!:)

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 18:17

शहर में,
न चोरी, न डकैती
न हत्या, न बलात्कार...

हर तरफ बस शांति हैं..

सुना है हड़ताल है,
nahi aaya hai अखबार!!

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:17

इतना सन्नाटा क्यूँ है भाई!!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

21 December 2009 at 18:18

मुरारी जी, हम तो यहाँ ब्लागजगत में सबको भाई ही समझते हैं :)

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 18:19

kitane unche vichar hain pundit ji ke. Dhanya hue!!!

  श्री श्री साढ़े सात हजार बाबा सांडनाथ !!

21 December 2009 at 18:19

क्या हो रहा है भक्तों??

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

21 December 2009 at 18:20

समीर जी, बस सब बाबा लोगों की संगत का प्रताप है :)

  श्री श्री साढ़े सात हजार बाबा सांडनाथ !!

21 December 2009 at 18:22

अच्छा है बच्चा सवा: की उन्नति ही संसार की उन्नति का मार्ग प्रशस्त करती है !!

  श्री श्री साढ़े सात हजार बाबा सांडनाथ !!

21 December 2009 at 18:23

सादा जीवन उच्च विचार सर्व श्रेष्ठ मूलमंत्र है !!!

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 18:24

Babaji aa gaye,,

  ललित शर्मा

21 December 2009 at 18:24

समीर भाई
मुरारी जी
पँडित जी
रेखा जी को समवेत नमस्कार

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:25

पंडितजी न की ब्लॉग जगत में बल्कि सभी को अपना भाई समझें तो क्या हर्ज है !!

  श्री श्री १००८ बाबा समीरानन्द जी

21 December 2009 at 18:25

जय हो.




भक्तों को बाबा का बहुत आशीष.

बाबा के आश्रम पधार कर आशीर्वाद ले लो...

नोट:

. पहेली में भी जीतने के लिए आश्रम में हवन करवाया जाता है.

. हमारी कोई ब्रान्च नहीं है.

. नकलचियों से सावधान.

. ब्लॉगजगत के एकमात्र सर्टीफाईड एवं रिक्गनाईज्ड बाबा.

-सबका कल्याण हो!!


सूचना:

-बाबा प्रॉडक्टस के लिए आश्रम पधारें-

कुंभ की विशेष छूट

बेहद सस्ते दामों पर

महा सेल-महा सेल-महा सेल

नोट:

ऐसा मौका फिर १२ साल बाद आयेगा.

--------------------------------------------------------------------------------

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:25

ललितजी नमस्कार काफी विलम्ब किया आपने !!!

  ललित शर्मा

21 December 2009 at 18:26

काळ्यो कूद पड़यो मेळा मै सायकिल पिंचर कर ल्यायो।

ये गधा है।

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 18:26

Lalit bhai ko namaskaar roman me. computer kharab ho gaya. :(

  ललित शर्मा

21 December 2009 at 18:27

अरे ये सांड फ़िर आ गया मुरारी जी पकड़ो इसको,
जेवड़ी ल्याओ। रोज आ जाता है। अब तो इसकी सवारी करनी पड़ेगी।

  श्री श्री साढ़े सात हजार बाबा सांडनाथ !!

21 December 2009 at 18:27

प्राणाम मुनिवर!!! सूना है काफी पद रिक्त हैं आपके पास अपने आश्रम में हमें भी कोई पद पर आसीन करदें तो दर दर भटकने से मुक्ति मिलेगी!!

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 18:28

Ye to Babaji hain!!

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:28

ललितजी जेवादी नहीं कोई रस्सा ल्यावो !!! मोटा सा या फिर कोई सांकल !!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

21 December 2009 at 18:29

भई हम जवाब दे चुके हैं....बीच में गधा, बाएँ साँप और दाहिने मंगूस ।।

जय राम जी की......

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 18:29

Baba Sameernand yahan kuch nahi sunate aisa Mahfooz bhai ne bataya tha. Email se baat karte hain appointments ki. :)

  ललित शर्मा

21 December 2009 at 18:30

आजकल तो लोग हमारी मुंछो के पीछे ही पड़ गये हैं, क्या करें? पहले तो कमेंट ही करते थे। अब तो पुरी पोस्ट ही लगा देते हैं, खर्चा हमारा होता है मजे लोग लेते हैं। बड़ी समस्या है। हा हा हा

  श्री श्री साढ़े सात हजार बाबा सांडनाथ !!

21 December 2009 at 18:30

बच्चा ललित इस तरह बाबाओं का अपमान नहीं करते !!! बाबा के सींगो को तेल चढाओ !!! सब पापों से मुक्ति पाओ!!!

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 18:31

kahan munch par post hai?? jara link dena lalit bhai??

  श्री श्री साढ़े सात हजार बाबा सांडनाथ !!

21 December 2009 at 18:32

हाँ भाई हम भी ज़रा देखें आपकी मूंछों ने क्या कहर ढाया है!!! ज़रा लिंक देवें तो!!

  ललित शर्मा

21 December 2009 at 18:33

This comment has been removed by the author.
  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:36

समीरजी आपकी रचनाएं मिली !! लाजवाब !! पीड़ा से मन उद्वेलित हो गया दुःख से सरोबार हैं !!!

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:37

lalitji aapki rachnaayein kal sunaa paaungaa!!!

  ललित शर्मा

21 December 2009 at 18:37

मुझे तो सींग की जरुरत है बजाने के लिए सींगा चाहिए बाबा जी को भेंट करना है। इसके सींग पाड़ने पड़ेंगे।

  Murari Pareek

21 December 2009 at 18:38

आज मकरंद नजर नहीं आ रहा !!! कोंसी परीक्षा की तैयारी कर रहा है !!!

  श्री श्री साढ़े सात हजार बाबा सांडनाथ !!

21 December 2009 at 18:41

हम भी निकलते हैं जय श्री गोवर्धन गिधारी!!!

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 18:41

VAAH~~muari Babu..aapki awaz mil jati hai to value badh jaati hai unki

  पी.सी.गोदियाल

21 December 2009 at 18:44

गधा है, सांप है नेवला है और पीछे एक मैदान नुमा जगह है !

  पी.सी.गोदियाल

21 December 2009 at 18:45

खच्चर है सांप है नेवला है और पीछे एक मैदान नुमा जगह है !

  पी.सी.गोदियाल

21 December 2009 at 18:45

सभी को राम-राम है !

  पी.सी.गोदियाल

21 December 2009 at 18:47

शहर में,
न चोरी, न डकैती
न हत्या, न बलात्कार...

हर तरफ बस शांति हैं..

सुना है हड़ताल है,
nahi aaya hai अखबार!!

समीर जी भयंकर बर्फ बारी जो हो रही है , अखबार वाले पर रहम करो !

  पी.सी.गोदियाल

21 December 2009 at 18:48

चलते है राम-राम !

  श्री श्री बाबा शठाधीश जी महाराज

21 December 2009 at 18:52

अलख निरंजन बच्चा लोग, मुरारी बच्चा हमारी लंगोटी कहाँ है?

  श्री श्री बाबा शठाधीश जी महाराज

21 December 2009 at 18:53

मुरारी बच्चा कहाँ हो?

  ललित शर्मा

21 December 2009 at 19:00

श्री श्री शठाधीश महाराज बाबा जी राम-राम, कहाँ गये सब?
श्री श्री साढ़े सात हजार बाबा सांडनाथ को प्रणाम

  Murari Pareek

21 December 2009 at 19:03

ओह बाबाजी या तो मेरी लंगोट से काम चला लो नहीं तो सोनी का uw ले लो !!!

  श्री श्री साढ़े सात हजार बाबा सांडनाथ !!

21 December 2009 at 19:04

यहीं है बाबा श्ठेश्वर नाथ जी को सदर अभिनन्दन!!

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 19:13

makrand...beta makrand!!!!!ooo!!!

  खुला सांड

21 December 2009 at 19:19

उपस्थित सज्जनों से अनुरोध है !! मेरे द्वारे पधार कर अपने बहुमूल्य विचार देवें!!!

  makrand

21 December 2009 at 19:22

आगया अंकल. बोलिये।

  makrand

21 December 2009 at 19:23

सांप और नेवले की लडाई चल रही है

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 19:29

Makrand,

Kal ki saja me aaz 21 tippaniyan baki hain???

  Murari Pareek

21 December 2009 at 19:38

aa gaye makrand!!

  Murari Pareek

21 December 2009 at 19:38

aa gaye makrand!!

  Murari Pareek

21 December 2009 at 19:39

ये छोटी सी जान और इतना सारा काम !! बोले तो २१ टिप्पणिया !~!! चलो फटाफट जमा करा ही दो !!!

Followers