खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (161) : आयोजक उडनतश्तरी

बहनों और भाईयों, मैं उडनतश्तरी इस फ़र्रुखाबादी खेल में आप सबका हार्दिक स्वागत करता हूं.

जैसा कि आप जानते हैं कि आज मैं ये 30 वां अंक आयोजक के बतौर पेश कर रहा हूं. सिर्फ़ 5 अंक की बात और है फ़िर मैं भी आपके साथ प्रतिभागी के तौर पर शामिल रहुंगा.

आपका इस खेल को संचालित करने मे मुझे पुर्ण सहयोग मिलता आया है और उम्मीद करता हूं कि अब बाकी बचे दिनों मे भी मिलता रहेगा. इस खेल मे आप लोगो के सहयोग से रोचकता बरकरार है. सभी इसका आनंद ले रहें हैं. आगे भी लेते रहें और अब रिजल्ट पेश करने के लिये आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" भी अमेरिका से पलट आये है. तो आईये अब आज का सवाल आपको बताते हैं :-

नीचे का चित्र देखिये और बताईये कि ये कौन हैं ?



तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल शाम को 4:00 तक आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" देंगे. आज मैं और डाक्टर झटका खेल दौरान आपके साथ रहेंगे.

"बकरा बनाओ और बकरा मेकर बनो"

.टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.


Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

34 comments:

  sangita puri

4 January 2010 at 18:03

अक्षय कुमार !!

  Anonymous

4 January 2010 at 18:13

sangitaji namaskar. bina kisi hint ke
aapne kaise pehchan liya?

  sangita puri

4 January 2010 at 18:14

नमस्‍कार .. गलत है मेरा जबाब .. ऐसे ही तुक्‍का !!

  Anonymous

4 January 2010 at 18:16

Sameer ji aap kaha hai ek chota sa hint to deejiye. chitra me to koi bujurg vyaki dikhte hai:) atleast unki ankhe dikha deejiye:)

  Anonymous

4 January 2010 at 18:20

sangita ji lagata hai sardi ki vajah se subi kulfi jum gayi hai sirf hum aur aap hi hai jo roj upasthiti lagate hai rampyari ke manch par:(

  पी.सी.गोदियाल "परचेत"

4 January 2010 at 18:26

सर्वप्रथम सबको राम-राम !

  पी.सी.गोदियाल "परचेत"

4 January 2010 at 18:27

ये मन्ने तो किसानो के नेता महेंद्र सिंह टिकैत दिखे सै !

  पी.सी.गोदियाल "परचेत"

4 January 2010 at 18:28

या फिर जाटो के नेता कर्नल भैंसला !

  पी.सी.गोदियाल "परचेत"

4 January 2010 at 18:28

आज बाकी लोग कहाँ अलाव सेक रहे है ?

  श्री श्री बाबा शठाधीश जी महाराज

4 January 2010 at 18:28

अलख निरंजन
बच्चा लोग

मुरारी बच्चा नही दिख रहा है।

  श्री श्री बाबा शठाधीश जी महाराज

4 January 2010 at 18:31

गोदियाल बच्चा कैसे हो?

वो लंगोटा नंद महाराज तो आज
भभुत की दुकान खोल के बैठ गए हैं।

कुछ बोहनी करवाओ

  M VERMA

4 January 2010 at 18:33

ये तो कोई मौलाना तक़रीर कर रहे हैं

  sangita puri

4 January 2010 at 18:33

नमस्‍कार गोदियाल जी .. सभी बाबाओं की जय हो !!

  M VERMA

4 January 2010 at 18:33

कोई नाम बता दे तो मैं बता सकता हूँ कि ये कौन है

  Anonymous

4 January 2010 at 18:37

This comment has been removed by a blog administrator.
  श्री श्री बाबा शठाधीश जी महाराज

4 January 2010 at 18:37

ये ल`अ द अ ए न है बच्चा लोग
ऐसा ही लगता है।

  Anonymous

4 January 2010 at 18:38

ye to Gujarat ke CM Narendra Modi lagte hai jo kai baar mutthi band kar bhashan karte dikhte hai.
jawaab Narendra Modi

  देवेन्द्र पाण्डेय

4 January 2010 at 18:40

Narendra Singh Madi

  sangita puri

4 January 2010 at 18:41

नरेन्‍द्र मोदी ही हैं .. किसी को लिंक चाहिए क्‍या ?

  देवेन्द्र पाण्डेय

4 January 2010 at 18:41

Narendra Singh Modi, C.M.of Gujrat
--Sahi Javab Hai.

  ब्लॉ.ललित शर्मा

4 January 2010 at 19:09

बाबा शठाधीश महाराज, संगीता जी, रेखा जी, गोदियाल जी,एम् वर्मा जी,देवेन्द्र जी,
सादर प्रणाम

जरा विलब हो गया

  Anonymous

4 January 2010 at 19:12

बच्चा! कल्याण हो! ये नरेंद्र मोदी ही हैं ! शठाधीश महाराज भी यहाँ आतंक मचाये हुए हैं क्या? हमारी भभूत छिडको उनपर !

  Anonymous

4 January 2010 at 19:18

बच्ची संगीता!कल्याण हो! हम त्रिकाल दर्शी हैं, हमें किसी लिंक की आवश्यकता नहीं है, हमें मोदी ने कन्फर्म कर दिया है !

  Pt. D.K. Sharma "Vatsa"

4 January 2010 at 19:29

नरेन्द्र मोदी ही लगते हैं।

  ब्लॉ.ललित शर्मा

4 January 2010 at 20:06

लंगोटानंद जी महाराज प्रणाम-आप यहां है और उधर शठाधीश महाराज आपका मठ उजाड़ने मे लगे हैं, जाओ जल्दी जाकर देखो, वो पुराना ब्लाग बाबा है, कही कुछ कर ना दे, आप लंगोटी से भी चले जाओ, और मठ से भी।

  ब्लॉ.ललित शर्मा

4 January 2010 at 20:11

ये तो नरेन्द्र मोदी है

  Anonymous

4 January 2010 at 20:15

बच्चा ललित, कल्याण हो! तुमने हमें जो कार्य सौंपा था, उसे हम पूरा करने में लगे हैं, बीच-बीच में शठाधीश बाबा बाधा डाल रहे हैं, इनकी लंगोटी उपलब्ध कराने का प्रयास करो ! :) :) :) ! और बच्चा, तुम घबराओ नहीं, हम अहिंसावादी है, सत्य और अहिंसा की सदा जीत
हुई है, शठाधीश महाराज की हिंसा हमें कर्तव्य पथ से नहीं डिगा सकेगी !

  Anonymous

4 January 2010 at 20:23

शठाधीश जी महाराज ! २ किलो भभूत सेल कर चूका हूँ, क्यों, ईष्या हो रही है क्या ? आपको भी हमारी चमत्कारी भभूत की जरूरत है, आ जाइये ,आपको फ्री दूंगा ! कल्याण हो !

  सुरेश शर्मा . कार्टूनिस्ट

4 January 2010 at 20:29

सभी असली-नकली बाबाओं को कोटि-कोटि प्रणाम..आपलोगों की जंग कब समाप्त होगी?
मेरा जवाब- श्री नरेंद्र मोदी, है.

  shikha varshney

4 January 2010 at 21:20

सबको राम राम जी ! अरे ये सब काहे नरेंद्र मोदी के पीछे पड़ गए ? हमें तो उसमा बिन लादेन लगे है....ही ही ही

  sangita puri

4 January 2010 at 23:11

रेखा जी को अग्रिम बधाई .. हैट्रिक के लिए शुभकामनाएं भी !!

  sangita puri

4 January 2010 at 23:12

खुल्‍ला खेल फर्रूखावादी में ये क्‍या ?
Your comment has been saved and will be visible after blog owner approval.

  sangita puri

4 January 2010 at 23:13

ये कब से ????

  जयंत - समर शेष

5 January 2010 at 11:51

Narendra Modi Ji.

Followers