वैशाखनंदन सम्मान प्रतियोगिता मे भाग लेने का कल अंतिम दिन है!

माननिय ब्लागर मित्रों,


आप सभी का अपार स्नेह और सहयोग इस प्रतियोगिता को मिला है. कल 30 अप्रेल 2010 शुक्रवार इस प्रतियोगिता में प्रविष्ठियां भेजने का अंतिम दिन है. इसके बाद प्रविष्ठियां स्वीकार नही की जायेंगी.

जिन प्रतिभागियों ने इस प्रतियोगिता में अपनी रचनाएं भेजी हैं वो कृपया एक बार जांच लें कि उनको हमारे यहां से रचना प्राप्ति का संदेश मिल गया है या नही? अगर ऐसा नही हुआ है तो अविलंब खबर करें. बहुत बारीकी से जांचने के बाद भी, हो सकता है हमसे त्रुटी होगई हो तो उसे दुरुस्त किया जा सके.

आभार सहित

वैशाखनंदन सम्मान प्रतियोगिता कमेटी



6 comments:

  M VERMA

29 April 2010 at 18:43

मैनें कुल 5 प्रविष्टियाँ भेजी है. एक प्रकाशित है अर्थात अभी 4 पेंडिंग हैं
हैं कि नहीं

  Sonal Rastogi

29 April 2010 at 20:39

ताऊ जी
दो रचनाये भेजी थी ,एक प्रकाशित पर दूसरी की कोई खबर नहीं मिली

  विनोद कुमार पांडेय

29 April 2010 at 22:51

मै भी अब तक पाँच रचनाएँ भेज चुका हूँ..अभी एक प्रकाशित हुई और स्वीकृति मेल भी केवल एक ही की मिल पाई है..

  डॉ० कुमारेन्द्र सिंह सेंगर

30 April 2010 at 00:37

ताऊ अपुन की भी दो बाकी हैं क्या! अभी कल भी अपुन एक और भेजेगा..........तब हो जायेंगीं तीन....
कुल मिला कर तीन की रिपोर्ट आपको देनी है............अरे हम नहीं देंगे.....हम तो रचनाएँ दे चुके....रिपोर्ट तो आपको देनी है हमें...
हम इंतज़ार करेंगे...

जय हिन्द, जय बुन्देलखण्ड

  seema gupta

30 April 2010 at 08:56

सभी प्रतियोगियों को हार्दिक शुभकामनाये....

regards

  अविनाश वाचस्पति

30 April 2010 at 11:44

लो कर लो जी बात

यहां तो सिर्फ पांच मिनिट में

बाकी चार भी भिजवा देंगे

कोई डाक में थोड़े ही
अटकी रह जाएगी।
अभी नए प्रतियोगी भी

इसमें जरूर आएं

अपनी रचनाएं भिजवाएं

दो दिन तो बहुत होते हैं

क्‍या पता उनमें से ही

सभी विजेता चयन हो जाएं।

Followers