फ़र्रुखाबादी विजेता (186) : कोई भी नही!

नमस्कार बहनों और भाईयो. रामप्यारी पहेली कमेटी की तरफ़ से मैं समीरलाल "समीर" यानि कि "उडनतश्तरी" फ़र्रुखाबादी सवाल का जवाब देने के लिये आचार्यश्री यानि कि हीरामन "अंकशाश्त्री" जी को निमंत्रित करता हूं कि वो आये और रिजल्ट बतायें.

प्यारे साथियों, मैं आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" आपका हार्दिक स्वागत करता हूं और रामप्यारी पहेली कमेटी का भी शुक्रिया अदा करता हूं कि उन्होने मुझे इस काबिल समझा और यह सौभाग्य मुझे प्रदान किया. इससे पहले की मैं आपको रिजल्ट बताऊं आप सवाल का मूल चित्र नीचे देख लिजिये जिससे की यह सवाल का चित्र लिया गया था.


कंगारू


बडे अफ़्सोस के साथ सुचित किया जाता है कि आज कोई भी सही जवाब नही दे पाया! आज शाम के लिये शुभकामनाएं. वैसे भी लगता है कि हमारे ज्यादातर खिलाडी आजकल छुट्टी काट रहे हैं.

सभी प्रतिभागियों को उत्साह वर्धन के लिये धन्यवाद!

अगला फ़र्रुखाबादी सवाल आज शाम को ठीक ६ बजे और अब आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" को इजाजत दिजिये! नमस्ते.

Promoted By : लतश एवम शिल्कर, धन्यवादको

5 comments:

  संगीता पुरी

30 January 2010 at 12:02

किसी को भी बधाई नहीं .. आज के लिए सबों को शुभकामनाएं !!

  पी.सी.गोदियाल

30 January 2010 at 13:06

सभी पराजितो को बधाई :)

  पी.सी.गोदियाल

30 January 2010 at 13:07

हार्दिक छूट गया था,उसे यहाँ दे रहा हूँ !

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

30 January 2010 at 13:55

श्री/सुश्री कोई भी नहीं जी को बहुत बहुत बधाई :)
लेकिन जवाब तो अभी तक भी पता नहीं चला कि ये कोन जिनावर है :)

  Udan Tashtari

30 January 2010 at 18:28

जब कोई नहीं है तो मेरा नाम लिख देते. :)

Followers