खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (184) : आयोजक उडनतश्तरी

बहनों और भाईयों, मैं उडनतश्तरी इस फ़र्रुखाबादी खेल में आप सबका आयोजक के बतौर हार्दिक स्वागत करता हूं.

आपका इस खेल को संचालित करने मे मुझे पुर्ण सहयोग मिलता आया है और उम्मीद करता हूं कि अब आने वाले दिनों में भी मिलता रहेगा. और मुझे आपका सहयोग लगेगा ही, क्योंकि मेरी सजा पूरी होने के पहले ही आप लोग मुझे नई सजा दिलवा देते हैं. लगता है अब मुझे आयोजक की भूमिका मे ही आप लोग ज्यादा पसंद करते हैं. जैसी आपकी इच्छा.

इस खेल मे आप लोगो के सहयोग से रोचकता बरकरार है. सभी इसका आनंद ले रहें हैं. आगे भी लेते रहें. तो आईये अब आज का बहुत ही आसान सवाल आपको बताते हैं :-

नीचे का चित्र देखिये और बताईये कि ये कौन सा खेल खेल रही है और इस खिलाडी का नाम बताईये?



तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये. इसका जवाब कल शाम को 4:00 तक आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" देंगे. आज मैं और डाक्टर झटका खेल दौरान आपके साथ रहेंगे.

"बकरा बनाओ और बकरा मेकर बनो"

टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.

208 comments:

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 18:04

खेल तो ये कन्या हाकी रही है...नाम सोच कर बताते हैं !

  दिगम्बर नासवा

27 January 2010 at 18:08

Hoky khel rahi hai ........

  दिगम्बर नासवा

27 January 2010 at 18:08

Lawn tennis khel rahi hai .....

  दिगम्बर नासवा

27 January 2010 at 18:09

base boll khel rahi hai ......

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 18:10

मुझे लग रहा है पिकनिक पर आई होगी और कोई जानवर भगा रही है..कौन जाने??


नमस्कार सभी उपलब्ध मित्रों को.

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 18:11

आज एकदम टाईम पर आ गया हूँ.

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 18:11

शायद टेनिस खेल रही हो..उसकी मरजी वैसे तो!!

  ललित शर्मा

27 January 2010 at 18:14

बेसबाल खेल रही है।

  ललित शर्मा

27 January 2010 at 18:14

समीर भाई राम-राम

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:16

Panditji se sahmat hockey!! womens hockey!

  दिगम्बर नासवा

27 January 2010 at 18:16

Hockey ki spelling theek kar raha hun ...... angreji mein haath tang hai isliye pahle galat likh di ... Sameer bhai ... ispeling mistakes maaf karna ...

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:17

raam raam sabhi ko!

  makrand

27 January 2010 at 18:19

नमस्ते अंकल लोगों को, आंटियां तो अभी तक आई नही हैं.

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:19

namskaar bachhe kyaa khabar llaye ho!! jo itni der se aaye ho!!!

  makrand

27 January 2010 at 18:20

ये मारिया शारापोवा है और टेनिस का बैक हैंड शाट खेला है. दोनों हाथों से बैट थामे हैं. आप कहें तो सामने वाली खिलाडी कौन है ये भी बता दूं?

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:22

इतने से काम चला लेंगे !
बाकी हम मिला लेंगे!!
मकरंद शुक्रिया !!!

  Yashwant Mehta

27 January 2010 at 18:23

bhai sab logo ko namaste

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:24

yaswantji suswagatam!!

  Yashwant Mehta

27 January 2010 at 18:24

ye to pakka hei ki hockey khel rahi hei. naam pata hota to khel patrakar na ban jata

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 18:26

हा हा!! दिगम्बर स्पेलिंग में इतना लोचा!!



सभी को प्रणाम!!


मकरंद भी आया है आज तो

  Yashwant Mehta

27 January 2010 at 18:27

धन्यवाद् मुरारी भाई

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 18:27

यशवंत भाई


मकरंद तो टेनिस बता रहा है. उसे तो सामने वाले खिलाड़ी का नाम भी पता है.

  Yashwant Mehta

27 January 2010 at 18:27

धन्यवाद् मुरारी भाई

  Yashwant Mehta

27 January 2010 at 18:28

This comment has been removed by the author.
  ललित शर्मा

27 January 2010 at 18:30

यो गुल्ली डंडा खेल रही सै। फ़ालतु बावळे हुए जा रहे हो।,
पुछो तो नाम भी बता दुं इसका।

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:31

gulli dandaa ki khilaadi??

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 18:31

क्या पहचाना ललित भाई!! छा गये!!!

  Yashwant Mehta

27 January 2010 at 18:31

मकरन्द होशियार बालक है समीर जी

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:32

मैं तो सोच्यो हारदड़ो खेल री है !!

  ललित शर्मा

27 January 2010 at 18:34

आज कल गुल्ली डंडा अंतर्राष्ट्रिय खेल हो गया है,
कोई भी खेल सकता है।

  Yashwant Mehta

27 January 2010 at 18:35

pandit ji kahan gayab ho gaye, lagta hei kanya se naam puchne ke liye photo mei hi ghus gaye

  makrand

27 January 2010 at 18:37

मिल गया जी पक्का लींक मिल गया, मारिया शारापोव वर्सेज सेरेना विलियम्स इन US OPEN

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:37

link chhap de makku!!

  makrand

27 January 2010 at 18:39

मुरारी अंकल सजा कौन काटेगा?

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:40

women hockey players Julie Towers

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:40

sameer uncle hain naa makku kaahe ko tension le rahe ho sajaa ki!!

  Yashwant Mehta

27 January 2010 at 18:41

arre makku bete chaap do. koyi saza nahi hogi

  दीपक "तिवारी साहब"

27 January 2010 at 18:41

तिवारी साहब का सभी उपस्थित सज्जनों को नमस्ते, बच्चा मकरंद क्यों लोगों को बेवकूफ़ बना रहा है?

  makrand

27 January 2010 at 18:42

अरे तिवारी अंकल नमस्ते, कैसे हैं? बहुत महिनों मे दिखे आज तो?

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:42

teewari saab ko bhi sabhi upasthit jano aadaab namskaar raam raam!!

  दीपक "तिवारी साहब"

27 January 2010 at 18:44

बालक मकरंद ये बता कि टेनिस सुंदरियां इस तरह की हाफ़ पैंट कब से पहनने लग गई? भरी दोपहर मे लोगों को बेवकूफ़ बना रहा है?

  महेन्द्र मिश्र

27 January 2010 at 18:44

ये कन्या टेनिस में बैक शाट हैण्ड से पक्षी को भगा रही है . गलत कुछ भी नहीं है कन्या भी दिख रही है और वह पक्षी को भगा रही है ...... राम राम

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:45

ha..ha. pakshi bhaag hi nahi rahaa mahendra ji 6 baje se lagi hai bhagaane me !!!

  दीपक "तिवारी साहब"

27 January 2010 at 18:45

मुरारी जी नाम्स्ते, ये हाकी वाली कन्या ही है या ज्यादा से ज्यादा बैडमिंटन वाली हो सकती है. हिंट दो भाई झटका जी, देशी है या विदेशी?

  Yashwant Mehta

27 January 2010 at 18:45

भैया हमे लगता हैं मुरारी जी ने सही जवाब दे दिया हैं

  Yashwant Mehta

27 January 2010 at 18:48

भैया हम भी एक पहेली ब्लॉग खोलने की सोच रहे हैं.
जवाब तो दिए जाते नहीं क्यों न सवाल ही पूछ लिए जाएँ

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:49

मैंने तो भई तुक्का पाया है सजे तो ठीक वरना अपना क्या गया !! हा..हा..

  दीपक "तिवारी साहब"

27 January 2010 at 18:50

अपने बस की नही है इस कन्या को पहचानना, हां खेल ये हाकी ही रही है, जितने नंबर देना हो देदेना.

शुभरात्रि.

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:52

हाँ अगर खेलने का नंबर ना दें तो इस कन्या को हमारे मोबाइल न. दे देना!!!

  makrand

27 January 2010 at 18:52

मुरारी अंकल लिंक मिला क्या? जल्दी दिजिये. मुझे ट्युशन जाना है और मम्मी अवाज लगा रही है.

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:56

ha..ha.. makrand tution kyaa mujhe yahaan kaam pe lagaa ke jaaoge !!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 18:56

मैं यहाँ दंड भरता रहू और तुम चलते बनो लिंक ले के !!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 18:59

मकरंद से बचना...वो ट्यूशन चला जायेगा फंसवा कर.

  निर्मला कपिला

27 January 2010 at 19:02

हा हा हा हम तो तस्वीर ही देखते रहे सुबह से और लोग कहाँ से कहाँ पहुँच गये । ये कन्या भी कमाल है और बूझने वाले भी।

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 19:03

क्या अजीब मुसीबत है!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:04

Doctor saab hint dijiye!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 19:07

आयोजकों से हाथ जोडकर विनती है कि इस पहेली को बन्द कर दिया जाए...

  डाँ. झटका..

27 January 2010 at 19:08

हिन्ट


इस खेल को लेकर हाल ही भारत में बहुत हल्ला मचा था.

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:09

बड़ा साफ साफ हिन्ट दे गये डॉक्टर झटका तो..

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:09

किस खेल को लेकर हा..हा..

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 19:12

माननीय आयोजकगणों इस पहेली को लेकर हमारा विरोध दर्ज किया जाए...

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:14

Game to hockey hi hai !! par ye balaa kaun hai !! jaraa inkaa ataa pataa dijiye!!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:15

पंडितजी क्या विरोध दर्ज करवाने जा रहे हो !!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 19:16

भई क्या बताएं। इस पहेली नें तो हमारी आदत बिगाड के रख दी....समय की कमी के चलते बडी मुश्किल से तो पोस्ट लिखने का टाईम मिलता है.जब लिखने बैठते हैं तो यहाँ ये पहेली शुरू हो जाती है...पोस्ट बीच में ही छोडकर यहाँ मगजमारी करने आना पड जाता है :)

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:17

yahi haal hai sabkaa sochte ek baar dekh kar aa jaayenge !

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:22

पंडित जी की आपत्ति एवं निर्णय


आपत्ति दर्ज कर ली है और इस विषय में कुछ भी नहीं किया जा सकता है क्यूँकि डॉ झटका कमेटी ने इसे पोस्ट न लिख पाने की आलस्य का एक बहाना मात्र पाया गया!! :)

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:23

ऐसी आपत्तियों के लिए दंड पर विचार करना चाहिये, डॉ झटका को.

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:25

ha..ha..आलस्य मनुष्य का सबसे बड़ा शत्रु है !!!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:25

AB niklte hain Dore jaam ke liye !!

  makrand

27 January 2010 at 19:27

क्या हुआ अंकलों? मैं तो ट्युशन से लौट भी आया.

  makrand

27 January 2010 at 19:28

मुरारी अंकल कहां चले? जवाब मिला क्या?

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:29

makrand nahi milaa!

  makrand

27 January 2010 at 19:30

हिंट मिला क्या?

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:31

hint milaa upar dekho!

  डाँ. झटका..

27 January 2010 at 19:32

जरुरी हिंट : यह खिलाडी विदेशी है और बहुत नामी रही है.

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:32

ना ये कन्या खेलती ना मगजमारी होती !!!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:33

ye to pataa hai ki ye videshi hai!! aur Australia ki hogi!

  makrand

27 January 2010 at 19:33

अरे मुरारी अंकल ये झटका भी झटका ही है. ये कोई हिंट हुआ?

  makrand

27 January 2010 at 19:34

मुरारी अंकल कोई की वर्ड दिजिये.

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 19:34

गर् यही हाल रहा तो ये पहेली कईं महान ब्लागरों को निष्क्रियता की ओर ले जाएगी :)

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:36

ha..ha.. lol makku

  डाँ. झटका..

27 January 2010 at 19:37

प. वत्स जी आप पर बहाने बाजी बनाने के जुर्म में क्यों ना १०१ टिप्पणीयों का दंड लगा दिया जाये?

जवाब दिया जाये

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:38

उचित विचार है !!! कई दिन से कोई मुर्गा नहीं फंसा!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 19:39

पहेली के चलते आने वाली पीढी कहीं महान ब्लागरों की कालजयी रचनाओं से वंचित रह जाए :)
गर ऎसा हुआ तो इतिहास पहेली आयोजकों को कभी माफ नहीं करेगा :)

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 19:41

जरूर लगा दिया जाए....भई ये आपका अधिकार क्षेत्र है, जिसमें कि हम कोई दखलंदाजी नहीं कर सकते...लेकिन उस दंड को स्वीकार करना न करना ये हमारे अधिकार में हैं :)

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:43

हम तो महान साहित्यकार के दर्शन भर से अभिभूत हैं..कहीं रचना पढ़कर पागल ही न हो जायें. इसलिए रहने ही दिजिये. :)

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:44

१०१ तो बहुत ज्यादा होती है. ११ हों तो पंडित जी मान सकते हैं.

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:45

देख लीजिये घर का ही मामला है १०१ अगर ज्यादा है तो कुछ कम्बेश करके मामला सलटा लीजिये !!!

  makrand

27 January 2010 at 19:46

अरे वत्स अंकल, आपको भी क्या हुआ है? यहां कोई कमसे कम किसी को कोई बुरा भला तो अन्ही कहता, हंस बोल कर थोडी देर चले जाते हैं. फ़िर आप क्युं इसे बंद करवाने पर तुले हैं?

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:46

पहली बार डॉ झटका को सजा देने के लिए जबाब मांगते देखा वरना तो धड़ से देते हैं कि सजा दो हफ्ते बढ़ाई जा रही है. लगता है घोटालेबाजी में लिप्त हैं डॉ झटका...हाय हाय!!

  makrand

27 January 2010 at 19:47

अरे वाह ..जय हो डाक्टर झटका की, सही न्याय है डाक्टर साहब, आप तो सीधे २५१ की ही लगा दो. क्यूं पंडितजी?:)

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:47

मकरंद


जोर से बोलो:

डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:47

सही जवाब के साथ हाजिर हूँ मैं ये है होकीका खेल जो खिलाड़ी है वो महिला है जिसका नाम Mel Clewlow ! है

  makrand

27 January 2010 at 19:48

समीर अंकल इस बात की अपील की जानी चाहिये. आंदोलन करिये, नारे मैं लगाऊंगा.

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:48

डॉ झटका पंडित जी मिल गये हैं...

  makrand

27 January 2010 at 19:48

मुरारी अंकल लिंक दो

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 19:49

अजी डा. झटका आदमी को पहचानना आता है :)

  makrand

27 January 2010 at 19:49

डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  makrand

27 January 2010 at 19:49

डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  makrand

27 January 2010 at 19:49

डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:49

डॉ झटका...हाय हाय!!


पंडित जी को दंड लगाओ!!

उन्होंने अवमानना की है कि दंड नहीं मानेंगे.

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:49

हा य हा य!!

  makrand

27 January 2010 at 19:49

जोर से बोलो..प्रेम से बोलो


डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  makrand

27 January 2010 at 19:49

जोर से बोलो..प्रेम से बोलो


डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  makrand

27 January 2010 at 19:49

जोर से बोलो..प्रेम से बोलो


डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  makrand

27 January 2010 at 19:50

जोर से बोलो..प्रेम से बोलो


डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:50

मकरंद-जोर से बोलो.

हाय हाय!!


आंदोलन किया जायेगा...टिप्पणी जाम लगाया जायेगा.

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 19:50

लगाओ लगाओ...खूब जोर से नारे लगाओ। आवाज अगले मोहल्ले तक सुनाई देनी चाहिए :)

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:51

प्रेम से बोलो ????


प्रेम से क्या बोलना आंदोलन में..कोई पूजा चल रही है, क्या मकरंद!!

  डाँ. झटका..

27 January 2010 at 19:51

तीन अत्यंत ही महत्वपुर्ण फ़ैसलों के लिये आर्डर आगया है. इंतजार करिये.

  makrand

27 January 2010 at 19:52

जोर से बोलो..हाय...हाय..

डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  makrand

27 January 2010 at 19:52

जोर से बोलो..हाय...हाय..

डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 19:52

प्रेम से बोलो....

मकरन्द्! ये आन्दोलन कर रहे हो कि माता वैष्णो देवी की यात्रा पे निकले हो :)

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:52

आंदोलन सफल रहा मकरंद...पंडित जी के खिलाफ सुनवाई हो रही है...जय हो!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:53

आज तो पंडित जी नपे बुरी तरह!!


जो हमसे टकरायेगा-चूर चूर हो जायेगा!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:54

अभी पंडित जी झांकी निकलेगी...तब प्रेम से बोलना मकरंद!!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:54

भड़काऊ भाषणों से कुछ अनर्थ होने वाला है !!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:55

मुरारी बाबू...पंडित जी के खिलाफ नारे बाजी का नतीजा निकलेगा...इन्साफ मिल कर रहेगा!!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:55

हम तो तटस्थ हैं

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:56

तटस्थ रहिये...अभी मिठाई बाटूंगा तब तो आईयेगा?? :)

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:56

पंडितजी तो मजाक कर रहे थे !! अपने हिंदी ज्ञान को बढ़ा रहे थे !!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:57

यहीं पकड़ा दीजिएगा!!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:58

यहाँ गंभीर स्थल पर मंच से मजाक करने का दंड मिलता है. :)

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:58

मैं डाक्टर साब से अनुरोध करूंगा की आज ऐसी कोई कार्यवाही ना करें पंडितजी के खिलाफ !!

  डाँ. झटका..

27 January 2010 at 19:58

रामप्यारी पहेली कमेटी मे आज अवमानना के तीन मामले पेश हुये.

सभी सदस्यों की राय यानि कि बहुमत से निम्न फ़ैसला सुनाया जाता है.

१. प.डी.के.शर्मा वत्स को अवमानना का नोटिस दिया गया था जिसे उन्होने नम्रता से स्वीकार कर लिया एवम उनसे भविष्य में ऐसा नही करने की चेतावनी देते हुये दोषमुक्त कर दिया गया है.

२. द्वितीय मामला उडनतश्तरी का आया. आयोजक रहते हुये भी आंदोलन के लिये उकसाये जाने के लिये सजा सात रोज के लिये बढा दी गई है.

३. तृत्तीय मामला मकरंद का आया है. बहकावे में आकर आंदोलन चलाने के जुर्म मे उसका पिछला रिकार्ड देखते हुये २१ टिप्पणियों की सजा दी जाती है.

कोई अपील नही होगी : कलमतोड फ़ैसला.

आज्ञा से

रामप्यारी पहेली कमेटी.

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 19:59

आज आप पंडित जी पूरी साहनभूति में नजर आ रहे मुरारी बाबू...आप भी डॉ झटका की तरह ही...सेट तो नहीं कर लिए गये??

  Murari Pareek

27 January 2010 at 19:59

हा..हा.. गंभीर स्थल!!! हो हो हो !!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 19:59

मुरारी भाई आप क्यूं तटस्थ रहते हैं..आप भी नारे लगा लीजिए......वर्ना कल को
जो तटस्थ हैं, समय लिखेगा उनका भी अपराध
:)

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:00

ये क्या बात हुई???

पंडित जी, कुछ हमारी भी सेटिंग भिड़वा दो..प्लीज...अब तो बहुत हो गई सजा... :(

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:00

हा..हा.. मामला उलटा हो गया !!!मकरंद बेटे चल शुरू हो जा!! कलम तोड़ फैसला आ गया !!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:01

हम तो मंच की रक्षा करते हुए शहीद टाईप हो गये...भलाई का जमाना ही नहीं बचा.

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:01

bilkul sahi faislaa hai !!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 20:02

डा. झटका नें हमारे द्वारा भेंट में दिया गया "वशीकरण यन्त्र" धारण कर रखा है :)

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:02

मकरंद....मैं तुम्हारे साथ हूँ...गिन कर बता दूंगा कि कितने हुए. शुरु हो जाओ इस जालिम जमाने में सच की सजा पाने को!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:03

मुरारी बाबू भी वशीभूत ही नजर आ रहे हैं...यहाँ टोना टोटका चल रहा है...बचाओ!!!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:04

वशीकरण मंत्र डाक्टर साब लेडिज हैं जेंट्स संदेह हो रहा है !!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:04

लेकिन मैं पंडित जी की तरह विनम्र नहीं..मैं इस सजा के खिलाफ अपना विरोध दर्ज करता हूँ...कलम तोड़ी है तो दूसरी लाओ.

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:04

समीरजी इन्होने पोस्ट में ही वशीकरण पोस्ट लिखी है हा..हा..

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:05

डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 20:05

डा. झटका उभयलिंगी हैं :)

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:05

डॉ झटका को ठंडे पानी से नहला कर फिर फैसला कराया जाये ताकि भूत उतरे.

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:05

दूसरी कलम नहीं मिलती आप की सजा तो सजा नहीं है !!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:06

कोई से भी लिंगी हों उससे क्या...सजा तो हमें दी है..:)

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:07

चलियी आज काफी मस्ती हो गई दरअसल आज किसी को सजा नहीं होनी चाहिए थी !!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:07

डॉ झटका- हाय हाय!!


घोटालेबाजी नहीं चलेगी...नहीं चलेगी!!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 20:07

अपराधी कहीं दिखाई नहीं पड रहा...भाग गया लगता है!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:07

इससे पहले की एक कलम और टूटे निकल लेता हूँ!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:08

आप तो चल दिये...यहाँ तो सात दिन की पड़ गई ...उपर से पगार भी समय से नहीं और देर से आने की फटकार अलग से..

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:08

मकरंद तो चलता बना !!

  makrand

27 January 2010 at 20:08

कलमतोड फ़ैसले का घनघोर विरोध करता हूं. दमनकारी नितियां नही चलेगी..नही चलेगी...झटका हाय..हाय....

  makrand

27 January 2010 at 20:09

कलमतोड फ़ैसले का घनघोर विरोध करता हूं. दमनकारी नितियां नही चलेगी..नही चलेगी...झटका हाय..हाय....

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:09

अच्छा है कम से कम दूसरों के जितने के चांस बने रहेंगे !!!

  makrand

27 January 2010 at 20:09

कलमतोड फ़ैसले का घनघोर विरोध करता हूं. दमनकारी नितियां नही चलेगी..नही चलेगी...झटका हाय..हाय....

  makrand

27 January 2010 at 20:09

कलमतोड फ़ैसले का घनघोर विरोध करता हूं. दमनकारी नितियां नही चलेगी..नही चलेगी...झटका हाय..हाय....

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 20:09

पगार न सही ऊपरी कमाई तो हो ही जाती है :)

  makrand

27 January 2010 at 20:09

कलमतोड फ़ैसले का घनघोर विरोध करता हूं. दमनकारी नितियां नही चलेगी..नही चलेगी...झटका हाय..हाय....

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:09

वरना आप रोज रोज चोबारे में बैठेंगे !!!

  makrand

27 January 2010 at 20:09

कलमतोड फ़ैसले का घनघोर विरोध करता हूं. दमनकारी नितियां नही चलेगी..नही चलेगी...झटका हाय..हाय....

  makrand

27 January 2010 at 20:10

कलमतोड फ़ैसले का घनघोर विरोध करता हूं. दमनकारी नितियां नही चलेगी..नही चलेगी...झटका हाय..हाय....

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:10

ओह टायप कर रहा था !!! विरोध के जुर्म में ही तो सजा हुई thi

  makrand

27 January 2010 at 20:10

हाय हाय

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:10

कमाई कहाँ...चाय पानी में तो लोग झिक झिक कर देते हैं...

  makrand

27 January 2010 at 20:10

दादागिरी नही चलेगी

कलमतोड फ़ैसले का घनघोर विरोध करता हूं. दमनकारी नितियां नही चलेगी..नही चलेगी...झटका हाय..हाय....

  makrand

27 January 2010 at 20:10

कलमतोड फ़ैसले का घनघोर विरोध करता हूं. दमनकारी नितियां नही चलेगी..नही चलेगी...झटका हाय..हाय....

  makrand

27 January 2010 at 20:11

कलमतोड फ़ैसले का घनघोर विरोध करता हूं. दमनकारी नितियां नही चलेगी..नही चलेगी...झटका हाय..हाय....

  makrand

27 January 2010 at 20:11

कलमतोड फ़ैसले का घनघोर विरोध करता हूं. दमनकारी नितियां नही चलेगी..नही चलेगी...झटका हाय..हाय....

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:11

मकरंद, तुम तो बच लो...सॉरी सर टाईप करो उन तानाशाहों के लिए...हम झेल लेंगे...

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:11

कुछ भी आपको कुछ न कुछ मिलता ही था न!!! बिना मामा के काना मामा ही अच्छा!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:12

वरना उनका क्या जाता है...तुम्हारी सजा और बढ़ा देंगे.

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:12

कोई बात नहीं मक्कू हम तुम्हारे ७ हैं गिनने में !!!

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:13

पान बीड़ी तो पान की दुकान की चौकीदारी में भी मिल जाती है...

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

27 January 2010 at 20:14

मियाँ मुर्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्रारी लाल जी, जरा हमारे दरबान महोदय जी के चाय पानी का ख्याल कर लिया करो...आप लोगों के लिए ही तो इतनी कठोर डयूटी निभा रहे हैं बेचारे!
जल्दी से एक कप बिना शक्कर, बिना दूध की चाय भेज देना भाई :)

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:14

चोकिदारी में और बाबुपन में फर्क है ना !!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:14

makku ka net fail ho gayaa !!

  डाँ. झटका..

27 January 2010 at 20:14

@ उडनतश्तरी को कलमतोड फ़ैसले के खिलाफ़ हाय हाय के नारे लगाने का दोषी पाया जाता है

लिहाजा आज की आज की सजा एक सप्ताह से बढाकर तीन सप्ताह की जाती है. विरोध करने पर सजा बढाई जा सकती है. कोई अपील नही होगी.

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:14

Gud night ji sabhi ko!!

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:15

ha..ha.. jhatkaaji aaj bade sajaa ke mood me hain!!

  makrand

27 January 2010 at 20:16

अरे समीर अंकल ये क्या हुआ? आपने कब नारे लगा डाले?

  makrand

27 January 2010 at 20:16

सारी डाक्टर झटका...

  makrand

27 January 2010 at 20:16

सारी डाक्टर झटका...

  makrand

27 January 2010 at 20:16

सारी डाक्टर झटका...

  makrand

27 January 2010 at 20:16

सारी डाक्टर झटका...

  makrand

27 January 2010 at 20:17

सारी डाक्टर झटका...

  makrand

27 January 2010 at 20:17

सारी डाक्टर झटका...

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:17

Udan Tashtari said...
डॉ झटका- हाय हाय!!

  makrand

27 January 2010 at 20:17

सारी डाक्टर झटका...

  makrand

27 January 2010 at 20:17

सारी डाक्टर झटका...

  makrand

27 January 2010 at 20:17

सारी डाक्टर झटका...

  makrand

27 January 2010 at 20:17

सारी डाक्टर झटका...

  Murari Pareek

27 January 2010 at 20:17

makrand sudhar gayaa!! ha..ha..

  makrand

27 January 2010 at 20:17

और ये अपनी पूरी हुई

  डाँ. झटका..

27 January 2010 at 20:19

हिंट के लिये तैयार रहें.

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:21

:(

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:21

अब से चुप रहा करुँगा!!

  डाँ. झटका..

27 January 2010 at 20:23

अंतिम हिंट:-

यह खिलाडी विश्वकप और चेंपियन्स ट्राफ़ी विजेता टीम की सदस्य भी रही है.

धन्यवाद.

  makrand

27 January 2010 at 20:28

अब मैं बी पतली गली से निकल रिया हूं भियाजी, खाया पिया कुछ नही..गिलास फ़ोडा डेढ रुपया का.

  seema gupta

27 January 2010 at 20:29

hockey

  makrand

27 January 2010 at 20:29

अब फ़िर से सर्च करता हूं और तब जवाब देने आता हूं.

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:30

सीमा जी, नमस्ते...प्लेयर का नाम भी बताना है. :)

  Udan Tashtari

27 January 2010 at 20:30

मकरंद लिंक लेने गया है..

Followers