खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (157) : आयोजक उडनतश्तरी

विशेष सूचना : कल पहेली न. 158 एक स्पेशियल पहेली होगी. कल की पहेली का विजेता होगा Pahel champion of the year - 2009. इसके कायदे कानून कल पहेली 157 की जवाबी पोस्ट मे घोषित कर दिये जायेंगे, तो कल शाम को 6:00 बजे मेगा पहेली मे भाग लेना ना भूलियेगा!


तो बहनों और भाईयों, अब मैं उडनतश्तरी इस फ़र्रुखाबादी खेल में आप सबका हार्दिक स्वागत करता हूं. और संगीता जी को हेट्रिक के लिये अग्रिम बधाई! आज उनकी हेट्रिक बने इसलिये डाक्टर झटका और रामप्यारी मैम से कहकर इतनी आसान सी फ़िल्मी पहेली रखवाई है.

जैसा कि आप मुझसे भी ज्यादा अच्छी तरह से जानते हैं कि अब मेरी सजा पूरी होने को है. जल्द ही मैं भी आप सब के साथ इसमे भाग ले सकूंगा. अफ़्सोस इस बात का है कि कल की मेगा पहेली मे भाग लेने से मैं वंचित रहुंगा. खैर दंड तो भुगतना ही है.

इस खेल के सारे नियम कायदे सब कुछ पहले की तरह ही रहेंगे. सिर्फ़ मैं आपके साथ प्रतिभागी की बजाय आयोजक के रुप मे रहुंगा. डाक्टर झटका भी पुर्ववत मेरे साथ ही रहेंगे.

आशा करता हूं कि आपका इस खेल को संचालित करने मे मुझे पुर्ण सहयोग मिलता रहेगा. और इस खेल मे हम रोचकता बनाये रखें और आनंद लेते रहें. यही इसका उद्देष्य है. तो अब आज का सवाल :-

नीचे का चित्र देखिये और पहचानिये कि ये कौन कौन हैं?



तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल शाम को 4:00 बजे तक दिया जायेगा, मैं और डाक्टर झटका खेल दौरान आपके साथ रहेंगे.


"बकरा बनाओ और बकरा मेकर बनो"


.टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.


Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

157 comments:

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:02

Genelia D'Souza, kajol, rakesh roshan>

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:04

श्री मुरारी पारिक जी




-शत शत नमन एवं हार्दिक अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

नियमित प्रतिभागिता बनाये रखें.

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:05

dhanywaad samerji aapko kauti kauti naman!!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

28 December 2009 at 18:05

Genelia D'Souza and kajol

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:06

श्री पं.डी.के.शर्मा ’वत्स’ जी





-शत शत नमन एवं हार्दिक अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

नियमित प्रतिभागिता बनाये रखें.

  संगीता पुरी

28 December 2009 at 18:07

रणधीर कपूर और जेनेलिया डिसूजा !!

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:08

सुश्री संगीता पुरी जी




-शत शत नमन एवं हार्दिक स्वागत अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:10

सैफ़ अली खान

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:10

श्री ललित शर्मा जी






-शत शत नमन एवं हार्दिक स्वागत अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:12

सूचना---सूचना--सूचना


कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:13

jarur lenge ji kal to hissa lenaa hai!! lalit ji raam raam !!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

28 December 2009 at 18:13

द्वारपाल श्री समीर लाल जी को भी कोटिश: नमन!!
:)

  संगीता पुरी

28 December 2009 at 18:14

रणधीर कपूर और जेनेलिया डिसूजा और रामप्‍यारी !!

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:15

आदरणीय समीर भाई, मुरारी जी, पंडित जी, संगीता जी, सादर नमस्कार,

  सुनीता शानू

28 December 2009 at 18:15

रणधीर कपूर और जेनेलिया डिसूजा तो साफ़ दिखाई दे रहे है,और तीसरी करीना है शायद.

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:15

सुनीता जी-प्रणाम

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:16

सुश्री सुनिता शानु जी





-शत शत नमन एवं हार्दिक स्वागत अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 18:17

सभी सज्जनों को नमस्कार. समीर जी नमन, पहले ये बताईये १,२,या ३ को पहचाना है?

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:17

सुश्री रेखा प्रहलाद जी







-शत शत नमन एवं हार्दिक स्वागत अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 18:17

संगीता जी नमस्कार एवं बधाई.

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:18

तीनों को ही पहचान दें इसके पहले कि आपका बालक मकरंद आकर नाचने लगे. :)

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 18:18

सिर्फ दो को पहचानना है या तीनो को?

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:19

सभी को!!!! :)

  पी.सी.गोदियाल

28 December 2009 at 18:23

राम-राम सभी को !

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:23

सूचना---सूचना--सूचना


कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  पी.सी.गोदियाल

28 December 2009 at 18:23

और समीर जी को दंडवत प्रणाम !

  खोटा सिक्का

28 December 2009 at 18:24

hema malini, rohit bal, kaitrina (cat) hai.

  संगीता पुरी

28 December 2009 at 18:24

नमस्‍कार रेखा जी .. धन्‍यवाद !!

  सुनीता शानू

28 December 2009 at 18:24

मुरारी पारीक जी, समीर भाई, ललित जी संगीता जी रेखा जी, सभी लुके छिपे जनो को राम-राम।

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:24

श्री पी.सी.गोदियाल जी






-शत शत नमन एवं हार्दिक स्वागत अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:25

श्री खोटा सिक्का जी







-शत शत नमन एवं हार्दिक स्वागत अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  खोटा सिक्का

28 December 2009 at 18:25

सभी को नव वर्ष की शुभ कामनाएं,

  पी.सी.गोदियाल

28 December 2009 at 18:25

आपको भी नववर्ष की शुभकामनाये !आपका आदेश सर आँखों पर समीर जी !

  खोटा सिक्का

28 December 2009 at 18:26

तोसे नैना लागे जी को सादर प्रणाम

  पी.सी.गोदियाल

28 December 2009 at 18:27

आज अधिक समय नहीं दे पाउँगा यहाँ पर क्योंकि लम्बे सफ़र से अभी लौटा हूँ ! चलता हूँ राम-राम ! कल मिलेंगे !

  makrand

28 December 2009 at 18:27

सभी आंटियों अंकलो को प्रणाम...

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:27

Genelia D'Souza, kajol,shilpa shetty

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:28

Genelia D'Souza, kajol randhir kapoor

  makrand

28 December 2009 at 18:28

आज तो रामप्यारी मैम दिख रही है पहेली मे ही?नमस्ते मैम

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:28

श्री मकरंद जी






-शत शत नमन एवं हार्दिक स्वागत अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:28

समीर भाई- कुछ गरमा-गरम हो जाए।

  makrand

28 December 2009 at 18:28

मुरारी अंकल लिंक दिजिये

  makrand

28 December 2009 at 18:29

समीर अंकल सादर प्रणाम...कल की चेंपियन पहेली क्या है?

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:30

गोदिया्ल जी मैने मेल कर दिया था!

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:30

सूचना---सूचना--सूचना

कल चैम्पियन पहेली में बस कुछ फिल्मी चेहरे पहचानो और बनो...वर्ष २००९ के पहेली चैम्पियन!! हुर्रे!!


कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें


कल की पहेली में सर्टीफिकेट से साथ साथ पुरुस्कार भी है.

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:31

गोदिया्ल जी मैने मेल कर दिया था!

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:31

makrand khaali kajol ka link mil saktaa hai!!

  makrand

28 December 2009 at 18:32

मुरारी भैया जिसका भी मिले दे दिजिये बाकी अमिं खोज लूंगा

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:32

रेखा जी नमस्कार

आज नेट काफ़ी स्लो है, टिप्पणी पोस्ट करने मे ही आधा घंटा लग जाता है

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:33

ललित भाई

आज तो बस एक सुनाऊँगा..और वो भी पूरी गज़ल!!

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:35

sameerji aapki rachnaa kal lagaai jayegi !! mere blog pe

  डाँ. झटका..

28 December 2009 at 18:36

@खोटा सिक्का

आपका प्रोफ़ाईल बिल्कुल नया है. यदि आप चाहते हैं कि घर के सदस्य आपसे बात चीत करें तो आप अपनी पहचान का मेल rampyari@taau.in पर करने की कृपा करें

आप चाहेंगे तो आपकी पहचान बिल्कुल गुप्त रखी जायेगी.

धन्यवाद

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:36

इरशाद

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:36

आभार मुरारी भाई...जो गज़ल यहाँ सुनाने का मन है वो भी आपको मिष्ठी पर ईमेल करुँगा

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:37

तो पेश है!!


गौर फरमाईयेगा....

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 18:38

ललित जी नमस्कार, बेटी का फ़ोन आ गया बात करते करते भूल ही गयी और नेट भी स्लो है.


मेरा जवाब:: अजय देवगन/रंधीर कपूर और जेनिलिया

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:38

तो सुनिये

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:39

अरे, बोलो न सब...इरशाद!!!

  संगीता पुरी

28 December 2009 at 18:39

जेनेलिया डिसूजा , काजोल और रणधीर कपूर !!

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:40

इरशाद

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:41

समीर भाई-अब इससे ज्यादा बत्ती हरी नही हो सकती, अब सुना डालो :)

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:41

कब से उधार बाकी है, इक तेरी नजर का
अब तक खुमार बाकी है, इक तेरी नजर का.

जिंदा हूँ अब तलक मेरी सांसे भी चल रहीं,
उन्हें इन्तजार बाकी है, इक तेरी नजर का.

उम्दा कलाम मेरा सब शेर सज चुके हैं
केवल शुमार बाकी है, इक तेरी नजर का.

महफिल सजाऊँ किस तरह, अबकी बहार में,
पल खुशगवार बाकी है, इक तेरी नजर का.

दम अटका है जिगर का, कमबख्त नहीं निकले
तिरछा सा वार बाकी है, इक तेरी नजर का.

बिछड़े हैं हम सफर में, कुछ दूर साथ चल ले
दिल तलबगार बाकी है, इक तेरी नजर का.

अब के समीर कह गया बिन गाये ही गज़ल
साजों पे वार बाकी है, इक तेरी नजर का.

-समीर लाल 'समीर'

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 18:43

कट पेस्ट मे गड़बड़ी हों गयी थी, सही उत्तर
:- मेरा जवाब:: काजोल, देवगन/रंधीर कपूर और जिनेलिया :) :)

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:45

सूचना---सूचना--सूचना

कल चैम्पियन पहेली में बस कुछ फिल्मी चेहरे पहचानो और बनो...वर्ष २००९ के पहेली चैम्पियन!! हुर्रे!!


कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें


कल की पहेली में सर्टीफिकेट से साथ साथ पुरुस्कार भी है.

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 18:47

समीरजी बहुत खूब! वाह वाह!!

  दिगम्बर नासवा

28 December 2009 at 18:47

बीच वाली प्रियंका ...... एक राम प्यारी ........ तीसरी पता नही .......... ६६% मार्क आ गये

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:49

साजों पे वार बाकी है, इक तेरी नजर का.

वाह वाह वाह-हाय हाय हाय

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:49

श्री दिगम्बर नासवा जी






-शत शत नमन एवं हार्दिक स्वागत अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:49

बहुत आभार...आपने गज़ल पसंद की. मैं धन्य हुआ!!

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:49

Genelia D'Souza, kajol, karishmaa kapor !! ek baar lock kar den jarurat padi to phir khulaa lenge!!

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 18:50

सही उत्तर:- काजोल, रंधीर कपूर और जिनेलिया :)

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:52

waah sameerji!! jaraa der se dekhi lekin dekhi to dekhte rah gaya!!!

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:53

रेखाजी ये रंधीर कोर कहाँ है ज़रा मुझे भी दिखाइये तो !!! तब से में इसी कन्फ्यूज में हूँ!!!

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:54

एक दूसरे की कॉपी से नकल करना मरना है. :)

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:55

गौर फ़रमाईए

कतरा कतरा मिटता हुँ
तब इस कतरा लिखता हुँ

तुझ जैसा क्यों दिखुं मैं
जब खुद जैसा दिखता हुँ

मीठे बोल सुना, ले जा
मोल नही मै बिकता हुँ

तन तो मेरा भी है पर
मैं इसमे कब टिकता हुँ

मैं फ़क्रों के चुल्हे मे
एक रोटी सा सिकता हुँ

  संगीता पुरी

28 December 2009 at 18:56

जबाब ढूंढने में व्‍यस्‍त थी .. अभी समीर जी की गजल पे नजर पडी .. वाह वाह .. क्‍या गजल है !!

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 18:56

आखरी प्रयत्न : ऐश्वर्या राइ , रंधीर कपूर और जेनिएलिया ;)

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:57

वाह वाह!!


पहली मिसरे में

तब इस कतरा लिखता हुँ

इसे

तब इक कतरा लिखता हुँ


पढ़ने की जुर्रत कर रहा हूँ.

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:57

दिगम्बर नासवा जी
नमस्कार

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:57

आभार....संगीता जी....



अब समा बंधी...

  संगीता पुरी

28 December 2009 at 18:58

ललित शर्मा जी की रचना का भी जबाब नहीं .. लगता है यहां कवि सम्‍मेलन चल रहा है !!

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 18:58

समीर भाई-लिपिकीय त्रुटि है। माफ़ किजिएगा

  संगीता पुरी

28 December 2009 at 18:58

एक ही मंच .. दो दो काज !!

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:59

lalitji aapki photo templet desined by me lagaa di gayi hai!!!

  Murari Pareek

28 December 2009 at 18:59

lalitji aap bhi wastav me ghazab dha dete hain!!!

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 18:59

एक मुक्तक लिजिये...

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 19:00

ललित जी बहुत बढ़िया! वाह वाह वाह और एक बार वाह! कृपया फ़क्रों का अर्थ बताएँगे? अंदाजा तो हों गया है फिर भी ........

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:01

पहले ललित जी रेखा जी का शंका समाधान कर मंच से उतर जायें फिर...

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:02

वाह वाह वाह क्या महफ़िल सजी है ग़ज़लों से!

  makrand

28 December 2009 at 19:03

एक मेरी भी गजल सुनिये.

चाकलेट लेने घर से चला था चवन्नी लेकर
वो भी रास्ते मे गिर गई?

दुकानदार बोला - चल भाग, आजकल चवन्नी
मे चाकलेट तो क्या? खाली रैपर भी नही आता.

  makrand

28 December 2009 at 19:03

नैना आंटी नमस्ते.

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 19:04

समीर भाई-एक अप्रकाशित के कुछ अंश

सच कहुं तो मै कुछ राज खोलना चाहता हुँ
ए बुढे बरगद बाबा मै कुछ बोलना चाहता हुँ

गेंहुं की बालियों का कितना बोझा ढोया है मैने
मुझे माफ़ कर देना मै उसे तोलना चाहता हुँ

कहां गई वह फ़ुदकती मेरे आंगन की गौरैया
जरा चितकबरे बिल्ले को मै टटोलना चाहता हुँ

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:04

वाह वाह मुबारक हो मंच को छोटा सा शायर...:)

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:06

वाह शायरे आज़म मकरंद तशरीफ लाये हैं...

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:06

ललित भाई...बहुत उम्दा!१

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:06

कहां गई वह फ़ुदकती मेरे आंगन की गौरैया
जरा चितकबरे बिल्ले को मै टटोलना चाहता हुँ
क्या बात है ललित भाई आप तो छुपे रूस्तम निकले...क्या शेर मारा है बिल्ले को छोडिये बेचारे को।

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:07

सच कहुं तो मै कुछ राज खोलना चाहता हुँ
ए बुढे बरगद बाबा मै कुछ बोलना चाहता हुँ


-छप गया दिल पर!!


तीनों अशआर गजब ढा रहे हैं

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:08

सुश्री टी. एल. नैना जी





-शत शत नमन एवं हार्दिक स्वागत अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:09

रेखा जी का जबाब नहीं दिया ललित भाई

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:09

तब हम मंच संभालेंगे

  makrand

28 December 2009 at 19:10

समीर अंकल कल की पहेली के बारे मे नही बताया आपने? क्या होने वाला है?

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 19:10

नैना बहना कैसी हों? मकरंदा बहुत जल्दी सीख रहा है, मम्मीजी को सुनना बहुत खुश होंगी और अगली बार एक रुपैय्या देंगी!

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 19:11

रेखा जी- गर्व-गर्वों, फ़क्र-फ़क्रों,

काव्य के सांचे मे फ़िट करने के लिए कुछ शब्दों का निर्माण स्वय ही हो जाता है।

इसीलिए कहा गया

काव्यं करोति कविनाम-अर्थ जानति पंडिता (विद्वान)

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 19:12

नैना जी-नमस्कार स्वीकार हो।

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 19:13

जानकारी देने के लिए ललित भाई का आभार !

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:15

बताया तो मकरंद



फिल्मी चेहरे खूब सारे पहचानना है..आज तो रात भर फिल्मी पत्रिकायें देखो

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 19:15

हां विमान का अवि्ष्कार हो चुका था, और महाराज सयाजी राव गायकवाड़ और गो वि रानाड़े की उपस्थिति मे जुहु मे उडन प्रदर्शन किया गया था।
गुलामों के नाम अविष्कार नही होते इसलिए उनका नाम इतिहास मे नही है।
बहुत बढिया पंडित जी-आभार

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:15

एक शेर आपकी नजर:



आखिर कितने ख्वाब तुमसे मांगेंगे
लोग टूटे ख्वाबों का हिसाब मांगेंगे

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:16

डॉ झटका आते होंगे शुल्क लेने पंडित जी से..शायद कल भरवायें आज के विज्ञापन का.

  Rekhaa Prahalad

28 December 2009 at 19:17

तालिया तालिया !

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 19:18

सुश्री टी. एल. नैना जी

नया नामकरण मुबारक हो

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:18

गलत शेर चला गया था..अब फाईल खुली:


आखिर और कितने तुमसे ख्वाब मांगेंगे
लोग यूँ भी टूटे ख्वाबों का हिसाब मागेंगे

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 19:18

सुश्री टी. एल. नैना जी
एक मुक्तक पेश है
जरा दृष्टिपात किजिए

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:20

स्वागत है!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

28 December 2009 at 19:22

समीर जी, इन विज्ञापनो पर डा. झटका सरकारी अनुदान प्राप्त कर रहे है...इसलिए कोई शुल्क देय नहीं है :)

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:23

पंडित जी


मैं तो सिर्फ अनुमान लगा सकता हूँ. :)

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:23

टी एल नैना...वाह वाह क्या खबसूरत नाम रख दिये हो...बहुत ही अच्छा।
रेखा बहना हम अच्छी हैं तोहार बच्चन सब राजी खुशी का हाल चाल है।

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:23

ललित जी...क्या हुआ..स्वागत करवा कर बढ़ लिए. :)

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:24

तोसे लागे नैना दृष्टि पात ही कर रही हैं न ललित भैया जी और का हम उल्का पात कर रहे हैं?

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:25

ललित जी अभी खखार रहे हैं

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:25

ई लो तालिया भी बजाई देत हैं अब शेरवा सुनाई देओ न।

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 19:26

ऊचे पहाड़ों से ही सरितांए निकलती हैं।
दर्द से रिस कर कविताएं निकलती हैं।
हिल जाते हैं सिंहासन उस समय जब
हाथों मे शमसीरें लेके वनिताएं निकलती है

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:26

नही समीर भाई हमे लगत रहे मुह का कैसतवा बदल रहे हैं।

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:27

बेहतरीन ललित भाई...हमारा नम्बर??

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:28

सभी प्रतिभागियों से निवेदन


यह अत्यंत हर्ष का विषय है कि आप हिंदी में सार्थक लेखन कर रहे हैं।

हिन्दी के प्रसार एवं प्रचार में आपका योगदान सराहनीय है.

मेरी शुभकामनाएँ आपके साथ हैं.

निवेदन है कि नए लोगों को जोड़ें एवं पुरानों को प्रोत्साहित करें - यही हिंदी की सच्ची सेवा है।

एक नया हिंदी चिट्ठा किसी नए व्यक्ति से भी शुरू करवाएँ और हिंदी चिट्ठों की संख्या बढ़ाने और विविधता प्रदान करने में योगदान करें।

आपका साधुवाद!!

शुभकामनाएँ!

समीर लाल
उड़न तश्तरी

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:28

ओहो अब समझी .... इसमे सरिता कविता और वनिता नाम की तीन स्त्रीया हैं...वाह वाह क्या शेर मारा है।

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:29

और शमशीर सिंग उनका भाई... :)

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 19:29

इरशाद भाई जी

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:30

ये मुरारी बाबू के काम की है:

मैं जो भी गीत गाता हूँ, वही मेरी कहानी है
मचल जो सामने आती, वही मेरी जवानी है
मैं ऐसा था नहीं पहले, मुझे हालात ने बदला
कोई नाजुक बदन लड़की, मेरे ख्वाबों की रानी है.

नहीं उसको बुलाता मैं, मगर वो रोज आती है
मेरी रातों की नींदों में, प्यार के गीत गाती है
मेरी आँखें जो खुलती हैं, अजब अहसास होता है
नमी आँखों में होती है, वो मुझसे दूर जाती है.

मगर ये ख्वाब की दुनिया, हकीकत हो नहीं सकती
थिरकती है जो सपने में, वो मेरी हो नहीं सकती
भुला कर बात यह सारी, हमेशा ख्वाब देखे हैं
न हो दीदार गर उसके, तो कविता हो नहीं सकती.

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 19:31

और शमशीर सिंग उनका भाई... :)

क्या बात हैं, धन्य हैं प्रभु-आपकी लीला अपरम्पार है:)

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:32

हाहा अच्छा भई इब म्हे चालां। सबनै घणी राम राम। संगीता जी और रेखा बहणा राम राम भई

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 19:34

कोई नाजुक बदन लड़की, वाह वाह-शायद यह वायरस कालेज के समय का है:)
अब आपको भी राज पिछले जनम का मे देखना चाहेंगे।

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:35

समीर भाई मै जाते जाते रुक गी एक बात बोलूं...

मैं ऐसा था नहीं पहले, मुझे हालात ने बदला
कोई नाजुक बदन लड़की, मेरे ख्वाबों की रानी है.
आप भी शेर मारने में कम नही हो...आप श्यारकी ही नाजुक छोरी ढूँढ ली...:)

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:35

राज तो इसी जनम का है...मगर अगता है जैसे जनलों पहले का है. :)

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:36

सुनीता...मुझे लगा चली गई होगी...हा हा

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 19:37

सुश्री टी. एल. नैना जी

आज का मुशायरा कैसा रहा, कुछ आपके मुखारबिंदु से सुनना चाहते हैं। चलते-चलते, इरशाद

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:37

सही कह रया हो ललित भाई यो वायरह अठै तक आज्या और शर्मा जी बिंकै पिछे डण्डो लेकै भाजे मै तो चालूं...राम राम पक्की वाली। राम-राम मकरंद बेटा ज्यादा देर नही खेल्या कर।

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:43

हाहाहा समीर भाई मै गई नही थी। जाने वाली थी कि नाजुक सी लड़की देख चौकन्नी हो गई...:)
के सुणावा ललित भाई थे घायल हो जाओगा पाछे कठै दिखावांगा...:(
चालो जाता जाता कुछ लिख देस्यां...

नजरों से नही जुबां से घायल होता हूँ मै,
पलकें झुका कर जब तुम शब्दों से वार करती हो...

इब समझ आवै तो ठीक नही आवै जब आप आप की घर हाळी न देख लेवो जद वा झाड़ू काडती जावै और नीचै नै देखती देखती थारी करतूता पर रोळा करती रैवै...:)

  तोसे लागे नैना

28 December 2009 at 19:43

अलविदा सभी को............

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 19:53

नजरों से नही जुबां से घायल होता हूँ मै,
पलकें झुका कर जब तुम शब्दों से वार करती हो...


-बहुत उम्दा चीज सुना गईं चलते चलते...वाह!! वाह!! आह!! आह!!

  HEY PRABHU YEH TERA PATH

28 December 2009 at 20:19

jenelia d"suza
kajol
randhir kapooe

  सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट)

28 December 2009 at 20:21

रणधीर कपूर, जेनेलिया डिसूजा और सुरेश शर्मा , इनाम तैयार रखिये !

  सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट)

28 December 2009 at 20:32

समीर भैया, कैटरिना कैफ के साथ हमारी फोटू फिट कर दीजिये न,
घरवाली को दिखाऊंगा, खूब जलाऊंगा, सौतिया डाह कराऊंगा...:) :) :)

  सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट)

28 December 2009 at 20:37

ललित भाई, थे कठे हो ? म्हाने बचा लो, म्हारी घर हाली बेलन ले क दौड़ा री स..

  सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट)

28 December 2009 at 20:41

रणधीर कपूर, जेनेलिया डिसूजा और पूनम ढिल्लो !

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 20:42

थ्हे कोनी घबराओ भाई जी म्हे मार्का हैलमेट लेके आ रह्यो हुँ:) राम-राम सा

  ललित शर्मा

28 December 2009 at 20:43

थ्हे कोनी घबराओ भाई जी म्हे ISI मार्का हैलमेट लेके आ रह्यो हुँ:) राम-राम सा

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 20:48

श्री सुरेश शर्मा जी

श्री हे प्रभु तेरा पथ जी





-शत शत नमन एवं हार्दिक स्वागत अभिनन्दन-

आपके आने से यह मंच गौरवान्वित हुआ है.

आप को पहेली मंच से आने वाले नव वर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएँ.

कल की चैम्पियन २००९ पहेली में हिस्सा लेना न भूलें

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 20:49

सुरेश भाई


हम आपको भौजी पर यह जुलम न करने देंगे. :)

  सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट)

28 December 2009 at 20:51

आन म भोत देरी हो जा सी, थे बठ स ही फेंको.. म कैच कर ले सु ! थाणे भी राम-राम...

  सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट)

28 December 2009 at 21:01

कमाल करते हो समीर भैया, नारी जाती के प्रति इतना साफ्ट कोर्नर ?
भाई आपकी भौजाई ही बेलन लेकर दौड़ा रही है, हम कहाँ जुल्म कर
रहे हैं.. हम तो जुल्म सह रहे हैं..ये तो वही बात हुई ....

हम आह भी करते हैं तो हो जाते हैं बदनाम,
वो क़त्ल भी करते हैं तो चर्चा नहीं होती.....!

  Udan Tashtari

28 December 2009 at 21:15

:)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

29 December 2009 at 02:19

भई दो का तो सही जवाब हम दे चुके हैं....अगर आपने तीसरे शख्स के बारे में भी पूछा है तो वो रंधीर कपूर है ।

  ललित शर्मा

29 December 2009 at 19:10

दोगली नीती नही चलेगी...नही चलेगी... डाक्टर झटका हाय हाय...डाक्टर झटका हाय हाय....

  Monika Varshney

19 July 2010 at 12:58

randhir kapoor,kajol,jenelia dsuja

Followers