खुल्ला खेल फ़र्रुखाबादी (200) : आयोजक उडनतश्तरी

बहनों और भाईयों, मैं उडनतश्तरी इस फ़र्रुखाबादी खेल के २०० वें अंक में आप सबका आयोजक के बतौर हार्दिक स्वागत करता हूं. आज २०० वें अंक के विजेता को दिया जायेगा एक शानदार प्रमाणपत्र. तो देखिये नीचे का चित्र और फ़टाफ़ट दे डालिये जवाब.

नीचे का चित्र देखिये और बताईये कि ये किस चीज के फ़ूल हैं? इस 200 वें अंक के विजेता को एक प्रमाणपत्र दिया जायेगा.




तो अब फ़टाफ़ट जवाब दिजिये.

टिप्पणियों मे लिंक देना कतई मना है..इससे फ़र्रुखाबादी खेल खराब हो जाता है. लिंक देने वाले पर कम से कम २१ टिप्पणियों का दंड है..अधिकतम की कोई सीमा नही है. इसलिये लिंक मत दिजिये.

24 comments:

  Anonymous

16 March 2010 at 18:09

Rajanigandha ke phool hai!

  Anonymous

16 March 2010 at 18:12

Jasmine

  संजय भास्कर

16 March 2010 at 18:13

RAJNIGANDHA KE PHOOL HAI

  संजय भास्कर

16 March 2010 at 18:14

YE RAJNIGANDHA KE PHOOL HI HAI..

  पी.सी.गोदियाल

16 March 2010 at 18:20

पपीते के फूल है ताऊ ! राम राम !

  पी.सी.गोदियाल

16 March 2010 at 18:21

आपको राम प्यारी को डाक्टर झटका को और सभी को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाये !

  Udan Tashtari

16 March 2010 at 18:28

ककड़ी का फूल..

  Udan Tashtari

16 March 2010 at 18:29

नव विक्रम सम्वत्सर-२०६७ और चैत्र नवरात्रि के शुभ अवसर पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ .....

  Udan Tashtari

16 March 2010 at 18:30

हमने महकी है दमकती हुई
इनकी खुशबू...
फूल को फूल ही रहने दो,
कोई नाम न दो...

  Anonymous

16 March 2010 at 18:38

पपीते के फूल है!. पी.सी.गोदियालji Badhai sweekar keejiye:)

  Anonymous

16 March 2010 at 18:40

shayad rampayari ke baagiche ke hai;)par hai to papite ke phool hi:)

  पी.सी.गोदियाल

16 March 2010 at 18:45

शुक्रिया रेखा जी ! नया साल मुबारक

  पी.सी.गोदियाल

16 March 2010 at 18:45

समीर जी को भी राम-राम और नए साल की शुभकामनाये !

  Udan Tashtari

16 March 2010 at 18:50

गोदियाल जी की जय हो!!

  Anonymous

16 March 2010 at 19:08

पी.सी.गोदियाल जी aapko bhi नए साल की शुभकामनाये!

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

16 March 2010 at 19:32

happy new year to all of you......

  M VERMA

16 March 2010 at 19:55

पपीते का फूल

  M VERMA

16 March 2010 at 19:55

गोदियाल जी को बधाई

  M VERMA

16 March 2010 at 19:57

@ समीर जी
सादर
हमने महकी है दमकती हुई
इनकी खुशबू...
फूल को फूल ही रहने दो,
कोई नाम न दो...

हम तो आशिक है हरामखोरी के
सोया हूँ अभी कोई काम न दो ---

  महेन्द्र मिश्र

16 March 2010 at 20:19

नव संवत्सर की बहुत बहुत शुभकामनाये ...

  चंदन कुमार झा

16 March 2010 at 22:09

यह तो कटहल का फूल है 100% ।

  anjana

16 March 2010 at 23:33

गोदियाल जी बधाई हो। 100 प्रतिशत पपीते के ही फूल है ।

  पं.डी.के.शर्मा"वत्स"

17 March 2010 at 01:18

इट इज पपीता स फ्लोवर..:-)

  संजय बेंगाणी

17 March 2010 at 17:25

गोभी का फूल है. :)

Followers