ताऊ की चौपाल मे : दिमागी कसरत - 23

ताऊ की चौपाल मे आपका स्वागत है. ताऊ की चौपाल मे सांस्कृतिक, राजनैतिक और ऐतिहासिक विषयों पर सवाल पूछे जायेंगे. आशा है आपको हमारा यह प्रयास अवश्य पसंद आयेगा.

सवाल के विषय मे आप तथ्यपुर्ण जानकारी हिंदी भाषा मे, टिप्पणी द्वारा दे सकें तो यह सराहनीय प्रयास होगा.


आज का सवाल नीचे दिया है. इसका जवाव और विजेताओं के नाम अगला सवाल आने के साथ साथ, इसी पोस्ट मे अपडेट कर दिया जायेगा.


आज का सवाल :-

गांधारी कहां की राजकुमारी थी?

अब ताऊ की रामराम.



Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

7 comments:

  seema gupta

21 December 2009 at 08:28

gandhar ki regards

  seema gupta

21 December 2009 at 08:35

गान्धारी गान्धार देश के सुबल नामक राजा की कन्या थी। इसीलिए इसका नाम गान्धारी पड़ा।
गान्धारी धृतराष्ट्र की पत्नी और दुर्योधन आदि की माता थीं।
शिव के वरदान से गांधारी के 100 पुत्र हुए, जो कौरव कहलाये।
गान्धारी पतिव्रता के रूप में आदर्श थीं।
पति के अन्धा होने के कारण विवाहोपरांत ही गान्धारी ने आँखों पर पट्टी बाँध ली थीं तथा उसे आजन्म बाँधे रहीं।
महाभारत के अनन्तर गान्धारी अपने पति के साथ वन में गयीं। वहाँ दावाग्नि में वे भस्म हो गयीं।
regards

  Udan Tashtari

21 December 2009 at 08:36

gandhar ki..ha haa haaa... regards

  seema gupta

21 December 2009 at 08:36

गांधार राज सुबल की पुत्री का नाम गांधारी था। उसने शिव को प्रसन्न करके सौ पुत्र पाने का वरदान प्राप्त किया था। भीष्म की प्रेरणा से धृतराष्ट्र का विवाह उसके साथ किया गया। गांधारी ने जब सुना कि उसका भावी पति अंधा है तो उसने अपनी आंखों पर पट्टी बांध ली जिससे कि पतिव्रत धर्म का पालन कर पाये।
regards

  रंजन

21 December 2009 at 08:57

राजकुमारी का तो सबने बता दिया.. पर ये बताओ वो रानी कहाँ की थी?

क्या कहा हस्तिनापुर..

गलत जबाब.











सही जबाब है.. "महाराज धृतराष्ट्र के दिल की"..

:))

  अजय कुमार झा

21 December 2009 at 09:34

का सीमा जी ई रिगार्डस कह कह के सब ठो जवाब दे दी हैं ....हम लोग तो खाली पढने आ गये हैं .....गांधारी के बारे में तो एतना ....ऊ सीरियलवा देख के भी पता नहीं चला था । ओईसे आज का जौन पौपुलेशन एक्सप्लोज़न है न भारत का ......ई फ़ार्मोले का आविष्कारक ई गांधारी माता ही थी । बताईये इनका सेंचुरी का कोई रिकार्ड तोड पाया है आज तक । सीमा जी असली रिगार्डस तो इनको ही कहा जाए ...?

  प्रकाश गोविन्द

21 December 2009 at 11:40

@ सीमा जी जानकारी देते समय थोडा स्पेस छोड़ दिया करिए ! अब इतनी दूर से मैं आया हूँ ... क्या बताऊँ ? सब तो आपने बता ही दिया ....: :)

खैर ...
एक लिंक है मग्गा बाबा ... वहां गांधारी और कुंती से सम्बंधित बहुत सुन्दर और विस्तृत जानकारी दी गयी है :
http://maggababa.taau.in/2008/11/blog-post_13.html

Followers