ताऊ की चौपाल मे : दिमागी कसरत - 49


नमस्कार दोस्तों. मैं आचार्य हीरामन "अंकशाश्त्री" आज सुबह की दिमागी कसरत की कक्षा मे आपका स्वागत करता हूं. आप अगर मेरी क्लास में नियमित आते रहे तो आपका दिमाग बिल्कुल मेरी तरह यानि तेज कैंची की तरह चलने लगेगा. तो आज हम आपको एक बिल्कुल सीधा सा इतिहास का सवाल पूछ रहे हैं. इसका जवाब दिजिये. फ़िर हम आपकी कापी चेक करके बतायेंगे कि आपके दिमाग की कसरत कितनी हुई?

सवाल यह रहा :-


१०० रुपये में १०० जानवर खरीदना है..यह भी जरुरी है कि हर जानवर खरीदा जाये...भाव देखिये

गाय: १० रुपये प्रति गाय
सुअर: ३ रुपये प्रति सुअर

मुर्गा: ५० पैसे प्रति मुर्गा

कितना क्या खरीदा जाये??


तो फ़टाफ़ट जवाब दिजिये!

आभार : श्री समीरलाल "समीर"

Powered By..
stc2

Promoted By : ताऊ और भतीजाएवम कोटिश:धन्यवाद

10 comments:

  Rekhaa Prahalad

17 January 2010 at 08:35

इतने सस्ते क्या मिटटी के जानवर खरीदने है?

वैसे नग का मतलब नहीं समझ पाई, जहा तक मेरी समझ है नग याने precious stone फिर भी उत्तर देने का प्रयास करुँगी.

वैसे जिसकी जीतनी जरूरत वो उतनी ही खरीदेगा १०० रुपयों मे adjust कर के; अगर मुझे खरीदना है तो
१०रूपये x२cows= २०रुपये
३रूपये x१०pigs=३०रुपये
५०पैसे x१००hens = ५० रूपये
pata nahi is swaal me kya chupa hai;-))

  Murari Pareek

17 January 2010 at 08:45

गाय (१०)= 5
सूअर (३)=1
मुर्गा (.५०)=94

  अल्पना वर्मा

17 January 2010 at 09:05

१०० रुपये में १०० जानवर खरीदना है-
Jawab-
गाय: १० रुपये प्रति गायx5=50 Rs
सुअर: ३ रुपये प्रति सुअरx1=3 RS

मुर्गा: ५० पैसे प्रति मुर्गाx94=47 RS
total=100Rs

SO --final jawab hai-khareediye-

[गाय-5,सुअर:-1 aur मुर्गा-94]

  raveesingh

17 January 2010 at 09:48

5 गाय प्रति दस रुपये के हिसाब से रु.50
1 सुअर प्रति 3 के हिसाब से रु.3
94 मुर्गे प्रति .50 के हिसाब से 47
कुल जानवर 100 व्यव्य हुआ कुल रु. 100

रवि सिंह
http://raveesingh.wordpress.com

  निर्मला कपिला

17 January 2010 at 10:00

सुबह सुबह इतनी भारी गिनती तो ताऊ बाकी ब्लाग पढने को दिमाग और सम्य कहाँ बचेगा? राम राम

  दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi

17 January 2010 at 10:07

हम ने तो दो सौ मुर्गे ही खरीद लिए हैं। वकालत के साथ साथ पोल्ट्री फार्म कैसा रहेगा।

  दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi

17 January 2010 at 10:08

चक्कर ये है कि सुअर को छू दें तो फिर नहाना पड़ता है। गाय को रखें तो बछड़े भी देगी। आज कल खेती में बैल तो काम आते नहीं बैलगाड़ियाँ भी गिनी चुनी रह गई हैं। अब घर का बछड़ा आवारा फिरे या कटने जाए तो पाप तो लगेगा न। इस लिए पोल्ट्री फार्म ही ठीक है।

  Dr. Smt. ajit gupta

17 January 2010 at 10:29

गणित तो दसवीं में ही छोड़ दी थी, अब तो इस मंहगाई में घर का हिसाब भी नहीं होता। फिर भाई हम तो शाकाहारी हैं, चलो गाय का तो दूध ही पी लेंगे, लेकिन सूअर और मुर्गे का क्‍या करेंगे? हमें तो माफ ही करो।

  Sadhana Vaid

17 January 2010 at 12:00

पाँच (5) गाय---- 50

एक (1) सूअर------3

चौरानवे (94 मुर्गे-------47

  Rekhaa Prahalad

17 January 2010 at 12:24

oh maine jaldi me swaal thik se nahi pada 100 janwar khareedna hai:(
Haste is waste, jaldi me haldi ho gayi meri:<(

Followers