फ़र्रुखाबादी विजेता ( 169) : प.डी.के.शर्मा "वत्स"

नमस्कार बहनों और भाईयो. रामप्यारी पहेली कमेटी की तरफ़ से मैं समीरलाल "समीर" यानि कि "उडनतश्तरी" फ़र्रुखाबादी सवाल का जवाब देने के लिये आचार्यश्री यानि कि हीरामन "अंकशाश्त्री" जी को निमंत्रित करता हूं कि वो आये और रिजल्ट बतायें.

प्यारे साथियों, मैं आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" आपका हार्दिक स्वागत करता हूं और रामप्यारी पहेली कमेटी का भी शुक्रिया अदा करता हूं कि उन्होने मुझे इस काबिल समझा और यह सौभाग्य मुझे प्रदान किया. इससे पहले की मैं आपको रिजल्ट बताऊं आप सवाल का मूल चित्र नीचे देख लिजिये जिससे की यह सवाल का चित्र लिया गया था.

और आज की इस पहेली के/की विजेता हैं : प. डी.के. शर्मा "वत्स", बधाई !



पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...
तितली....

12 January 2010 18:05


और रिकार्ड के मुताबिक सुश्री रेखा प्रहलाद श्री मुरारी पारीक , सुश्री अंजना, श्री विवेक रस्तोगी और सुश्री संगीता पुरी, ने भी बिल्कुल सही जवाब दिया.

सभी प्रतिभागियों को उत्साह वर्धन के लिये धन्यवाद!

अगला फ़र्रुखाबादी सवाल आज शाम को ठीक ६ बजे और अब आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" को इजाजत दिजिये! नमस्ते.


Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

9 comments:

  महफूज़ अली

13 January 2010 at 10:26

पंडित जी को बहुत बहुत बधाई..... मैं आजकल शाम में जिम जाने कि वजह से पहेली नहीं खेल पा रहा हूँ.... रामप्यारी मुझे माफ़ करना..... I love You.....

  महफूज़ अली

13 January 2010 at 10:26

पंडित जी को बहुत बहुत बधाई..... मैं आजकल शाम में जिम जाने कि वजह से पहेली नहीं खेल पा रहा हूँ.... रामप्यारी मुझे माफ़ करना..... I love You.....

  पी.सी.गोदियाल

13 January 2010 at 10:35

देखा, आजकल मेरे जैसे भले आदमियों का तो ज़माना ही नहीं रहा ! वत्स साहब की तरह धमकी दो और जीत हासिल करो , आखिर में उनको बधाई देने के सिवाए कोई रास्ता भी नहीं बचता क्योंकि उधर भाटिया साहब ने पानी की टंकी खडी कर रखी है !:)

  निर्मला कपिला

13 January 2010 at 10:57

वत्स जी को बहुत बहुत बधाई। लोहडी पर्व की सभी को शुभकामनायें

  संगीता पुरी

13 January 2010 at 11:12

पंडित जी को बधाई !!

  अल्पना वर्मा

13 January 2010 at 11:33

kya baat hai!bahut hi sundar titali ki tasveer hai.

पंडित जी को बहुत बहुत बधाई!

parson tak hattrick ke liye shubhkamanyen..!

  अल्पना वर्मा

13 January 2010 at 11:34

:) waise hi gyan baant dun----in phoolon ko 'koori' kahte hain..
jinpar yah titali baithi hai...

  anjana

13 January 2010 at 14:53

पंडित जी को बहुत बहुत बधाई|

  डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक

13 January 2010 at 19:57

लोहिड़ी पर्व और मकर संक्रांति की हार्दिक शुभकामनाएँ!

मदन लाल को साहित्य श्री देने की
बात क्यों कर रहें हैं जी।

इन्हें तो छद्मश्री देनी पड़ेगी!

Followers