खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (166) : आयोजक उडनतश्तरी

बहनों और भाईयों, मैं उडनतश्तरी इस फ़र्रुखाबादी खेल में आप सबका हार्दिक स्वागत करता हूं.

जैसा कि आप जानते हैं कि आज मैं ये 35 वां अंक आयोजक के बतौर पेश कर रहा हूं. आज मेरी सजा का आखिरी दिन था पर कल इस खुशी में मैं भूल गया और कुछ ज्यादा हिंट देदिये, जबकी हिंट देने का काम डाक्टर झटका का है. बस यही बात डाक्टर झटका को नागवार गुजरी और उसने रामप्यारी पहेली कमेटी मे शिकायत करके मुझे दो सप्ताह की सजा आयोजन के लिये और नपवा दी. तो आज के बाद दो सप्ताह तक मैं और इस खेल का आयोजक रहुंगा.

आपका इस खेल को संचालित करने मे मुझे पुर्ण सहयोग मिलता आया है और उम्मीद करता हूं कि अब आने वाले दिनों में भी मिलता रहेगा. इस खेल मे आप लोगो के सहयोग से रोचकता बरकरार है. सभी इसका आनंद ले रहें हैं. आगे भी लेते रहें और अब रिजल्ट पेश करने के लिये आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" भी अमेरिका से पलट आये है. तो आईये अब आज का बहुत ही आसान सवाल आपको बताते हैं :-

नीचे का चित्र देखिये और बताईये कि ये क्या है? आज यह पहेली अगर सुश्री अल्पना वर्मा जीत जाती हैं तो यह उनकी हेट्रिक होगी. अग्रिम बधाई !



तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल शाम को 4:00 तक आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" देंगे. आज मैं और डाक्टर झटका खेल दौरान आपके साथ रहेंगे.

"बकरा बनाओ और बकरा मेकर बनो"

.टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.


Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

227 comments:

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:07

Crab hai

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:09

scorpion

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:11

final jawab--Scorpion

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:11

aaj sab gayab hain!!!!!!!!!!!!!

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:23

aaj shayad sabhi meri hattrick hone mein help kar rahe hain..ya unke yaahan bhi page nahin khul raha!

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 18:30

अल्पना जी
राम-राम
हमेशा आप ही जीतेंगी तो यही होगा
पुरा मैदान खाली है
आपके लिये "वाक ओवर" है

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 18:32

हाय दैया! बिच्छु लड गयो

  makrand

9 January 2010 at 18:34

अल्पना आंटी बधाई हो जीत की. लिंक दिजिये तो आपकी हेट्रिक का जश्न मनायें.

  makrand

9 January 2010 at 18:34

अरे ललितंकल नाम्स्ते

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:37

सभी को नमस्ते और बहुत बहुत शुक्रिया इस महान त्याग के लिए...मैं अभिभूत[अभी भी भूत!] हूँ.....

मकरणडा तुम्हें लिंक चाहीए...अभी देती हूँ...मुझे मिला नहीं क्यूँ ढूँढा नहीं अपने अंदाज़े से बताया है इस का जवाब....लिंक तुम देखो और दो...कल की सज़ा याद है??

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:41

हेत्रिक कितनी मुश्किल से मिलती है आज maloom हुआ..इसलिए सभी का यह त्याग याद रहेगा..और आगे भी ऐसा ही सहयोग हम ek dusre ke liye करते रहेंगे..!
makaranda Link search kar ke..bata dena ..apne liye jawab confirm kar lo !

  निर्मला कपिला

9 January 2010 at 18:41

alpanaa jee ko agrim badhaaI

  आमीन

9 January 2010 at 18:42

ek image hai... aap kya kahenge..

ha ha ha ha

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:44

Nirmala ji..Makrand link dhoondhne gyaa hai..tab tak kuchh kah nahin skate

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 18:46

रामप्यारी "पहाडी बिच्छु" लाक किया जाए और आज का विजेता हमे घोषित किया जाए हमने उत्तर हिन्दी मे दिया है। हिंदी का सम्मान किया जाए।

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:47

Arrey Lalit ji..aap ne hatrick mein sahyog ka promise kiya tha..aap to meri hattrick todne mein lage hain :(

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 18:50

अल्पना जी- आपकी जीत की चर्चा "चिट्ठी चर्चा" पर भी है। जरा देखा आईए

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 18:51

:)

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 18:52

@ अल्पना जी-आपको हैट्रिक की आदत ना पड जाए इसलिए ऐसा करना पडा ।:)

  makrand

9 January 2010 at 18:53

लिंक ढूंढ रहा हुं...और आज तो पढा है समीर अंकल को दो सप्ताह की और नप गई?

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 18:53

@ मकरंद भैया-आप कहां गए? क्या लिंक बहुत भारी है?

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:54

Lalit ji..yah meri pahli hattrick hogi..agar hogi to..!

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:54

Bete makrand link dhoondh dena bachche!

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:56

chittha charcha??kaun si charcha...Lalit ji ..???

  makrand

9 January 2010 at 18:57

मिल गया लिंक मिल गया....चाहिये क्या? अल्पना आंटी की हेट्रिक पक्की...बधाई हो आंटी. आज एक बाक्स चाकलेट भिजवा दिजिये मेरे को

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 18:59

bilkul Makrand Harsheys ki chocolate bhijwayungee..link de do zaraa

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 18:59

चिट्टी चर्चा "समय चक्र" पर ना की चिट्टा चर्चा

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 18:59

अभी है ब्लागवानी पे

  makrand

9 January 2010 at 19:00

लिंक कन्फ़र्म है आंटी. आप अब चाकलेट का बाक्स भेज सकती हैं. या आपकी तरफ़् से १३५ रुपये वाली लेकर खालूं और रुपये आपके अकाऊंट मे डलवा दूं?

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 19:02

@ अलपना जी-आपको पहली हैट्रिक की बधाई, आप इसी तरह हैट्रिक बनाते रहें। हमारी शुभकामनाएं

हां एक बार आपके गाने वाले ब्लाग पे गया था, तो मुझे टिप्पणी वाला स्थान ही नही दिखा तो वापस आ गया। उसके बाद से नही जा पाया।

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 19:02

Makranda...meri fav chocolates ka link bhej rahi hun--apni pasand bata dena wo hi bhijwa dungi..http://www.hersheys.com/products/?ICID=HER1006

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 19:04

Lalit ji us blog par comment disable the..thanks for visit..ab enable kar diya hai....:)

  makrand

9 January 2010 at 19:05

http://images.google.co.in/imgres?imgurl=http://www.junglewalk.com/animal-pictures/612/T/Scorpion-2284.jpg&imgrefurl=http://www.junglewalk.com/photos/Arachnid-pictures.htm&usg=__UYiDznomx9kRILMF4_6xvZRrIUM=&h=60&w=39&sz=4&hl=en&start=3&sig2=LSNeYdpEwmoNjyQeYPlouw&um=1&tbnid=tOHZBp0fp3hWgM:&tbnh=60&tbnw=39&prev=/images%3Fq%3DScorpion-2284%26hl%3Den%26sa%3DN%26um%3D1&ei=qINIS6zoKIvU7AOOi4jYCw

ये लिंक लिजिये आंटी..बधाई।

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 19:07

Arre waaah ,kya baat hai..
abhi check karti hun

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 19:12

ड़ाक्टर झटका जल्दी आईये, विज्ञापन हो रहा है, इन्हे दंड की रसीद थमाईए। हरी अप

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 19:13

Nahin nahin Lalit ji yah sirf chocolate ki pasand poochhee hai---kaho to aap ko bhi ek box bhijwa dungee---please shikayat na karen Dr.Jhtka se!

  anjana

9 January 2010 at 19:13

बिच्छू है

  नीरज गोस्वामी

9 January 2010 at 19:14

अरे ये तो बहुत आसान पहेली है....लेकिन जवाब नहीं बताऊंगा...आज का दिन कल्पना जी का है...
नीरज

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 19:14

डाक्टर झटका हाजिर हो, दो-दो लिंक दिये गए है,
नियमो को तोड़ा है फ़ोड़ा है, नही आओगे तो हम चल्ते हैं।

  anjana

9 January 2010 at 19:15

सभी को हमारी राम राम

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 19:16

डाक्टर झटका हाजिर हो, दो-दो लिंक दिये गए है

विज्ञापन करना मना है।

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 19:17

@Neeraj ji!
namaste...bahut bahut shukriya aap ka..lekin ab aap jawab bata sakte hain...kyunki main jawab final kar chuki hun......
@ Anjana ,bahut der se aaayi hain aap....kahan thi..aap ka blog dekha...achcha laga..comment kalkarungee

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 19:17

डाक्टर झटका हाजिर हो, दो-दो लिंक दिये गए है

विज्ञापन करना मना है।:):):):)

  anjana

9 January 2010 at 19:18

अल्पना जी बहुत बहुत बधाई

  ललित शर्मा

9 January 2010 at 19:19

अंजना जी, नीरज जी को नमन

  anjana

9 January 2010 at 19:24

आज का दिन आप का है ,सोचा हेट्रिक बन जाएं आप की । ब्लांक पर आने का धन्यवाद

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 19:27

So sweet of you Anjaana

  anjana

9 January 2010 at 19:29

जीत की शुभ ओर शुभ ..शुभ.....शुभ......कामनाssएं। अल्पना जी आप के लिऎ यह गाकर बोला गया है

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 19:31

SHukriya Anjanaa...tumhare naam ki meri ek bahut hi pyari si saheli thi..wo bhi achhca gati thi..kahin tum wahin to nahin??

  anjana

9 January 2010 at 19:31

शर्मा जी हमारा भी नमन स्वीकार कीजिए

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 19:33

Anjanaa ji..aap shayad jyotish hain??

  anjana

9 January 2010 at 19:37

गाना तो गाते थे ।कहा की थी अंजना

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:38

जय हो!! आज तो अल्पना जी को ढ़ेर शुभकामनाएँ..कल इतनी गज़ल सुनाई कि शुभकामना देने की तो बनती है हैट्रिक के लिए....हालांकि २ हफ्ते की सजा कम नहीं होती है.. :)

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:39

सभी मित्रों को प्रणाम!!

  M VERMA

9 January 2010 at 19:39

अल्पना जी बधाई

  M VERMA

9 January 2010 at 19:41

सबको नमस्कार

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:42

मकरंद

खुश हो ले बेटा....खूब मजा आ रहा होगा तुमको कि अंकल नप गये दो हफ्ते और..क्यूँ??

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:42

अभी से सब लोग किस बात की बधाई बधाई...कर रहे हैं...कोई त्यौहार है क्या?? :)

  M VERMA

9 January 2010 at 19:43

समीर जी दो हफ्ते और के लिये बधाई

  makrand

9 January 2010 at 19:43

अल्पना आंटी थैंक्यु, मैने HERSHEY'S EXTRA DARK, Pure Dark Chocolate का बाक्स लेलिया है, आप प्लिज पेमेंट करवा दिजियेगा. स्टोरे वाला मेरे घर नही आये वर्ना मम्मी बहुत मारेगी. कल संडे की छुट्टी का बोल कर इधर आया था.

  M VERMA

9 January 2010 at 19:43

अरे नमस्कार करना तो भूल गया
समीज जी! नमस्कार

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:44

संगीता जी, मुरारी बाबू, रेखा जी, पं शर्मा, गोदियाल जी....सारे खिलाड़ियों को किसी ने किडनेप तो नहीं कर लिया किसी लम्बी साजिश के तहत...जस्ट एक डाउट आया दिमाग में... :)

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:44

नमस्कार वर्मा जी

  anjana

9 January 2010 at 19:44

ये मेरा शौक है पर व्यसाय् नही। हां जो मेरे जाने वाले कुछ पूछते है तो जवाब कुंड्ली देख कर दे देती हूं । जो सच ही निकला है अभी तक ।

  M VERMA

9 January 2010 at 19:45

sorry, गलती से समीर जी का नाम गलत टाइप हो गया.

  makrand

9 January 2010 at 19:45

अरे समीर अंकल, वर्मा अंकल नमस्ते, मैं जरा चाकलेट लेने चला गया था. अल्पना आंटी ने पूरा बाक्स दिलवाया है मुझे.

  M VERMA

9 January 2010 at 19:45

क्षमा करें

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:46

ऑन स्टोर से लिया कर बच्चू मकरंद....तो आंटी फट से क्रेडिट कार्ड से पेमेंट कर देंगी...

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:46

आप सॉरी न कहते वर्मा जी...तो हम खोजते ी न कि कब गलत टाईप हो गया है. :)

  M VERMA

9 January 2010 at 19:47

मकरन्द!
ज्यादा चाकलेट मत खाओ. वैसे मेरे मुँह में भी पानी आ गया.

  anjana

9 January 2010 at 19:47

समीर जी राम राम्

  डाँ. झटका..

9 January 2010 at 19:47

सूचना : मकरंद और अल्पनाजी की टिप्पणियों मे कुछ अनिमितताओं की शिकायते मिली हैं. कमेटी विचार कर रही है. जल्द ही फ़ैसले से अवगत कराया जायेगा.

धन्यवाद,

  M VERMA

9 January 2010 at 19:48

आज आने में हो गया मै लेट
आया तो देखा मकरन्द खा रहा है चाकलेट्

  M VERMA

9 January 2010 at 19:50

डा. झटका के झटके
होते हैं जरा हटके

  anjana

9 January 2010 at 19:52

लो जी झटका जी ने झटका दे दिया ।इंतजार अब उन के फैसले का

  makrand

9 January 2010 at 19:53

लिजिये वर्मा अंकल और समीर अंकल आप भी एक एक चाकलेट खाईये.

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:53

अन्जना जी नमस्ते....




आज फिर दंड लगने वाला है क्या अल्पना जी और मकरंद को..हा हा!!

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 19:54

@Makrand..waah...
HERSHEY'S EXTRA DARK, Pure Dark Chocolate
Wow! ye to bahut tasty hain...
@Sameer ji 2 weeks..14 din!14 paheliyan aur bahar...so sad!sahanubhuti hai!
Aaj sab meri hattrick hone mein help kar rahe the..isliye gayab hain...

'Hattrick Sahyog andolan' hain yah.

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:54

क्या बदमाशी की है मकरंद??

डॉ झटका क्यूँ नाराज हो गये??

एक चाकलेट उनको भी दे दो..

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 19:56

Anjana ji meri friend Anjana Vaid thi..punjaab se...ab to shadi wadi ho kar...kya surname badlaa hoga --kuchh maluum nahin..

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:56

हम कालेज एलेक्शन लड़ते थे तो सकयोग आंदोलन में अपोजिट पार्टी के लड़कों को हॉस्टल में बंद करके रखते थे. :)

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 19:56

सबों को राम राम !!

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 19:56

अल्‍पना जी को हैट्रिक की बधाई !!

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:57

राज इस जन्म का......



कहीं ये अन्जना जी वो ही तो नहीं....



:)

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 19:58

संगीता जी...आईये..हमारी हैट्रिक वाले दिन तो आपकी बिफोर टाईम आ जाती थी...आज लेट कैसे???

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 19:58

समीर जी .. कॉलेज में आपलोगों को ओपोजिशन वालों को बंद रखना पडता था .. हिन्‍दी ब्‍लॉग जगत में एक दूसरे का आपस में स्‍नेह देखिए .. खुद बंद हो गए सारे !!

  anjana

9 January 2010 at 19:58

डाँ.झटका जी राम राम

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 19:59

समीर जी .. आपकी हैट्रिक वाले दिनों में पहले आकर हमलोग कर भी क्‍या लेते थे .. जीत तो आपकी ही होती थी न .. चौबारे तक में !!

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 19:59

ha ha haa!
kitna achhca ho ye wohi anjana ho!

@ Main ne kisi ko band nahin kiya...dekheeye Sangeeta ji aa gayin....unse hi poochh len!

Rekha ji bhi aati hongee....

Sangeeta ji ko hattrick tootne ka dard maluum hai aur pandit ji ko bhi..Isliye sab Hat-Trick SAHYOG andalan kar rahe hain...

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:00

संगीता जी


मेरे ग्रह नक्षत्र देख दिजिये प्लीज...अपनों से धोखे का योग चल रहा है क्या?

दो हफ्ते की सजा पड़ गई इस चक्कर में!! :)

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:01

अन्जना जी कहाँ चली गई... :)

  anjana

9 January 2010 at 20:03

समीर जी राज को राज ही रहने दो हा हा ..;-)

  anjana

9 January 2010 at 20:06

झटका जी कहा हैआप जल्द आईये इंतजार ..........

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:06

राज दफन.....



झटका जी...सजा सुनाने आईये या सिर्फ धमकी देने आये थे.

  डाँ. झटका..

9 January 2010 at 20:07

सूचना : समस्त शिकायतों की जांच मे यह पाया गया है कि अल्पनाजी ने गिफ़्ट भिजवाई थी मकरंद को. गिफ़्ट भेजने के लिये दिया गया लिंक किसी भी तरह से रुल्स का वायोलेशन नही करता. अत: अल्पना जी के विरुद्ध की गई शिकायत खारीज की जाती है.

मकरंद के केश पर बहस जारी है. जल्द ही फ़ैसला आने की संभावना है.

धन्यवाद

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:07

समीर जी .. ग्रह नक्षत्र अच्‍दे चल रहे हैं आपके .. आपको आयोजक का काम संभालना अच्‍छा लग रहा है .. इसलिए जानबूझकर गलती करतें हैं .. और सजा पाते हैं !!

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:08

हा हा!! संगीता जी ग्रह नक्षत्र देख कर बता रही हैं या मुझे?? :)

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:08

अल्पना जी बच गईं...


अब मकरंद का क्या होगा!!! वो देखना बाकी है..

  anjana

9 January 2010 at 20:09

अल्पना जी अब तो जीत का जश्न बना ही डाले ।

  makrand

9 January 2010 at 20:10

लगता है आज तो डाक्तर झटका मुझे भी छोड देगा? अल्पना आंटी को भी छोड दिया तो मैने भी कोई गलती थोडी की है? जीत सेलेब्रेट करने के लिये ही तो लिंक दिया था.

  makrand

9 January 2010 at 20:10

डाक्टर झटका की जय हो.

  makrand

9 January 2010 at 20:11

डाक्टर झटका कभी अन्याय नही करता. बात को सचमुच गहराई से समझता है. जय हो डाक्टर साहब की.

  anjana

9 January 2010 at 20:12

मकंरद को तो चाकलेट दे दी हम सभी को सूखी सूखी धन्यवाद देगी क्या :-)

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 20:12

अत: अल्पना जी के विरुद्ध की गई शिकायत खारीज की जाती है.

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 20:12

ha ha haa!

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 20:14

Arrey nahin--Anjana ji,sangeeta ji aur baki sabhi ko kal ek ek box chocolate ka bhijwaya jayega....with many many thanks.....

Agar meri hatTrick pakki hoti hai...

Kal ke result ka intezaar rahega..

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:14

पहेली बूझने के मुसीबत से दूर गोरखा दरबान बनना भी समीर जी को अच्‍छा लग रहा है !!

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 20:14

Makrand ...main tumhari help kar dungee ..kal galib sahab ka diwaan aaya tha yahan aaj kisi aur shayar sahab ka bulwa lenge!

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:15

चाॅकलेट से तो किराया अधिक हो जाएगा .. अकाउंट नं भिजवा देती हूं !!

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:16

चॉकलेट के पैसे सीधा उसी में जमा कर दें अल्‍पना जी !!

  डाँ. झटका..

9 January 2010 at 20:17

मकरंद के केस की जांच पडताल की गई है. और यह पाया गया है कि मकरंद जानबूझकर खेल बिगाडने की कोशीश करता है.

और इसके पहले भी तीन बार का सजायाफ़्ता है. अत: उसके ५१ टिप्पणीयों का सश्रम दंड दिया जाता है.

सश्रम की व्याख्या :-

यानि एक ही टिप्पणी की कापी पेस्ट नही चलेगी. एक ही मैटर की जितनी भी टिप्पणियां होंगी वो एक मानी जायेंगी. सभी अलग अलग टिप्पणीय़ां होनी चाहिये.

कोई अपील नही होगी, २४ घंटे मे खजाने मे दंड जमा करवाकर अर्सीद प्राप्त करें.

धन्यवाद

  anjana

9 January 2010 at 20:17

लगा लो नारे मकरंद झटका जी बहुत दयालु है

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 20:18

@Sangeeta ji...yah bhi khoob rahegi..chocolate ki baat to chocolate se hi banati hai na....

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:18

सश्रम .. मकरंद को तो बढिया दंड लग गया !!

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 20:19

सश्रम की व्याख्या :-

यानि एक ही टिप्पणी की कापी पेस्ट नही चलेगी. एक ही मैटर की जितनी भी टिप्पणियां होंगी वो एक मानी जायेंगी. सभी अलग अलग टिप्पणीय़ां होनी चाहिये.

कोई अपील नही होगी, २४ घंटे मे खजाने मे दंड जमा करवाकर अर्सीद प्राप्त करें.

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 20:19

Makrand ..tum to sahi ho gaye aaj!lol!

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 20:20

५१ टिप्पणीयों का सश्रम दंड !!!!!!!!

MAKRAND!

  makrand

9 January 2010 at 20:20

अरे मार डाला डाक्टर झटका ने,

  makrand

9 January 2010 at 20:20

अरे मर गया रे..मर गया...

  makrand

9 January 2010 at 20:20

डाक्टर झटका ने बहुत बुरी तरह मारा.

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:21

महान व्यक्ति को पहचान लेना बुद्धिमान होने का परिचय है. आप बुद्धिमान कहे जायेंगे क्योंकि आपने मुझे पहचान लिया है. आपको बधाई.

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:22

मकरंद को सजा पड़ी, इस बात का मुझे दुख हुआ है. मगर क्या करें...:)

  makrand

9 January 2010 at 20:22

पर अंकल मैने तो डाक्टर झटका को नही पहचाना.

  makrand

9 January 2010 at 20:22

क्या घुमा कर मारा है मुझे?

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:22

५१ तो बहुत ज्यादा होती है..पूरी कैलोरी बर्न हो जायेगी चॉकलेट वाली.. :)

  makrand

9 January 2010 at 20:23

और घर पर अब मम्मी मारेगी वो अलग.

  anjana

9 January 2010 at 20:23

डाक्टर झटका जी जरा बच्चे पर रहम कीजिए

  anjana

9 January 2010 at 20:26

समीर जी अच्छी तरकीब दी है चाकलेट बर्न करने की :-)

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:26

मकरंद बेटा.....चालू रहो...

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:26

इतनी शैतानी क्‍यूं करते हो मकरंद !!

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:27

हमेशा सजा मिलती है !!

  makrand

9 January 2010 at 20:30

क्या करुं आंटी? जब बदमाशी शुरु करता हूं तो मुझे सजा का याद ही नही रहता.

  anjana

9 January 2010 at 20:31

sorry कैलोरी बर्न करने की

  डाँ. झटका..

9 January 2010 at 20:32

सूचना :-

सजा माफ़ करवाने की अपील नही करें वर्ना यह रामप्यारी पहेली कमेटी की अवमानना मानी जायेगी.

धन्यवाद

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:32

मकरंद...जल्दी...५१ बहुत होती हैं..बातों में समय खराब करोगे तो बाद में अकेले बचे रहोगे..गिनना शुरु करुँ...चलो, पहली करो!!!

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:33

अल्पना जी



एक अन्जना जी हमारी पहचान की भी हैं यहाँ कनाडा में...कहीं वो ही तो नहीं?????

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:34

पहली टिप्‍पणी .. सजा की घोषणा के बाद यह सातवीं टिप्‍पणी है !!

  anjana

9 January 2010 at 20:34

मकरंद अब कुछ ना होगा :-(

  डाँ. झटका..

9 January 2010 at 20:35

अगर कोई किसी के बदले की सजा भोगना चाहता है तो वो उसके बदले की टिप्पणी कर सकता है पर उस टिप्पणी मे यह लिखा होना चाहिये कि यह अमुक के अकाऊंट मे जमा की जाये.

धन्यवाद.

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:35

अंजना जी ने तो अपने प्रोफाइल में अपना लोकेशन इंडिया लिखा है !!

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:35

मकरंद//// कहाँ छिपे हो बच्चा...निकल आओ!!

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:36

मकरंद पांच टिप्‍पणी मैं तुम्‍हारी ओर से कर देती हूं !!

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:36

नहीं...वो दूसरी अन्जना जी हैं..उनकी प्रोफाईल नहीं है यहाँ...मैं तो अल्पना जी की दोस्त को खोजने में मदद में लगा था...स्वभाववश!!

  anjana

9 January 2010 at 20:37

समीर जी फिर तो हम पडोसी है आ रही हूं चाय पर:-)

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:38

मकरंद को एक टॉफी के बदले.... यह अमुक के अकाऊंट मे जमा की जाये.

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:38

उपर वाली मकरंद के लिए चल जायेगी क्या..डॉ झटका???


यह भी अमुक के अकाऊंट मे जमा की जाये.

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 20:38

Makrand ki 31 tippaniyan main chuka dungee....20 use deni hongi....

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:39

सिर्फ चाय क्यूँ..सुबह सुबह नाश्ता भी करिये..यहाँ तो अभी सबेरा हुआ है..अन्जना जी!!

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:39

अल्पना जी...


सब टिप्पणी मे लिखना है...


यह अमुक के अकाऊंट मे जमा की जाये.

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:40

मकरंद कहां चाला गया ??

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:40

मकरंद का निक नेम ’अमुक’ है क्या???

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:40

गल्‍ती भी की .. और सजा छोडकर भागा !!

  anjana

9 January 2010 at 20:40

समीर जी कितने दयालु है अल्पना जी, आप की सहेली को ढूढ ही लेगे

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:41

सब यहाँ मकरंद के लिए टिप्पणी भर रहे हैं...और वो कहीं और जाकर खेलने तो नहीं लगा?? देखिये जरा..

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:42

मकरंद के लिए टिप्‍पणी करने का भी कोई फायदा नहीं दिखता !!

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:42

अब तो जितनी अन्जना मिलेंगी..सब से पूछा करुँगा ...बिना ढ़ूंढे मुझे चैन नहीं मिलेगा. :)

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 20:44

मेरी पांचवी टिप्‍पणी हो गयी .. जो मकरंद के लिए थी .. अब मैं चली !!

  makrand

9 January 2010 at 20:48

थैंक्यु अल्पना आंटी. पर मेरा नाम टिप्पणियों मे जरुर डाल देना यह लिखियेगा A/c. Makarand

  anjana

9 January 2010 at 20:48

वाह वाह समीर जी क्या बात है ।मुबारक हो अल्पना जी क्योकि समीर जी जो भार उठाते है तो पूरा ही करते है :-)

  Kulwant Happy

9 January 2010 at 20:52

अल्पना वर्मा जी को बधाई। उन्होंने जो मेरा राशि सूचक पहचान लिया।

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:54

मकरंद तरीका बताने आये थे जैसे सब उनके कर्मचारी काम पर लगे हैं..

यह अमुक के अकाऊंट मे जमा की जाये.

  anjana

9 January 2010 at 20:54

अच्छा जी सभी को राम राम ओर शुभ रात्रि ओर समीर जी को शुभ दिवस। कल अल्पना जी की जीत की खुशी मे फिर शमिल होतेहै।

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 20:57

जय हो जी..अब मकरंद अकेले भरेंगे सारी टिप्पणी...


अमुक के खाते के लिए...

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 21:03

सबों को शुभरात्रि !!

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 21:03

समीर जी को शुभ दिन !!

  makrand

9 January 2010 at 21:08

लो आगया मैं रोटी खाकर.९

  makrand

9 January 2010 at 21:09

सब गये क्या?

  makrand

9 January 2010 at 21:09

११. एक कहानी सुनाऊं?

  makrand

9 January 2010 at 21:10

१२. एक बार एक भूत आया

  makrand

9 January 2010 at 21:10

१३. भूत ने जिंदा आदमी को पक्ड लिया

  makrand

9 January 2010 at 21:11

१४. और बोला -तुझको खाऊंगा.

  makrand

9 January 2010 at 21:11

१५. आदमी बोला - ले खाले. तू भी क्या याद रखेगा कि कोई मिला था?

  makrand

9 January 2010 at 21:12

१६. भूत को बडा आश्चर्य हुआ कि ये ऐसा क्यों बोल रहा है?और खुद ही मरने को तैयार है

  makrand

9 January 2010 at 21:13

१७. तो भूत ने उस आदमी से कारण पूछा?

  makrand

9 January 2010 at 21:13

१८. वो आदमी बोला - अगर तू मुझे नही खयेगा तो ये महंगाई की आग मुझे खा जायेगी.

  makrand

9 January 2010 at 21:14

१९. दाल सौ रुपैये किलो, शक्कर ४५ रु.किलो, दूढ ३६ रु.किलो, इतनी महंगाई मे क्या खाकर मैं जिंदा रहुंगा?

  makrand

9 January 2010 at 21:15

२०. तू एक काम कर ...मेरे साथ साथ मेरे बीबी बच्चों को भी खा डाल..कम से कम इस महंगाई के जमाने मे तेरा पेट तो भर जायेगा.

और इतना सुनते ही वो भूत भाग गया.

  makrand

9 January 2010 at 21:16

२१. अब बाकी की ३१ टिप्पणी मेरे अकाऊंट मे अल्पना आंटी करेंगी.

अब मैं होमवर्क करने जा रहा हूं. शुभरात्रि.
नमस्ते.

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 21:24

मैं बैठा देख रहा हूँ..कहाँ भाग रहे हो..अल्पना आंटी तो मजाक कर रही थीं बेटा!!

  संगीता पुरी

9 January 2010 at 21:28

और डाटा भी गलत .. आज ही चीनी 48 रूपए में मिली है !!

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 21:29

मकरंद भाग नहीं सकते..सब यहीं आसपास बैठे तमाशा देख रहे हैं...


अमुक के खाते में जमा किया जाये.

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

9 January 2010 at 21:36

हे भगवान्! आज तो बडी मुश्किल से निकल कर आए हैं..पता नहीं किसने हमें कमरे के अन्दर बन्द करके बाहर से ताला जड दिया ।

  Udan Tashtari

9 January 2010 at 21:43

मुझे पहले डाऊट था पंडित जी...मेरे शक की सुई तो वही हैट्रिक की साजिश पर टिकी है अब तक...

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:13

'अहमद फ़राज़' साहब आधुनिक युग के उर्दू के सबसे उम्दा शायरों में गिने जाते हैं.
उन्हीं को सुनाते हैं आज--

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-1-
अब के रुत बदली तो ख़ुशबू का सफ़र देखेगा कौन
ज़ख़्म फूलों की तरह महकेंगे पर देखेगा कौन

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:14

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-2-
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-
देखना सब रक़्स-ए-बिस्मल में मगन हो जायेंगे
जिस तरफ़ से तीर आयेगा उधर देखेगा कौन

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:15

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-3
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-
अब किस का जश्न मनाते हो उस देस का जो तक़्सीम हुआ
अब किस के गीत सुनाते हो उस तन-मन का जो दो-नीम हुआ

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:16

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-4
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-
4.
उस जंग का जो तुम हार चुके उस रस्म का जो जारी भी नहीं
उस ज़ख़्म का जो सीने पे न था उस जान का जो वारी भी नहीं

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:16

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-5.
उस ख़ून का जो बदक़िस्मत था राहों में बहाया तन में रहा
उस फूल का जो बेक़ीमत था आँगन में खिला या बन में रहा

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:17

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-
6.
उस मश्रिक़ का जिस को तुम ने नेज़े की अनी मर्हम समझा
उस मग़रिब का जिस को तुम ने जितना भी लूटा कम समझा

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:17

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-
7.
उन मासूमों का जिन के लहू से तुम ने फ़रोज़ाँ रातें कीं
या उन मज़लूमों का जिस से ख़ंज़र की ज़ुबाँ में बातें कीं

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:18

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-8.
उस मरियम का जिस की इफ़्फ़त लुटती है भरे बाज़ारों में
उस ईसा का जो क़ातिल है और शामिल है ग़मख़्वारों में

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:18

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-9.
इन नौहागरों का जिन ने हमें ख़ुद क़त्ल किया ख़ुद रोते हैं
ऐसे भी कहीं दमसाज़ हुए ऐसे जल्लाद भी होते हैं

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:18

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-10.
उन भूखे नंगे ढाँचों का जो रक़्स सर-ए-बाज़ार करें
या उन ज़ालिम क़ज़्ज़ाक़ों का जो भेस बदल कर वार करें

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:18

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-11.
या उन झूठे इक़रारों का जो आज तलक ऐफ़ा न हुए
या उन बेबस लाचारों का जो और भी दुख का निशाना हुए

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:19

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-12.
इस शाही का जो दस्त-ब-दस्त आई है तुम्हारे हिस्से में
क्यों नन्ग-ए-वतन की बात करो क्या रखा है इस क़िस्से में

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:19

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-13.
आँखों में छुपाये अश्कों को होंठों में वफ़ा के बोल लिये
इस जश्न में भी शामिल हूँ नौहों से भरा कश्कोल लिये

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:20

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-14
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-उस जंग का जो तुम हार चुके उस रस्म का जो जारी भी नहीं
उस ज़ख़्म का जो सीने पे न था उस जान का जो वारी भी नहीं

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:21

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-15
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-
कठिन है राहगुज़र थोड़ी दूर साथ चलो
बहुत बड़ा है सफ़र थोड़ी दूर साथ चालो

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:22

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-16
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-
तमाम उम्र कहाँ कोई साथ देता है
मैं जानता हूँ मगर थोड़ी दूर साथ चलो

  अल्पना वर्मा

9 January 2010 at 22:22

makarand ke account mein jamaa karen tippani number-17
Shayar अहमद फ़राज़' साहब ka sher-
आँख से दूर न हो दिल से उतर जायेगा
वक़्त का क्या है गुज़रता है गुज़र जायेगा

Followers